ताज़ा खबर
 

घाव से लेकर सूजन तक, पैरों में दिखें ये 4 बदलाव तो तुरंत चेक कराएं शुगर लेवल

High Blood Sugar ke lakshan: ब्लड शुगर के अनियमित होने पर तलवे या फिर पंजों के आसपास जलन हो सकती है

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जब शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा अधिक होने लगती है तो इससे नसें डैमेज हो सकती हैं

Diabetes Symptoms: ब्लड शुगर बढ़ना लोगों के लिए कई रूप कष्टदायी हो सकता है, इससे लोगों में डायबिटीज का खतरा तो बढ़ता ही है साथ ही कई अन्य शारीरिक परेशानियां भी मरीजों को अपनी चपेट में ले लेते हैं। एक सर्वे के अनुसार देश में डायबिटीज के 75 फीसदी से अधिक मरीजों में शुगर का स्तर अनियंत्रित रहता है। अनियंत्रित डायबिटीज के वजह से मरीजों को हृदयरोग, रक्तचाप, स्ट्रोक जैसी गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ता है। इस बीमारी में खुद का सही से ख्याल नहीं रखने पर व्यक्ति की हालात इतनी बिगड़ सकती है कि उसकी जान भी जा सकती है।

इस बीमारी को साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि जब तक लोग डायबिटीज से जुड़े लक्षणों को समझ पाते हैं, तब तक ये शरीर पर धावा बोल चुका होता है। हालांकि, शरीर में होने वाले कुछ बदलावों पर अगर ध्यान दिया जाए तो इसकी पहचान शुरुआती समय में हो सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार डायबिटीज या उच्च रक्त शर्करा का स्तर लोगों के पैर को भी प्रभावित करता है। आइए जानते हैं कैसे –

पैरों में सूजन: आमतौर पर देखा जाता है कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में पैरों में सूजन की समस्या होती है। इसके अलावा, लंबे समय तक एक ही मुद्रा में खड़े या बैठे रहने से भी पैरों में सूजन आ जाती है। लेकिन अगर लगातार आपको ऐसी समस्या हो रही है तो अपने ब्लड शुगर स्तर की जांच कराएं। ये डायबिटीज का एक लक्षण हो सकता है। माना जाता है कि जब ब्लड शुगर अधिक हो जाता है तो शरीर के अलग-अलग हिस्सों में ब्लड सप्लाई होने में भी बाधा उत्पन्न होती है। इसके कारण लोगों को पैरों में सूजन की समस्या भी हो सकती है।

घाव: जिन लोगों के पैर में ज्यादा घाव निकल रहे हैं उन्हें सतर्क हो जाना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जब खून में ग्लूकोज ज्यादा होने लगता है तो बैक्टीरिया पनपने का खतरा रहता है। साथ ही, डायबिटीज के मरीजों के पैरों में खून का संचार सुचारू तरीके से नहीं हो पाता है। इस कारण उन्हें इंफेक्शन हो सकता है।

पैरों का सुन्न हो जाना: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार जब शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा अधिक होने लगती है तो इससे नसें डैमेज हो सकती हैं। नसें अगर क्षतिग्रस्त हो जाएं तो इससे उनमें संवेदनाएं कम हो जाती हैं। यही वजह है कि डायबिटीज रोगियों को पैरों के सुन्न होने की शिकायत होती है। इतना ही नहीं, इसके कारण मरीजों को किसी भी प्रकार के दर्द या चुभन का अहसास नहीं होता है।

पैरों में जलन: तलवे या फिर पंजों के आसपास होने वाले जलन भी मधुमेह रोग का एक लक्षण हो सकता है। बता दें कि ये परेशानी ब्लड शुगर के अनियमित होने के कारण हो सकती है।

Next Stories
1 क्या है ‘प्रोन पोजिशन’ जिसे ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने में माना जा रहा है मददगार, जानिये
2 घर पर रख रहे हैं कोरोना मरीज का ख्याल तो एक्सपर्ट्स से जानें क्या करें और क्या नहीं
3 दांतों में लग गया है कीड़ा तो ये घरेलू उपाय दिला सकते हैं छुटकारा, जानिये
यह पढ़ा क्या?
X