ताज़ा खबर
 

हाई बीपी में दही का सेवन हो सकता है कारगर, जानिये कैसे पहुंचाता है दिल को फायदा

Tips for High BP Patients: रक्तचाप के मरीजों को नियमित रूप से कम से कम एक कटोरी दही खाने की सलाह दी जाती है

High Blood Pressure, High Blood Pressure Diet, foods for high blood pressure, high bp, high bp causesदही में नैचुरल कैल्शियम पाए जाते हैं जो नसों को सॉफ्ट करने में मददगार होते हैं

Tips for High BP Patients: सिरदर्द, चक्कर आना, सांस में परेशानी, नींद न आना, सांस फूलना, नाक से खून निकलना आदि जैसी परेशानियां आज के समय में आम हो गई हैं। हालांकि, कई बार ये किसी गंभीर स्वास्थ्य  समस्याओं की ओर भी संकेत करती है। अनियमित ब्लड प्रेशर भी इन्हीं समस्याओं में से एक है। हाई ब्लड प्रेशर खराब लाइफस्टाइल की वजह से होने वाली एक बीमारी है जिसके मरीजों की संख्या दुनिया भर में बहुत तेजी से बढ़ रही है। बता दें कि जब ब्लड वेसल्स में जब रक्त का दबाव बढ़ जाता है तो उच्च रक्तचाप यानी कि हाई ब्लडप्रेशर की समस्या हो जाती है। ऐसे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार दही खाना बीपी के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है –

क्या हैं दही खाने के फायदे: दही में मौजूद पोषक तत्व शरीर के लिए बेहद जरूरी होते हैं। स्वस्थ रहने के लिए हर व्यक्ति को बैलेंस्ड डाइट के सेवन की सलाह दी जाती है। ऐसे में दही खाने से लोगों को जरूर फायदा होगा। इसमें मौजूद प्रोबायोटिक्स खाने को पचाने में भी मददगार साबित होते हैं।

बीपी के मरीजों के लिए दही: दही में नैचुरल कैल्शियम पाए जाते हैं जो नसों को सॉफ्ट करने में मददगार होते हैं। नसें जब नरम हो जाती हैं तो ये एक्सपैंड करती हैं जिससे ब्लड फ्लो बेहतर तरीके से होता है। साथ ही, इससे उच्च रक्तचाप काबू में रहता है। इसके अलावा, दही में पोटैशियम भी प्रचुर मात्रा में मौजूद होता है। बता दें कि पोटैशियम हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में बेहद कारगर माना जाता है।

कैसे करें सेवन: रक्तचाप के मरीजों को नियमित रूप से कम से कम एक कटोरी दही खाने की सलाह दी जाती है। हालांकि, इन मरीजों को लो फैट या फिर फैट फ्री प्लेन दही का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा, ग्रीक यॉगर्ट या फिर हंग कर्ड खाने से भी बीपी के मरीजों को लाभ मिल सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार 200 ग्राम नॉन फैट ग्रीक यॉगर्ट में करीब 282 मिली ग्राम पोटैसियम पाया जाता है। यह एक वेसोडिलेटर के रूप में कार्य करता है जिससे शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा सोडियम यूरिन के मार्ग से बाहर निकल जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 डायबिटीज के मरीज डाइट में शामिल करें फाइबरयुक्त ये फूड आइटम, ब्लड शुगर कंट्रोल करने में मिलेगी मदद
2 Uric Acid के मरीज अपनी डाइट में शामिल करें आंवला, जानिये और किन उपायों में मिलेगी राहत
3 सर्दी-जुकाम और गले के खराश से काली मिर्च और दालचीनी का काढ़ा दिलाएगा राहत, जानिये कब करें डाइट में शामिल
राशिफल
X