ताज़ा खबर
 

शरीर में बढ़ गया है यूरिक एसिड लेवल तो खाली पेट खाएं ये चीज़ें, कंट्रोल करने में मिलेगी मदद

Uric Acid Remedy, Foods, Diet: सुबह बगैर कुछ खाए-पीये अलसी के बीज चबाने से भी हाइपरयूरेसीमिया का खतरा कम होता है

Uric Acid, uric acid patients, uric acid remedy, uric acid home remedy,शरीर में एसिड का स्तर बढ़ जाता है, जिसकी वजह से मरीज को दर्द, सूजन और जलन जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ता है

Uric Acid Home Remedies: मानव शरीर कोशिकाओं और तंतुओं यानी सेल्स और टिश्यूज़ से बनते हैं। शारीरिक प्रणाली को चुस्त-दुरुस्त रखने में ये सेल्स और टिश्यूज सहायक भूमिका निभाती हैं। इनके फंक्शन से ही शरीर के प्रमुख अंग जैसे कि फेफड़े, दिल, आंखें, किडनी और दिमाग ठीक ढंग से अपना कार्य कर पाते हैं। बता दें कि किडनी शरीर से सभी अपशिष्ट वस्तुओं को बाहर निकालने का काम करती है। लोग जो भोजन करते हैं, उसके माध्यम से भी कई बार बॉडी में टॉक्सिक पदार्थ चले जाते हैं। किडनी इन्हें पेशाब के मार्ग से बाहर निकालती हैं।

खाने के जरिये प्यूरीन भी कई बार बॉडी में चला जाता है, इससे शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है। आमतौर पर यूरिक एसिड की रीडिंग 3.5 से 7.2 मिलीग्राम प्रति डेसीलीटर होती है। ब्लड में जब इस एसिड का लेवल इससे ज्यादा हो जाता है तो लोगों को कई स्वास्थ्य समस्याओं से पीड़ित होना पड़ता है। यूरिक एसिड बढ़ने पर लोगों में मोटापा बढ़ सकता है, लोग किडनी रोग की चपेट में आ सकते हैं। डायबिटीज, ब्लड प्रेशर और थायरॉयड जैसी बीमारियों का खतरा भी यूरिक एसिड के मरीजों में बढ़ जाता है। ऐसे में लोगों को अपने खानपान का विशेष ध्यान रखना पड़ता है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक सुबह खाली पेट कुछ खास फूड्स के सेवन से लोगों के शरीर में इस एसिड के बढ़ने का खतरा कम हो जाता है। आइए जानते हैं –

सेब का सिरका: खाली पेट सेब का सिरका पीने से हाई यूरिक एसिड को कम करने में मदद मिलती है। इससे मोटापा भी कम होता है यूरिक एसिड के स्तर को काबू करने के लिए जरूरी है। आप 1 गिलास पानी में 3 चम्मच सिरका मिलाएं और इसे हर दिन 2-3 बार जरूर पीयें।

अलसी के बीज: सुबह बगैर कुछ खाए-पीये अलसी के बीज चबाने से भी हाइपरयूरेसीमिया का खतरा कम होता है। कई पोषक तत्वों से भरपूर फ्लैक्स सीड्स खाने से संपूर्ण स्वास्थ्य बेहतर रहता है। आप इसे चबाकर अथवा इसकी स्मूदी बनाकर ले सकते हैं। डॉक्टर्स भी मानते हैं कि रोजाना इसके सेवन से यूरिक एसिड की मात्रा में कमी आती है।

गाजर का जूस: गाजर में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और विटामिन-ए प्रचुर मात्रा में मौजूद होते हैं। ये यूरिक एसिड के स्तर को कंट्रोल करने में सक्षम हैं। इसके सेवन से शरीर में फ्री रेडिकल्स को काबू करना भी आसान होता है। साथ ही, जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करने के लिए भी गाजर का सेवन फायदेमंद होता है। इसे बनाने के लिए गाजर को मिक्सर में डाल दें। अब इसमें पानी, नींबू का जूस, हिमालयी नमक और पुदीने की पत्तियां डालकर जूस तैयार कर लें।

Next Stories
1 Magnesium की कमी से बढ़ जाता है डायबिटीज टाइप 2 का खतरा, इन फूड्स से दूर करें इसकी कमी
2 Heart Attack और दिल की परेशानियों से दूर रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये फूड्स
3 फैटी लिवर की परेशानी दूर करने में कमाल माने जाते हैं ये ड्रिंक्स, जानें स्वास्थ्य लाभ
ये पढ़ा क्या?
X