ताज़ा खबर
 

कई बीमारियों को दूर करने में कारगर है गिलोय, अत्यधिक फायदे के लिए इस समय पीना उत्तम

Giloy Health Benefits: इस जड़ी-बूटी से होने वाले स्वास्थ्य फायदों के कारण आयुर्वेद में गिलोय को अमृत के समान माना जाता है।

giloy, immunity boosters, immunity boosters drinks, giloy health benefits, giloy kadhaआयुर्वेद के अनुसार गिलोय को काढ़ा, पाउडर या रस के रूप में भी सेवन किया जा सकता है।

Giloy Health Benefits: आज के समय में इम्युनिटी के प्रति हर कोई जागरुक हो गया है। कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता न केवल लोगों को सर्दी-जुकाम से ग्रस्त कर सकती है, बल्कि इससे कोविड – 19 के संक्रमण का खतरा भी बढ़ता है। ऐसे में गिलोय का सेवन कारगर साबित हो सकता है। गिलोय एक प्रकार का आयुर्वेदिक औषधि है। इसका अंग्रेजी नाम टीनोस्पोरा कार्डीफोलिया है। यह आयुर्वेदिक औषधि इम्युनिटी को तंदरुस्त रखने के साथ ही अनेक प्रकार की बीमारियों को दूर करने में सहायक साबित होता है।

आयुर्वेद के अनुसार गिलोय को काढ़ा, पाउडर या रस के रूप में भी सेवन किया जा सकता है। वहीं, मार्केट में गिलोय के टैब्लेट भी आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार सुबह खाली पेट गिलोय का सेवन करने से लोगों को सबसे ज्यादा फायदा हो सकता है। आइए जानते हैं किन बीमारियों को दूर करता है गिलोय –

इम्युनिटी  बूस्टर: इस जड़ी-बूटी से होने वाले स्वास्थ्य फायदों के कारण आयुर्वेद में गिलोय को अमृत के समान माना जाता है। ये शरीर में पाए जाने वाले हेल्दी सेल्स को सुरक्षित रखती है गिलोय। इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स होने के कारण ये शरीर को क्षति पहुंचाने वाले फ्री रैडिकल्स से लड़ने में भी कारगर है। इसी कारण गिलोय इम्युनिटी बढ़ाने में मददगार है। सर्दी-जुकाम, बुखार, कफ-टॉन्सिल जैसी समस्याओं को कम करने में भी गिलोय रामबाण साबित होती है।

डायबिटीज: गिलोय की पहचान एक एंटी-डायबिटिक के रूप में भी होती है। इसका सेवन डायबिटीज टाइप 2 के मरीजों के लिए बेहद लाभप्रद हो सकता है। गिलोय का इस्तेमाल शरीर में इंसुलिन भी प्रोड्यूस करता है। गिलोय एक हाइपो ग्लाइसेमिक एजेंट के रूप में भी काम करता है जो मधुमेह को काबू में रखने में मदद करता है। साथ ही ये आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी शरीर में मौजूद एक्स्ट्रा ग्लूकोज को बर्न करता है और ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित करता है।

लिवर डिजीज: ये जड़ी-बूटी एक डिटॉक्सिफाइंग एजेंट के रूप में भी कार्य करती है। इसका मतलब है कि इसके सेवन से शरीर में मौजूद टॉक्सिक पदार्थ शरीर के बाहर निकालता है। पाचन को मजबूत करने में भी गिलोय महत्वपूर्ण माना जाता है। स्ट्रॉन्ग डाइजेस्टिव सिस्टम लिवर पर अधिक बोझ नहीं पड़ता है। इसके साथ ही गिलोय ये भी सुनिश्चित करता है कि लिवर में किसी भी तरह का संक्रमण न हो पाए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 घुटनों में तकलीफ की हैं ये 5 आम वजहें, जानिये इनके इलाज के कारगर तरीके
2 पीरियड्स के दौरान महिलाएं इन खाद्य पदार्थों को करें डाइट में शामिल, कम होगी पेट दर्द की परेशानी
3 ये 4 संकेत करते हैं कमजोर इम्युनिटी की ओर इशारा, भूल से भी न करें नजरअंदाज
यह पढ़ा क्या?
X