ताज़ा खबर
 

रात में सोने से पहले दूध के साथ खाएं गुड़, मिलेंगे ये 5 बेहतरीन फायदे

दूध के साथ गुड़ के एक छोटे से टुकड़े का सेवन आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है।

Author November 28, 2017 6:06 PM
रोजाना रात को सोने से पहले गुड़ और दूध का सेवन पाचन को बेहतर बनाता है।

रोज रात को सोने से पहले दूध पीना तो आपकी सेहत के लिए लाभकारी होता ही है लेकिन अगर आप दूध के साथ गुड़ का सेवन करना भी शुरू कर दें तो यह सोने पर सुहागा की तरह होता है। दूध के साथ गुड़ के एक छोटे से टुकड़े का सेवन आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है। गुड़ में पर्याप्त मात्रा में आयरन पाया जाता है जबकि दूध कैल्शियम का अद्भुत भंडार होता है। दोनों के पोषक तत्व मिलकर आपकी मांसपेशियों और जोड़ों को मजबूत बनाते हैं तथा इनसे संबंधित अनेक समस्याओं को पनपने से रोकते हैं। विटामिन ए, बी, डी, कैल्शियम, प्रोटीन आदि के महत्वपूर्ण स्रोत दूध के साथ अगर हर रात सुक्रोज, ग्लूकोज और मिनरल्स से भरपूर गुड़ का सेवन किया जाए तो उससे जो फायदे मिलते हैं आज हम उसी के बारे में आपको बताने वाले हैं।

1. रोजाना रात को सोने से पहले गुड़ और दूध का सेवन पाचन को बेहतर बनाता है। इसे खाने से पेट में गैस की समस्या नहीं होती। इसके लिए रोजाना रात में एक ग्लास दूध के साथ एक टुकड़ा गुड़ जरूर खाना चाहिए।

2. दूध में पाया जाने वाला कैल्शियम और विटामिन डी तथा गुड़ में मौजूद आयरन जोड़ों को मजबूत बनाता है। इससे जोड़ों के दर्द से काफी राहत मिलती है। इसके अलावा अदरक के साथ भी गुड़ खाने से काफी लाभ मिलता है।

3. गुड़ को तैयार करने में किसी भी तरह के केमिकल प्रोसेस की मदद नहीं ली जाती है इसलिए यह चीनी से ज्यादा लाभकारी होता है। रात में सोने से पहले दूध और गुड़ खाने से वजन भी कम होता है।

4. शरीर में रक्त को साफ करने में गुड़ महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। पीरियड्स में अक्सर गुड़ खाने की सलाह दी जाती है। .ह खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ाता है साथ ही साथ इसके सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है।

5. सर्दियों के मौसम में अस्थमा के मरीजों को काफी दिक्कतें होती हैं। हवा में प्रदूषण होता है और ऑक्सीजन का स्तर भी गिर जाता है। ऐसे में उन्हें सांस लेने में काफी दिक्कतें आती हैं। ऐसी अवस्था में शरीर को गर्म रखने तथा कफ बाहर निकालने के लिए अस्थमा के रोगी को दूध के साथ गुड़ खिलाना चाहिए।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App