ताज़ा खबर
 

तेज़ सिरदर्द , सांस लेने में तकलीफ़ हो सकते हैं हाई बीपी के लक्षण; इन घरेलू उपायों से करें कंट्रोल

हाई ब्लड प्रेशर में शुरुआती लक्षण नजर नहीं आते और व्यक्ति को पता नहीं चल पाता कि वो हाई बीपी का शिकार है। बढ़े हुए बीपी को कम करने के लिए कुछ फूड्स बेहद असरदार होते हैं।

high blood pressure, silent killer, high blood pressure treatmentहाई ब्लड प्रेशर को साइलेंट किलर भी कहा जाता है क्योंकि इसके शुरुआती लक्षण नहीं दिखते

ब्लड प्रेशर वो फोर्स होता है जिससे रक्त हमारे हृदय से होकर धमनियों तक पहुंचता है। एक सामान्य मनुष्य का रक्त चाप 120/80 होता है। हाई ब्लड प्रेशर जिसे डॉक्टरी भाषा में हाइपरटेंशन कहा जाता है, तब होता है जब रक्त हमारे धमनियों में अधिक फोर्स के साथ जाने लगता है। इससे हमारे धमनी की टिश्यूज़ पर अधिक दबाव पड़ता है और रक्त वाहिकाएं नष्ट होने लगती हैं। सामान्यतः उच्च रक्तचाप का शुरुआती लक्षण आसानी से पकड़ में नहीं आता जिससे व्यक्ति को बहुत समय तक पता ही नहीं चल पाता कि वो हाई बीपी से ग्रस्त है। इसलिए इसे साइलेंट किलर भी कहा जाता है।

जब ब्लड प्रेशर अधिक बढ़ जाता है तब शरीर में ये लक्षण दिखाई देते हैं – तेज़ सिरदर्द, नाक से खून निकलना, चक्कर आना, शिथिलता, नींद न आना, जरा सी मेहनत करने पर सांस फूलना, सांस लेने में परेशानी, नज़र धुंधला होना, सीने में दर्द होना, अचानक हार्टबीट का बढ़ना- घटना आदि। हाई ब्लड प्रेशर को कुछ घरेलू उपायों द्वारा सही स्तर पर लाया जा सकता है। इसके लिए खाने- पीने की चीजों के साथ दिनचर्या में बदलाव भी बेहद जरूरी है।

कैल्शियम युक्त भोजन का करें सेवन – कैल्शियम हमारे रक्त धमनियों को संकुचन और आराम पहुंचाने का काम करता है जिससे हमारा ब्लड प्रेशर कम हो जाता है। सूखे सोयाबीन से बने हुए टोफू खाना सबसे ज़्यादा फायदेमंद होता है। इसके अलावा चीज़, बादाम, दूध, दही, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि खाना भी हाई बीपी से ग्रसित लोगों को लाभ पहुंचाता है।

मैग्नीशियम को अपने भोजन में करें शामिल – मैग्नीशियम हमारे रक्त वाहिकाओं को आराम पहुंचाने का काम करता है जिससे हाई ब्लड प्रेशर में इनपर दबाव कम पड़ता है। कई अध्ययनों में यह देखा गया है कि कम मैग्नीशियम लेने से भी इंसान हाई बीपी का शिकार हो जाता है। मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के लिए हमें अपने भोजन में सब्जियां, डेयरी उत्पाद, दाल, चिकन, मीट और सबूत अनाज को शामिल करना चाहिए।

 

निकोटिन से बनाएं दूरी – सिगरेट में निकोटिन नामक पदार्थ होता है। हेल्थ वेबसाइट हेल्थलाइन के मुताबिक, हम जब भी सिगरेट पीते हैं, हमारा ब्लड प्रेशर सिगरेट के ख़त्म होने तक कई बार बढ़ता है। और अगर कोई इंसान अधिक सिगरेट पीता है तो उसका ब्लड प्रेशर बहुत दिनों तक बढ़ा हुआ रह सकता है। अधिक सिगरेट पीने वालों को हाई बीपी, हर्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए अगर आप हाई बीपी से ग्रस्त हैं तो सिगरेट तुरंत छोड़ दें। स्वस्थ इंसान को भी सिगरेट और निकोटिन युक्त चीजों से दूरी रखनी चाहिए।

इन सभी उपायों के अलावा आप संतुलित आहार लें, हर रोज़ थोड़ा व्यायाम करें, स्ट्रेस से दूर रहें और योग को अपने जीवन में शामिल करें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 खट्टे फलों से लेकर पत्तेदार सब्जियों तक; थायरॉयड में इन फूड्स से बनाएं दूरी
2 लहसुन से लेकर ग्रीन टी तक; इन घरेलू उपायों से करें बदलते मौसम में अपनी इम्युनिटी बूस्ट
3 वजन बढ़ने से भी बढ़ जाती है स्तन कैंसर की संभावना, जानें- इसके कारण और बचाव के तरीके
यह पढ़ा क्या?
X