ताज़ा खबर
 

इन पांच आयुर्वेदिक तरीकों से सरदर्द से पा सकते हैं छुटकारा

सरदर्द के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये साइड इफेक्ट से रहित होते हैं और बहुत ज्यादा असरदार होते हैं।

प्रतीकात्मक चित्र

सरदर्द एक सामान्य समस्या है। अक्सर लोग इसे हल्के में लेते हैं और अपने आप ही ठीक हो जाने के लिए छोड़ देते हैं। लेकिन, सरदर्द को इतना हल्के में लेना आपके लिए भारी पड़ सकता है। बार-बार सरदर्द होना आपके लिए किसी घातक बीमारी का संकेत होता है। लेकिन यह भी जरूरी नहीं कि हर सरदर्द किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो। कई बार बहुत ज्यादा शोरगुल वाली जगहों पर होने से, ज्यादा तनाव लेने से, या देर तक कंप्यूटर स्क्रीन पर काम करने की वजह से भी सरदर्द होने लगता है। अधिकांश लोग ऐसे सरदर्द से निपटने के लिए पेन किलर्स का इस्तेमाल करते हैं। यह साइड इफेक्ट्स से भरपूर होते हैं। ऐसे में इनका सेवन आफकी सेहत के साथ खिलवाडड है। सरदर्द के लिए आप कुछ आयुर्वेदिक नुस्खों का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये साइड इफेक्ट से रहित होते हैं और बहुत ज्यादा असरदार होते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे आयुर्वेदिक तरीकों के बारे में बताने वाले हैं जो सरदर्द से निजात दिलाने में काफी प्रभावी होते हैं।

1. ब्राह्मी – ब्राह्मी स्ट्रेस और डिप्रेशन का बेहतरीन इलाज है। नासिका छिद्र में ब्राह्मी और घी की कुछ बूंदे डाल देने से सरदर्द से आराम मिलता है।

2. चंदन – आधा चम्मच चंदन पाउडर को पानी के साथ मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को माथे पर लगाएं और बीस मिनट तक रहने दें। सरदर्द से राहत मिल जाएगी।

3. छोटी इलायची – छोटी इलायची को चबाने से भी सरदर्द से राहत मिलती है।

4. काला नमक – गर्म पानी में एक चुटकी काला नमक मिलाकर पीने से सरदर्द से आराम मिलता है। इसके अलावा साधारण नमक की जगह पर काले नमक का सेवन भी आपको सरदर्द से राहत दिलाता है।

5. तगर – तगर एक वनस्पति औषधि है। यह सरदर्द की परंपरागत औषधि है। आप इसके तेल से मसाज कर सरदर्द से राहत पा सकते हैं। या फिर आप तगर की पत्तियों की चाय बनाकर भी पी सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App