ताज़ा खबर
 

ब्लड में हाई यूरिक एसिड जिंदगी को 11 साल तक कर सकता है कम, बचाव के लिए इन फूड्स से करें परहेज

Tips for Uric Acid Patients: यूरिक एसिड के मरीजों के लिए प्रोटीन खासकर प्यूरीन नामक प्रोटीन खतरनाक साबित हो सकती है

uric acid, high uric acid, uric acid foods, uric acid foods to avoidहाई यूरिक एसिड के मरीजों को हाथ-पैर में सूजन व जोड़ों में असहनीय दर्द होता है

Uric Acid Home Remedies: आज के समय में लोगों के शरीर में यूरिक एसिड का बढ़ता स्तर एक आम परेशानी बनकर उभरी है। शरीर में यूरिक एसिड का उच्च स्तर कई तरह की बीमारियां पैदा करता है, जैसे अर्थराइटिस, हृदय रोग, शुगर या किडनी रोग। यूरिक एसिड के स्तर का पता ब्लड टेस्ट के जरिए आसानी से लगाया जा सकता है।

यूरिक एसिड हमारे शरीर में मौजूद प्यूरीन नाम के प्रोटीन के ब्रेकडाउन से बनता है। आमतौर यह एसिड खून के जरिए किडनी तक पहुंचता है और यूरिन के मार्ग से बाहर निकल जाता है। लेकिन जब शरीर में इस एसिड की मात्रा ज्यादा हो जाती है तो किडनी सुचारू रूप से टॉक्सिक पदार्थों को फिल्टर करने में सक्षम नहीं रह जाती। वहीं, हाल में हुए एक अध्ययन के मुताबिक अगर किसी व्यक्ति के खून में यूरिक एसिड का स्तर अधिक बढ़ जाता है तो उससे उसका जीवनकाल भी कम हो जाता है। आइए जानते हैं विस्तार से –

क्या कहता है शोध: यूरोपि
यन जर्नल ऑफ इंटर्नल मेडिसिन में छपे अध्ययन के अनुसार हाई यूरिक एसिड के गंभीर मरीजों की आयु लगभग 11 साल तक कम हो सकती है। इसके अलावा, इससे मरीजों में कई अन्य खतरनाक बीमारियों जैसे कि हृदय रोग, स्ट्रोक और डायबिटीज का खतरा भी बढ़ता है।

क्या निकला निष्कर्ष: अध्ययनकर्ताओं के मुताबिक पुरुषों व महिलाओं के शरीर को बढ़ते यूरिक एसिड का स्तर अलग-अलग तरीके से प्रभावित करता है। उनके मुताबिक मरीजों के शरीर में अगर यूरिक एसिड थोड़ा बढ़ा हुआ हो तो उससे पुरुषों की उम्र साढ़े 9 साल तक कम हो सकती है। जबकि हाई यूरिक एसिड होने पर 11.7 साल कम हो सकते हैं। वहीं, महिलाओं में यूरिक एसिड बढ़ने से लगभग 6 साल तक आयु कम हो सकती है।

इन खाद्य पदार्थों से बनाएं दूरी: यूरिक एसिड के मरीजों के लिए प्रोटीन खासकर प्यूरीन नामक प्रोटीन खतरनाक साबित हो सकती है। ऐसे में फुल फैट मिल्क, पनीर व दाल, राजमा का सेवन करने से बचना चाहिए। इसके अलावा, इन मरीजों को मीठा खाने से भी बचना चाहिए। समुद्री भोजन जैसे कि सालमन और ट्यूना जैसी मछलियों को खाने से परहेज करना चाहिए। वहीं, शराब की अधिकता से भी मरीजों के शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ब्लड शुगर कंट्रोल करने में कारगर है अंजीर, जानिये कैसे है डायबिटीज के मरीजों के लिए फायदेमंद
2 डायबिटीज से लेकर स्ट्रेस कंट्रोल करने में कारगर है खजूर, जानिये कैसे करें सेवन
3 फैटी लिवर के मरीजों के लिए नुकसानदेह है दूध, जानिये किन दूसरे खाद्य पदार्थों से करें परहेज
यह पढ़ा क्या?
X