ताज़ा खबर
 

जानिए, क्यों होता है माइग्रेन का दर्द और कैसे पाएं इससे छुटकारा

माइग्रेन ऐसा दर्द है जिसका इलाज बहुत कठिन होता है, लगातर दवाई खानी पडती है पर अगर आप इस असहनीय दर्द से बचना चाहते हैं तो अपनाएं यह घरेलू उपाय

यह चित्र प्रतीक के तौर पर प्रयोग किया गया है

माइग्रेन सिर दर्द का वो रोग जिसमें असहनीय दर्द होते हैं। इसमें सिर के किसी एक हिस्से में बहुत तेज दर्द होता है, जिससे मरीज किसी भी तरह का आराम नहीं मिलता। इसमें सिर दर्द के साथ उल्टी होने का अहसास होता है और कई बार उलटी आती है। इस तरह के सिर दर्द में आंखें लाल हो जाती है। कई बार आंखों पर सूजन भी आ जाता है। लेकिन चिंता की बात नहीं है क्योंकि माइग्रेन के लिए बहुत से घरेलू नुस्खें हैं जो माइग्रेन के दर्द से राहत दे सकते हैं। हम आपको ऐसे ही घरेलू उपायों से रूबरू कराने जा रहे हैं।

सेब का सिरका- यह माइग्रेन के दर्द को कम करता है। सेब का सिरका सेहत के लिए भी लाभदायक होता है। यह ब्लड शुगर, ब्लड प्रेशर, हड्डियों के दर्द को कम करता है और साथ ही वजन कम करने और कब्ज में भी राहत देता है।

बर्फ- बर्फ का पैक लगाने से माइग्रेन के साथ-साथ टेंशन से भी राहत मिलती है। इसके लिए कुछ बर्फ के टुकड़े साफ कपड़े में लपेट कर अपने सिर पर या गर्दन पर 10 से 15 मिनट के लिए रखें।

पुदीना- एक स्टडी से साबित हुआ है कि पुदीना नसों को आराम देता है। पुदीने की खुशबु भी टेंशन और सिरदर्द में आराम देती हैं।

कॉफी- माइग्रेन अटैक आने पर कॉफी का सेवन करना चाहिए। यह बात बिल्कुल सही है कि सिर दर्द में कॉफी पीने से वह गायब हो जाता है।

सेब- सुबह खाली पेट सेब खाने से माइग्रेन के दर्द से आराम मिलता है। यह उपाय काफी असरदार होता है।

सिर की मालिश- गर्म तेल से सिर की मालिश करने से माइग्रेन का दर्द कम हो जाता है. सिर के पीछे, गर्दन और कंधों की मालिश करने से दर्द में आर्म मिलता है और रक्त संचार अच्छे से हो पाता है।

अदरक- माइग्रेन के दर्द में अदरक बहुत लाभदायी होती है। माइग्रेन में उलटी के कारण जी मचलाने पर इसे लेना चाहिए। अदरक के टुकड़े आंखों की सूजन और दर्द में भी आराम देता है। अगर अदरक सीधा ना खाए जा सके तो उसके साथ शहद ले सकते हैं।

हरी सब्जियां- हरी सब्जियों में मैग्नीशियम होता है। यह माइग्रेन के दर्द को कम कर देता है। साबुत अनाज जैसे छोले, दालें, राजमा, मक्का, और गेंहू में भी मैग्नीशियम होता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App