Blood Sugar के मरीजों को रोज़ाना करनी चाहिए ये 5 एक्सरसाइज़, अनदेखी करना पड़ सकता है भारी

ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए आपको रोज़ाना कम से कम 10 मिनट तक साइकलिंग करनी चाहिए। इससे आपका लोअर बॉडी पार्टी लगातार काम करता है, जिससे इंसुलिन प्रोड्यूस होता है।

Lifestyle, Lifestyle, Skin Care
ज्यादा वर्कआउट करने से बढ़ता है यूरिक एसिड (फोटो क्रेडिट- Thinkstock Images)

High Blood Sugar: खराब जीवनशैली और डाइट के कारण बुजुर्गों के अलावा युवाओं में भी डायबिटीज का खतरा बढ़ता जा रहा है। एक बार डायबिटीज होने के बाद इसका कोई पक्का इलाज नहीं होता है, लेकिन अपने लाइफस्टाइल में कुछ चीजों को शामिल करके शुगर कंट्रोल की जा सकती है। आज हम आपको ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मददगार कुछ एक्सरसाइज के बारे में बताएंगे।

डॉक्टर ऋषभ शर्मा अपने वीडियो में बताते हैं, ‘डायबिटीज के मरीजों के लिए एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि रोज़ाना एक्सरसाइज करने से शरीर में इंसुलिन प्रोड्यूस होता है और ब्लड शुगर का स्तर कंट्रोल रहता है। रोज़ाना एक्सरसाइज करने से बॉडी में ब्लड फ्लो भी बना रहता है। इसलिए सबसे अच्छी एक्सरसाइज वॉक मानी जाती है। क्योंकि इससे शरीर के हर हिस्से में ब्लड पहुंच जाता है। साथ ही इसका सबसे बड़ा फायदा है कि ये पूरी तरह फ्री होती है।’

गार्डनिंग: गार्डनिंग एक ऐसी एक्सरसाइज है जो आपके शरीर को बहुत फायदा देती है। क्योंकि इसमें आपके जोड़ों का बहुत काम होता है। आप बार-बार बैठते हैं या गड्ढा खोदते हैं। ये सभी एक्टिविटीज एरोबिक्स टाइप की एक्टिविटीज हैं जिससे आपकी स्ट्रेंथ बनी रहती है। इसका सबसे ज्यादा फायदा है कि पेड़ों के साथ रहने से आपका स्ट्रेस लेवल कम होता है।

योगा और प्राणायम: ये दोनों करने से आपका मोटापा, ब्लड शुगर लेवल काफी हद तक नियंत्रित हो जाता है। इससे आपके शरीर की इम्युनिटी मजबूत होती है। आपको ध्यान रखने वाली बात है कि हमेशा किसी क्वालिफाइड योगा टीचर से सीखकर ही करना चाहिए। क्योंकि गलत योगा करने से कोई फायदा नहीं होता है।

सीढ़ियां चढ़ना और उतना: घर या ऑफिस की सीढ़ियां चढ़ने से भी ब्लड फ्लो बढ़ता है। इससे शरीर में इंसुलिन ज्यादा बनता है। जिससे आपके ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित किया जाता है। लेकिन जिन मरीजों के जोड़ों में दर्द होता है या कोई परेशानी है तो उन्हें इस एक्सरसाइड को बिल्कुल नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे आपके जोड़ों पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है और कई बार ऐसा करने से परेशानी ज्यादा बढ़ सकती है।

साइकलिंग: इससे आपका लोअर बॉडी पार्टी लगातार काम करता है तो आपके शरीर में ब्लड प्रेशर का लेवल नियंत्रित रहता है। यही वजह है कि शरीर के लिए इंसुलिन प्रोड्यूस करना भी काफी आसान हो जाता है। कोशिश करें कि रोज़ाना कम से कम 10 मिनट साइकलिंग करें।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
नवरात्र में कैसे करे रंगों का चुनाव?
अपडेट