ताज़ा खबर
 

जोड़ों में दर्द की परेशानी दूर करने में मददगार है घी, गर्मियों में खाने से होते हैं ये बड़े फायदे

Summer Friendly Diet: खाली पेट सुबह सबसे पहले घी खाने से पाचन बेहतर होती है और पित्त दोष भी काबू में रहता है

Cow ghee, Ghee, Diabetes, Cholesterol, uric acid, immunityघी में बटरिक एसिड, शॉर्ट चेन फैटी एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं

Ghee Health Benefits: हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक लोगों को गठिया की परेशानी तब होती है जब उनके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा अधिक हो जाती है। इसके कारण लोगों कोजोड़ों, घुटने, कंधे और कूल्हे में असहनीय दर्द होने लगता है और उनके दैनिक कार्य भी प्रभावित होते हैं। ऐसे में घी का सेवन उनके लिए फायदेमंद हो सकता है।

आज के समय में फिटनेस के नाम पर लोगों ने तला-भूना व मसालेदार भोजन खाना छोड़ दिया है। यही नहीं, अपने वजन को लेकर सतर्क रहने वाले लोग तेल-घी खाने से भी परहेज करते हैं। हालांकि, स्वास्थ्य विशेषज्ञ ऐसा मानते हैं कि घी वजन बढ़ाने के लिए जिम्मेदार नहीं होता है। आइए जानते हैं गर्मियों में इसे डाइट में शामिल करने के स्वास्थ्य लाभ –

कम करता है जोड़ों में दर्द: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि जो लोग जोड़ों में दर्द से परेशान हैं, उन्हें अपनी डाइट में घी को जरूर शामिल करना चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है जिसे प्राकृतिक लुब्रीकेंट के रूप में देखा जाता है। रोज 1 चम्मच घी खाने से गठिया के दर्द को कम करने में मदद मिलेगी।

कोलेस्ट्रॉल पर रखता है काबू: कोलेस्ट्रॉल का स्तर ज्यादा होने से लोगों में कई बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है, ऐसे में इसपर नियंत्रण बेहद जरूरी है। घी इसे कंट्रोल करने में मददगार है, स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि गाय के घी में बाइलरी लिपिड का सीक्रीशन बढ़ जाता है जिसके कारण ब्लड और आंत में मौजूद कोलेस्ट्रॉल की मात्रा कम हो जाती है।

डायबिटीज का खतरा होगा कम: खराब जीवन शैली और गलत खानपान के कारण होने वाली आम बीमारियों में से एक डायबिटीज है। गाय के घी में हाईड्रोजनीकृत तेल नहीं होता है और न ही एक्स्ट्रा फैट। ऐसे में इसका सेवन फायदेमंद है।

दूर होंगी पाचन की समस्या: खाली पेट सुबह सबसे पहले घी खाने से पाचन बेहतर होती है और पित्त दोष भी काबू में रहता है। घी में एंटी-वायरल और एंटी-फंगल तत्व पाए जाते हैं जो बीमारियों के खतरे को कम करता है।

बेहतर होगी इम्युनिटी: घी में बटरिक एसिड, शॉर्ट चेन फैटी एसिड, एंटी-ऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ये इम्युनिटी को बेहतर करते हैं और इंफेक्शन व बीमारियों का खतरा भी कम होता है। इसके साथ ही, घी को विटामिन ए और सी का बेहतरीन स्रोत होता है जो इम्युन सिस्टम को मजबूत बनाता है।

Next Stories
1 शरीर ठंडा पड़ना हो सकता है निम्न रक्तचाप का लक्षण, जानें Low ब्लड प्रेशर को तुरंत कंट्रोल कैसे करे?
2 घाव से लेकर सूजन तक, पैरों में दिखें ये 4 बदलाव तो तुरंत चेक कराएं शुगर लेवल
3 क्या है ‘प्रोन पोजिशन’ जिसे ऑक्सीजन का स्तर बढ़ाने में माना जा रहा है मददगार, जानिये
यह पढ़ा क्या?
X