सर्दियों में बढ़ गया है यूरिक एसिड का स्तर? इन 3 ड्रिंक्स के सेवन से मिल सकती है राहत

खानपान के कारण बॉडी में यूरिक एसिड का स्तर प्रभावित होता है। ऐसे में यूरिक एसिड के मरीजों को अपने खानपान के प्रति अधिक सावधानी बरतनी चाहिए।

Health News, Uric Acid, High Uric Acid
यूरिक एसिड बढ़ने से जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्याएं होती हैं

यूरिक एसिड एक तरह का केमिकल है, जो प्यूरीन नामक प्रोटीन के टूटने से बनता है। बॉडी में यूरिक एसिड की अधिकता होने के कारण जोड़ों में दर्द, सूजन और लालिमा समेत कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं। यूरिक एसिड के मरीजों को गाउट और आर्थराइटिस की बीमारी होने का खतरा भी बढ़ जाता है। वैसे तो अधिकतर यूरिक एसिड किडनी द्वारा फिल्टर होने के बाद शरीर से फ्लश आउट हो जाता है लेकिन जब बॉडी में इसकी मात्रा बढ़ जाती है तो यह क्रिस्टल्स के रूप में टूटकर हड्डियों के बीच इक्ट्ठा होने लगता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ लिमरिक स्कूल ऑफ मेडिसिन में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, यूरिक एसिड का उच्च स्तर किसी व्यक्ति के जीवनकाल को औसतन 9।5 और 117 वर्ष तक कम हो सकती है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो खानपान के कारण बॉडी में यूरिक एसिड का स्तर प्रभावित होता है। ऐसे में यूरिक एसिड के मरीजों को अपने खानपान के प्रति अधिक सावधानी बरतने की सलाह दी जाती है।

यूरिक एसिड के स्तर को काबू में रखती हैं ये ड्रिंक्स:

पुदीना ड्रिंक: इस ड्रिंक को बनाने के लिए पुदीने की 8 से 10 पत्तियों को पानी से अच्छी-तरह पानी से धो लें। अब इन पत्तियों को एक गिलास पानी में डालकर मिक्सी में पीस लें। अब इस मिश्रण को करीब 10 मिनट तक धीमी आंच पर उबालें। जब यह हल्का ठंडा हो जाए तो खाली पेट ही इसका सेवन करें। नियमित तौर पर पुदीने से बनी इस ड्रिंक का सेवन करने से यूरिक एसिड का स्तर काबू में रहता है।

अजवायन का काढ़ा: इसके लिए एक चम्मच अजवायन को एक गिलास पानी में 5 से 6 घंटे के लिए भिगोकर रख दें। फिर इस पानी को धीमी आंच पर 15 मिनट तक उबालें। बाद में इस पानी को छानकर गुनगुना ही इसका सेवन करें। अजवायन के काढे़ का सेवन करने से सूजन की समस्या से राहत मिल सकती है।

करी पत्ता: इस ड्रिंक को बनाने के लिए करी पत्ते की 10-12 पत्तियों को पानी से धो लें। अब इसे एक गिलास पानी में डालकर मिक्सी में अच्छी-तरह से पीस लें। फिर इसे छानकर खाली पेट ही इस ड्रिंक का सेवन करें। करी पत्ता ना केवल बॉडी में यूरिक एसिड के स्तर को काबू रखने में मदद करता है बल्कि साथ ही यह पाचन संबंधी समस्याओं को भी दूर रखता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
लौकी खाइए, स्वस्थ रहिएprofit of bottle gourd, health news, green vegitable
अपडेट