ताज़ा खबर
 

आंखों से लेकर किडनी तक के लिए खतरनाक है बीपी का High होना, जानें कारण, लक्षण व बचाव के उपाय

Hypertension Symptoms: धुंधलापन, घबराहट, बेचैनी और सिर दर्द जैसी शिकायतें भी हाइपरटेंशन के मरीजों को हो सकती है

high blood pressure, high bp patients lifestyle, high bp foods, high blood pressure symptomsउच्च रक्तचाप के लिए दवाइयों के सेवन के साथ अपनी जीवन शैली में बदलाव लाना भी जरूरी है

Tips for High Blood Pressure Patients: हाइपरटेंशन यानी हाई बीपी की समस्या आज के समय में एक सामान्य स्वास्थ्य स्थिति हो गई है। अनहेल्दी जीवन शैली और गलत खानपान के कारण युवा भी इस परेशानी के शिकार हो रहे हैं। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के जर्नल में छपे एक शोध के मुताबिक़, जो लोग अपने 30 की उम्र से ही स्वस्थ लाइफस्टाइल अपनाते हैं, उन्हें 40 की उम्र में हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बेहद कम हो जाता है। उच्च रक्तचाप की समस्या को साइलेंट किलर कहा जाता है क्योंकि इसके लक्षणों को पहचानना आसान नहीं होता है। ऐसे में आइए जानते हैं इस बीमारी के लक्षणों के बारे में और किन खतरों को बढ़ाती है हाई बीपी की समस्या –

जानिये उच्च रक्तचाप के लक्षण: हाई ब्लड प्रेशर में व्यक्ति का रक्तचाप सामान्य से ज्यादा हो जाता है और उसे सांस लेने में तकलीफ़, नकसीर होना, चक्कर आना, छाती में दर्द, पेशाब में खून आना जैसे दिक्कतें होने लगती है। धुंधलापन, घबराहट, बेचैनी और सिर दर्द जैसी शिकायतें भी हाइपरटेंशन के मरीजों को हो सकती है।

ये हैं हाइपरटेंशन के कारण: आमतौर पर बढ़ती उम्र, अस्वस्थ खानपान के कारण हाई बीपी की समस्या होती है। इसके अलावा, मानसिक स्ट्रेस, मोटापा, अत्यधिक शराब या सिगरेट पीने से भी हाइपरटेंशन की परेशानी हो सकती है। वहीं, जो लोग ज्यादा नमक खाते हैं अथवा जिनकी डाइट में पोटैशियम के स्रोतों की कमी होती है उन्हें भी ये परेशानी हो सकती है।

इन बीमारियों का बढ़ता है खतरा: हाई बीपी को हल्के में लेने की भूल नहीं करनी चाहिए। बता दें कि सामान्य व्यक्ति की तुलना में हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को दिल का दौरा पड़ने की संभावना अधिक होती है। वहीं, दिल संबंधी दूसरे रोग, किडनी रोग, स्ट्रोक और मस्तिष्क से जुड़े रोग का खतरा भी बढ़ जाता है। इसके अलावा, हाई बीपी के कारण रेटिना के ब्लड वेसेल्स डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है जिससे आंखों की रोशनी प्रभावित होती है। इस वजह से आंखों में  धुंधलापन, सूजन व गंभीर स्थिति में अंधापन भी हो सकता है।

ऐसे करें बचाव: उच्च रक्तचाप से पीड़ित मरीजों के लिए दवाइयों का सेवन तो जरूरी है ही, साथ ही अपनी जीवन शैली में बदलाव लाना भी बेहद आवश्यक है। फिजिकल एक्सरसाइज, योग, शराब व धूम्रपान से परहेज के साथ ही रोगियों को सीमित मात्रा में नमक का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा, स्पाइसी व प्रोसेस्ड फूड से दूरी बना लें। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार हाई बीपी के मरीजों को डाइट में केला, पालक, साबुत अनाज को शामिल करना चाहिए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी है नारियल पानी, इन ड्रिंक्स से भी होगा फायदा
2 हाई ब्लड प्रेशर से निजात पाने के लिए ये घरेलू उपाय माने जाते हैं कारगर, जानें
3 ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए किचन के ये मसाले माने जाते हैं रामबाण, जानिए इस्तेमाल का तरीका
यह पढ़ा क्या?
X