ताज़ा खबर
 

दिमाग पर भी बुरा असर डालता है हाई बीपी, कंट्रोल करने में मददगार हैं ये फूड्स

ब्लड प्रेशर का बढ़ जाना यानी हाइपरटेंशन की भी तमाम वजहों में से एक है अनियमित जीवनशैली। इसमें हमारा ब्लड प्रेशर सामान्य से कहीं ज्यादा हो जाता है।

High Blood Pressure Diet, high blood pressure diet menu, high blood pressure diet in hindiहरी पत्तेदार सब्जियों में पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में होता है।

High Blood Pressure Diet : बदलते लाइफस्टाइल के कारण हमें कई तरह की बीमारियों का शिकार होना पड़ रहा है। ब्लड प्रेशर का बढ़ जाना यानी हाइपरटेंशन की भी तमाम वजहों में से एक है अनियमित जीवनशैली। इसमें हमारा ब्लड प्रेशर सामान्य से कहीं ज्यादा हो जाता है। अगर हमारा बल्ड प्रेशर 140/90 से ज्यादा हो तो यह जान लेना चाहिए कि हम हाइपरटेंशन से पीड़ित हैं।

नेचर कम्युनिकेशंस जर्नल में प्रकाशित एक हालिया शोध के मुताबिक उच्च रक्तचाप मस्तिष्क में बदलाव लाता है। इसका याद्दाश्त पर बुरा असर पड़ता है। शोध में यह भी बताया गया है कि उच्च रक्तचाप से हमारे सोचने-समझने की शक्ति भी कम होती है। हाइपरटेंशन से पीड़ित व्यक्ति को और कई खतरनाक प्रभावों का सामना करना पड़ता है। विशेषज्ञों की मानें तो अपनी डाइट और एक्सरसाइज में बदलाव कर हम उच्च रक्तचाप को सामान्य बनाए रख सकते हैं।

हरी पत्तेदार सब्जियां- हरी पत्तेदार सब्जियों में पोटैशियम पर्याप्त मात्रा में होता है। यह सोडियम से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। आप अपने खाने में पालक, शलजम का साग, पत्तागोभी और हरा प्याज आदि शामिल करें। इससे रक्तचाप को कम करने में मदद मिलेगी।

लाल चुकंदर – अध्ययनों में यह पाया गया है कि बीटरूट यानी चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट हमारे रक्तचाप को 24 घंटे के अंदर कम कर देता है। इसमें नाइट्रिक ऑक्साइड पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है जो हमारे रक्त धमनियों को खोलकर हमारे रक्तचाप को कम करता है। इसे जूस या सलाद के रूप में लिया जाना चाहिए।

बिना मलाई का दूध और दही- दूध से मलाई हटा देने पर उसमें फैट की मात्रा बहुत कम रह जाती है। साथ ही दूध कैल्शियम का एक अच्छा स्रोत होता है। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के मुताबिक वो महिलाएं जो सप्ताह में 5 या उससे ज्यादा बार दही का सेवन करती हैं उनमें उच्च रक्तचाप होने की संभावना 20 प्रतिशत तक कम हो जाती है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित व्यक्तियों को अपने खाने में दूध-दही जरूर इस्तेमाल करना चाहिए।

केला – केला पोटैशियम का अच्छा स्रोत माना जाता है। इसका सेवन करने से हाइपरटेंशन से पीड़ित व्यक्ति को लाभ मिलता है। इसे नाश्ते या स्नैक्स के रूप में लिया जा सकता है। साथ ही आपको बता दें कि इसमे कैल्शियम भी होता है जिससे बल्ड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

डार्क चॉकलेट – इसमें 60 प्रतिशत कोकोआ होता है और बाकी चॉकलेट की तुलना में डार्क चॉकलेट में कम शुगर होता है। 2015 के एक शोध के मुताबिक डार्क चॉकलेट हृदय संबंधी रोगों से हमें दूर रखने में मदद करता है। रोजाना 100 ग्राम डार्क चॉकलेट के सेवन से कार्डियोवेस्क्युलर डिजीज (CVD) होने की संभावना कम हो जाती है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रोजाना 21 मिनट एक्सरसाइज करने से काबू रहेगा ब्लड शुगर, डायबिटीज के मरीजों के लिए ये व्यायाम हैं रामबाण
2 एरोबिक एक्सरसाइज से टल सकता है फैटी लिवर का खतरा, जानिये क्या कहती है स्टडी
3 ज्यादा नमक खाने से दिल, आंखें, किडनी और लिवर होता है कमजोर, जानिये कितनी होनी चाहिए खुराक
IPL 2020 LIVE
X