High BP के मरीज इन 2 फलों को करें डाइट में शामिल, हार्ट प्रॉब्लम्स से रहेंगे दूर

High Blood Pressure Cure: पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, आलू और शकरकंद पोटैशियम के बेहतर स्रोत माने जाते हैं

high blood pressure, home remedies for high bp, healthy heart, high bp, diet tips for bp patients
कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे से बचने के लिए अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखना बेहद जरूरी है

High Blood Pressure Remedy: सरकारी आंकड़ों के अनुसार भारत की करीब 40 प्रतिशत शहरी आबादी हाइपरटेंशन की समस्या से ग्रस्त है। ब्लड प्रेशर की समस्या बहुत आम है, लेकिन अगर इसे गंभीरता से न लिया जाए समस्या गंभीर हो जाती है। कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे से बचने के लिए अपने ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखना बेहद जरूरी है। उच्च रक्तचाप की समस्या में ब्लड वेसल में खून का प्रेशर बढ़ जाता है। अगर आपका ब्‍लड प्रेशर लगातार 120/80 mmHg से ज्‍यादा हो जाता है, तो तुरंत डॉक्‍टर से सलाह लेनी चाहिए। समय पर इलाज नहीं होने पर इससे हार्ट अटैक, स्ट्रोक और किडनी फेलियर होने का खतरा भी रहता है। ऐसे में हाई बीपी के मरीजों को अपना खास ख्याल रखने की जरूरत होती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञ इन मरीजों को इन दो फलों को अपनी डाइट में शामिल करने की सलाह देते हैं-

केला: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मरीजों को अपनी डाइट में उन खाद्य पदार्थों को शामिल करने की सलाह देते हैं जिनमें पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। इन्हें खाने से शरीर में सोडियम की मात्रा कम होती है जिससे ब्लड वेसल्स पर पड़ने वाला तनाव कम होता है। केला में भी पोटैशियम भरपूर मात्रा में मौजूद होता है। यही कारण है कि हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए केला खाना लाभदायक हो सकता है। जब ब्लड में पोटैशियम की मात्रा पर्याप्त रहती है तो शरीर में मौजूद नसें और आर्टरीज सॉफ्ट और साफ बनी रहती हैं। इसके कारण शरीर में ब्लड फ्लो होने में किसी प्रकार की बाधा नहीं आती है।

चुकंदर: बीपी के मरीजों के लिए चुकंदर का सेवन भी फायदेमंद हो सकता है। स्वास्थ्य विसेषज्ञों के अनुसार रोजाना 1 कप चुकंदर का जूस पीने से उच्च रक्तचाप के मरीजों को ब्लड प्रेशर कंट्रोल होता है। वैज्ञानिकों के मुताबिक चुकंदर में नाइट्रेट होता है जो ब्लड वेसल्स को विस्तार देता है। इस कारण ब्लड फ्लो में मदद मिलती है। इसके अलावा, एंटी-ऑक्सीडेंट, कैल्शियम, मिनरल, मैग्नीशियम का भी बेहतर स्रोत होता है। बता दें कि ब्लड वेसल्स को रिलैक्स करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले खनिजों में से एक है मैग्नीशियम। कई शोधों से ये पता चलता है कि शरीर में कम मैग्नीशियम होने पर हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ता है।

इन घरेलू आहारों का भी कर सकते हैं इस्तेमाल: पत्तेदार सब्जियां, टमाटर, आलू और शकरकंद पोटैशियम के बेहतर स्रोत माने जाते हैं। इसके अलावा खरबूजा, संतरा, एवकाडो, एप्रीकॉट्स, दूध, दही में भी पोटैशियम पाया जाता है। ऐसे में बीपी के मरीज इनका सेवन भी कर सकते हैं। वहीं, लहसुन को ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने का एक अच्छा स्रोत माना गया है। इसके अलावा, काली मिर्च भी ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में अहम भूमिका निभाती है। जब भी कभी बीपी की दिक्कत हो तो आधे गिलास में काली मिर्च का पाउडर घोल कर पीएं, साथ ही खाने में भी इसकी मात्रा को बढ़ा दें।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट