ताज़ा खबर
 

लंबाई बढ़ाने से लेकर कैंसर के बचाव तक में लाभकारी है अश्वगंधा, जानिए और क्या-क्या हैं फायदे

हरी पत्तियों वाले अश्वगंधा के फूल पीले रंग के होते हैं जिसके बीच में छोटे आकार के फल पाए जाते हैं। इसके अनेक स्वास्थ्य संबंधी लाभ हैं।

Ashwagandha, ashwagandha powder, ashwagandha uses in hindi, ashwagandha uses and benefits, benefits of ashwagandha and shatavari, how to take ashwagandha, how to use ashwagandha powder, health benefits of ashwagandha, health news in hindi, ayurvedic health tips in hindi, ayurvedic herbs, lifestyle news in hindi, jansattasource: you Tube

अश्वगंधा बहुत ही गुणकारी आयुर्वेदिक औषधि है। प्राचीन काल से ही इसे तमाम तरह के रोगों के उपचार में इस्तेमाल किया जाता रहा है। इंडियन जिनसेंग नाम से जाना जाने वाला अश्वगंधा भारत के अलावा मिडिल ईस्ट और उत्तरी अफ्रीका में पाया जाता है। हरी पत्तियों वाले अश्वगंधा के फूल पीले रंग के होते हैं जिसके बीच में छोटे आकार के फल पाए जाते हैं। इसके अनेक स्वास्थ्य संबंधी लाभ हैं। शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए इसके प्रयोग की सलाह दी जाती है। आज हम आपको एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में अश्वगंधा के गुणों के बारे में बताने वाले हैं।

1. कद बढ़ाने में अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है। ऐसे लोग जिनका कद बढ़ना रुक गया हो या जो अपनी लंबाई बढ़ाना चाहते हैं वो एक गिलास दूध में दो चम्मच अश्वगंधा और एक चम्मच चीनी मिलाकर पिएं। लंबाई बढ़ाने का यह अचूक घरेलू नुस्खा है।

2. कैंसर जैसी घातक बीमारी से बचाव के लिए भी अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है। दरअसल शरीर में कैंसर सेल्स के अनियंत्रित होकर बढ़ने से कैंसर की समस्या होती है। अश्वगंधा शरीर में कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है।

3. अश्वगंधा का सेवन करने से पुरुषों की प्रजनन क्षमता बढ़ती है। वीर्य की मात्रा बढ़ाने के साथ-साथ यह शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में भी मदद करता है।

4. अनिद्रा से परेशान लोगों के लिए अश्वगंधा एक वरदान की तरह है। जिन लोगों को रात में ठीक से नींद नहीं आती उन लोगों को अश्वगंधा के खीर पाक का सेवन करना चाहिए। यह प्राकृतिक रूप से नींद लाने में मदद करती है।

5. स्त्रियों में ल्यूकोरिया की समस्या को दूर करने में भी अश्वगंधा काफी लाभकारी है। इसके अलावा महिलाओं में अल्पविकसित स्तनों के विकास में भी अश्वगंधा काफी लाभकारी है। इसके लिए शतावरी चूर्ण के साथ अश्वगंधा का सेवन करना चाहिए।

6. आंखों की रोशनी बढ़ाने में अश्वगंधा बेहद लाभकारी है। इसके लिए अश्वगंधा को मुलेठी और आंवला के साथ समान मात्रा में पीस लें। अब इस चूर्ण का रोजाना एक चम्मच सेवन करें। आंखों की रोशनी निश्चित रूप से बढ़ जाएगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इन घरेलू औषधियों का करेंगे सेवन तो कभी नहीं होगा कैंसर
2 जानिए, क्या है पायरिया? दांतों को कैसे पहुंचाता है नुकसान और क्या हैं बचाव के उपाय
3 आज है वर्ल्‍ड आई साइट डे, जानें तेज नजर पाने के लि‍ए आसानी से कैसे करें आंखों की हि‍फाजत