ताज़ा खबर
 

ये पांच लक्षण हो सकते हैं हार्ट अटैक के संकेत, एक महीना पहले ही भांप सकते हैं खतरा

Heart Attack Symptoms Signs: हर्ट अटैक से मरने वाले अधिकतर लोगों को पहले से पता ही नहीं होता कि उन्हें दिल की बीमारी है, जबकि हर्ट अटैक से एक महीने पहले ही इसके लक्षण रोगी में दिखाई देने लगते हैं

सांकेतिक फोटो (Source: Agency)

दुनिया में हर्ट अटैक की वजह से होने वाली मौतों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। दिल तक रक्त पहुंचाने वाली धमनियों में वसा का थक्का बन जाने की वजह से दिल का दौरा पड़ता है। दरअसल जब धमनियों में वसा इकट्ठा हो जाता है तब दिल तक रक्त ठीक से नहीं पहुंच पाता। ऐसे में दिल की मांसपेशियों में ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। अगर जल्दी से दिल तक रक्त का प्रवाह दुरूस्त नहीं किया जाता है तो ऑक्सीजन की कमी के चलते दिल की मांसपेशियां काम करना बंद कर देती हैं। ऐसे में रोगी की मृत्यु हो जाती है। हर्ट अटैक से मरने वाले अधिकतर लोगों को पहले से पता ही नहीं होता कि उन्हें दिल की बीमारी है, जबकि हर्ट अटैक से एक महीने पहले ही इसके लक्षण रोगी में दिखाई देने लगते हैं। अगर इन्हें समय रहते पता लिया गया तो रोगी का जान बचाई जा सकती है। आज हम आपको उन्हीं लक्षणों के बारे में बताने वाले हैं।

थकान – अगर आप किसी भी तरह का वर्कआउट नहीं करते या फिर आपने कोई भी ऐसा काम नहीं किया जिसमें ज्यादा मेहनत लगी हो और ऐसे में भी आपको काफी थकान महसूस हो रही हो तो समझ लीजिए कि आपको हर्ट अटैक आ सकता है। ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

सांस लेने में दिक्कत – अगर आपको सांस लेने में दिक्कत आ रही हो तो यह भी हार्ट अटैक की निशानी हो सकती हो सकती है। दरअसल दिल के ठीक से काम न करने पर फेफड़ों तक उतनी मात्रा में ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता जितनी उसको जरूरत होती है। इस वजह से व्यक्ति को सांस लेने में दिक्कत आने लगती है।

बाजुओं में दर्द होना – जब दिल को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाती तो स्पाइन प्रभावित होने लगता है। इससे हार्ट, स्पाइन और बाजुओं से जुड़ी तंत्रिकाओं में कमजोरी आने लगती है। इस स्थिति में बाजुओं में दर्द रहने लगता है।

चक्कर आना – जब दिल में पर्याप्त रक्त नहीं पहुंचता तो रक्त प्रवाह कमजोर हो जाता है। ऐसे में दिमाग तक रक्त न पहुंच पाने की वजह से वहां ऑक्सीजन की कमी हो जाती है। ऐसे में चक्कर आने की शिकायत शुरू हो जाती है।

सूजन – दिल को शरीर के बाकी अंगों तक रक्त पहुंचाने के लिए अधिक मेहनत करनी पड़ती है। जिसकी वजह से अंगों में सूजन आने लगती है। इसलिए इन लक्षणों के दिखते ही डॉक्टर से परामर्श जरूर लेना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App