ताज़ा खबर
 

घर बैठे ऐसे पाएं दांत दर्द से छुटकारा, अपनाएं ये 5 होम्योपैथिक टिप्स

स्टैफिसैग्रिया का उपयोग होम्योपैथिक दवा के रूप में किया जाता है। यह दांत दर्द से निजात दिलाने के लिए प्रभावशाली होता है।

प्लांटेगो कमजोर दांत और मसूड़ों के दर्द के लिए दावा का काम करता है।

दांत के दर्द को अनदेखा नहीं किया जा सकता है। दांत का दर्द एक ऐसी समस्या है जिसका दर्द इंसान को चैन से जीने नहीं देता है। दांत का दर्द न केवल नुकसान पहुंचता है बल्कि भोजन करना भी मुश्किल बना देता है। आज दांत के दर्द से अमूमन हर व्यक्ति परेशान रहता है। हालांकि दांत दर्द का कारण अलग-अलग हो सकता है। जैसे दांतों का सड़ना, सूजे से मसूड़े और दांतों का निकलना आदि। अगर आप भी दांतों के दर्द से परेशान हैं तो हम आपको ऐसे पांच होम्योपैथिक उपचार बता रहे हैं जिसकी मदद से दांत-दर्द से छुटकारा पा सकते हैं।

प्लांटेगो: यह एक झाड़ीदार पौधा होता है। इसके बीज का इस्तेमाल कब्ज और दस्त जैसी बीमारियों के इलाज में आयुर्वेदिक औषधी का काम करता है। प्लांटेगो कमजोर दांत और मसूड़ों के दर्द के लिए दावा का काम करता है। यह उन लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है जिनके मुंह में अधिक लार होती है। इसके अलावा प्लांटेगो सूजन को कम करने के लिए भी उपयोगी होता है।

सिलिका (सिलिकॉन डाइऑक्साइड): यह पाचन तंत्र को दुरुस्त रखने के साथ-साथ दिल और हड्डी से संबंधित बीमारी को भी दूर करता है। दांतों की जड़ों में फोड़ा या मवाद होने के कारण जो दर्द होता है, उससे निजात पाने के लिए सिलिका सबसे अच्छा होम्योपैथिक उपचार है। सिलिका मसूड़ों के सूजन और दांत दर्द से राहत दिलाती है।

डेल्फिनियम स्टैफिसैग्रिया: स्टैफिसैग्रिया का उपयोग होम्योपैथिक दवा के रूप में किया जाता है। यह दांत दर्द से निजात दिलाने के लिए प्रभावशाली होता है। मिठाइयों या कोल्ड ड्रिंक के सेवन से होने वाले दांत दर्द, जलन और सेंसेटिव दांतों के इलाज के लिए स्टैफिसैग्रिया एक प्राकृतिक होम्योपैथिक दवा है। अगर कोल्ड ड्रिंक के सेवन के कारण दर्द अधिक हो जाता है, तो आप इसे लगा सकते हैं और इसे अपने दांतों के बीच रख सकते हैं।

मर्क सोल: इसका उपयोग मुंह के छाले, चकत्ते, जीभ पर जलन, मुंह से अतिरिक्त लार और मुंह की दुर्गंध को दूर करने के लिए किया जाता है। दांत दर्द के लिए मर्क सोल सबसे अच्छा विकल्प है। यह मुंह में लार, फफोले और मसूड़ों में दर्द के लिए दवा के रूप में काम करता है।

आर्निका: यह एक प्रकार का पौधा होता है जो आपके दांत दर्द से राहत दिलाने के लिए बहुत फायदेमंद है। यह खास तौर पर दांतों और मसूड़ों में दर्द के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। अर्निका दर्द निवारक के रूप में कार्य करता है। होमियोपैथी में इसका उपयोग अनेक प्रकार के बीमारियों के इलाज के लिए भी किया जाता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ग्रीन टी के फायदे: पाचन तंत्र और मूत्राशय के कैंसर का खतरा होता है कम
2 पका बनाम कच्चा केला: जानिए, दोनों में क्या है अंतर और कौन सेहत के लिए बेहतर
3 क्या डायबिटीज के कारण आंखों की रोशनी को होता है नुकसान, जानिए क्या हैं लक्षण
यह पढ़ा क्या?
X