X

इन 4 बीमारियों का बेहतरीन ईलाज है विटामिन ए और फैटी एसिड्स से भरपूर घी

घी के औषधीय गुणों के बारे में हर कोई जानता है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन ए, बाइट्रिक एसिड और हेल्दी फैट भरपूर मात्रा में पाए जाते है।

घी के औषधीय गुणों के बारे में हर कोई जानता है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड, विटामिन ए, बाइट्रिक एसिड और हेल्दी फैट भरपूर मात्रा में पाए जाते है। यह आपके शरीर के अवरऑल हेल्थ के लिए बेहतरीन होता है। पाचन संबंधी समस्याओं के अलावा भी यह कई तरह की सेहत संबंधी दिक्कतों का उपाय है। आज हम आपको 4 ऐसी बीमारियों के बारे में बताने वाले हैं जिनसे निजात दिलाने में घी का कोई सानी नहीं है। तो चलिए जानते हैं कि वे बीमारियां क्या हैं।

पाचन तंत्र रखे दुरुस्त – कब्ज है या बार-बार अपच की समस्या होती है तो घी इससे निजात दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। घी में बाइट्रिक एसिड पाया जाता है जो आंतों की सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है। इसके अलावा घी का सेवन जठराग्नि को बढ़ाने का काम करता है जिससे पाचन तेजी से होता है और कब्ज जैसी समस्या नहीं होती है। इसके लिए रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म पानी के साथ एक चम्मच घी का सेवन करें।

बंद नाक के लिए – सर्दी होने पर बंद नाक काफी परेशान करने वाली समस्या है। इस दौरान सांस लेने में भी काफी तकलीफ होती है। इससे निजात पाना है तो सवेरे-सवेरे शुद्ध देसी घी की कुछ बूंद हल्का गर्म करके नाक में डालिए। यह आपके नाक और गले से होते हुए सर्दी और बंद नाक के लिए जिम्मेदार इन्फेक्शन्स को खत्म कर देता है। इससे आपको सर्दी और बंद नाक से जल्द राहत मिल जाती है। याद रहे, घी को हल्का गुनगुना ही गर्म करें।

पेट की चर्बी करे कम – वजन कम करने के लिए भी घी बहुत फायदेमंद होता है। इसमें एमीनो एसिड्स होते हैं जो पेट की चर्बी कम करते हैं। इसके अलावा घी में ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड्स की भी काफी मात्रा पाई जाती है। यह भी पेट की चर्बी कम करने में काफी प्रभावी हैं। इसके लिए आप अपनी रोजाना की डाइट में कम से कम एक चम्मच शुद्ध देसी घी जरूर शामिल करें।

डायबिटीज में फायदेमंद – अगर आपको डायबिटीज है और आप रोटी और चावल खाते हैं तो यह आपके लिए हेल्दी नहीं है। इसका ग्लाइकेमिक इंडेक्स काफी ज्यादा होता है। ऐसे में रोटी या पराठा या चावल में घी लगाकर खाना ज्यादा सेहतमंद है। घी उनका ग्लाइकेमिक इंडेक्स का लेवल कम कर देता है। साथ ही आपका खाना और ज्यादा सुपाच्य हो जाता है।