ताज़ा खबर
 

ग्रीन टी में इन 5 चीज़ों को मिलाने से बढ़ जाते हैं फायदे, हेल्दी रहने के लिए इस समय पीना होगा उचित

Health Benefits of Green Tea: सांस संबंधी परेशानियों को दूर करने, स्ट्रेस कम करने और वेट लॉस में मददगार है ग्रीन टी में अदरक मिलाकर पीना फायदेमंद होगा

इसमें एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं जो वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण का खतरा कम करते हैं

Green Tea Health Benefits: हेल्दी पेय पदार्थों में ग्रीन टी का महत्व बहुत अधिक होता है, पॉपुलर होने के साथ ही कई लोग इसका सेवन करते हैं। स्वास्थ्य फायदों के साथ वजन कम करने में भी इसका सेवन लाभकारी है। ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं। साथ ही, इसमें एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण पाए जाते हैं जो सूजन को दूर करने में कारगर माने गए हैं। ये मेटाबॉलिज्म और इम्युनिटी को बूस्ट करने में मददगार माना गया है। इसमें विटामिन-बी भी होता है जो त्वचा पर निखार लाने में सहायक है।

किन बीमारियों को दूर करने में है कारगर: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि ग्रीन टी का नियमित सेवन शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा को नियंत्रण में रखता है। ग्रीन टी पीने से गाउट जैसी बीमारी का खतरा भी कम होता है, यानि जिन्हें उठने-बैठने में तकलीफ होती है, उंगलियों में असहनीय दर्द हो और चुभन होती है उन्हें ग्रीन टी पीना चाहिए। वहीं, माना जाता है कि दिन में 2 बार ग्रीन टी पीने से गठिया का खतरा कम होता है।

ग्रीन टी एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है और इसमें उच्च मात्रा में पॉलीफेनोल्स पाए जाते हैं। ये तत्व इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने का काम करते हैं। साथ ही, इसमें एंटी माइक्रोबियल गुण होते हैं जो वायरल और बैक्टीरियल संक्रमण का खतरा कम करते हैं। डॉक्टर्स का मानना है कि जो लोग ग्रीन टी का सेवन करते हैं, उनके शरीर में लिवर की कार्य प्रणाली बेहतर हो जाती है। इसे पीने से लिवर के आसपास मौजूद फैट यानी वसा और सूजन को दूर होता है।

इन 5 चीज़ों को मिलाने से मिलेगा लाभ: 
स्टेविया के पत्ते – इसमें नैचुरल स्वीटनर पाए जाते हैं जो ग्रीन टी को भी मीठा बनाते हैं, वो भी बगैर किसी नुकसान के। आप इसके पत्तों को ग्रीन टी पीने से तुरंत पहले हटा लें। ये ब्लड शुगर, कैलोरीज इनटेक, कोलेस्ट्रॉल और वजन कम करने में मददगार है।

शहद – ग्रीन टी में शहद मिलाकर पीने से कई फायदे हो सकते हैं, ये चीनी का बेहतर विकल्प होता है जो ग्रीन टी के फ्लेवर को कम कड़वा बनाता है। संक्रमण दूर करने, स्किन को हेल्दी बनाने और इम्युनिटी मजबूत करने में ये मददगार है।

नींबू – ग्रीन टी के कड़वेपन को कम करने में नींबू मददगार है। नींबू का खट्टापन ग्रीन टी के एंटी-ऑक्सीडेंट्स के प्रभाव को बढ़ाते हैं, जिससे ये शरीर के लिए और भी ज्यादा लाभकारी होता है। हालांकि, ग्रीन टी के ठंडे होने के बाद इसमें नींबू निचोड़ें।

पुदीना और दालचीनी: पाचन दुरुस्त करने, भूख मिटाने, वेट लॉस, इम्युनिटी और मेटाबॉलिज्म बूस्ट करने के लिए ग्रीन टी में पुदीना और दालचीनी मिलाएं।

अदरक: सांस संबंधी परेशानियों को दूर करने, स्ट्रेस कम करने और वेट लॉस में मददगार है ग्रीन टी में अदरक मिलाकर पीना फायदेमंद होगा। इससे कैंसर, डायबिटीज, अस्थमा और पीरियड्स पेन का इलाज भी संभव है।

किस समय पीना चाहिए: आप इसका सेवन सुबह के समय या फिर भोजन के 2 घंटे पहले अथवा बाद में कर सकते हैं।

Next Stories
1 ब्लड प्रेशर बढ़ने के मुख्य कारणों में से एक है स्ट्रेस, जानें बगैर दवाइयों के कैसे काबू करें High BP
2 इन कारणों से गलत आ सकती है ब्लड शुगर रीडिंग, Diabetes टेस्ट के पहले या दौरान न करें ये गलतियां
3 सुबह-सवेरे नहीं, Diabetes के मरीजों के लिए इस समय एक्सरसाइज करना होगा फायदेमंद, जानें
यह पढ़ा क्या?
X