ताज़ा खबर
 

इम्युनिटी बढ़ाने से लेकर अपच दूर करने में कारगर है मुलेठी वाली चाय, जानिये रेसिपी और अन्य फायदे

Immunity Boosting Tips: मुलेठी की चाय में मौजूद एंजाइम्स शरीर को संक्रमण से लड़ने की ताकत प्रदान करते हैं

mulethi, liquorice tea, immunity, immunity booster tips, indigestionये प्राकृतिक रूप से इम्युनिटी को बढ़ाने में मददगार है

Mulethi Health Benefits: ठंड के मौसम में चाय की चुस्कियां लेना भला किसे नहीं पसंद होता है। पर इस सीजन में सर्दी के साथ आती हैं कई स्वास्थ्य समस्याएं। मौसम में बदलाव जहां खांसी-जुकाम की परेशानी को बढ़ाते हैं वहीं, इस दौरान लोगों के खानपान की आदतों  में भी कई चेंजेज देखने को मिलते हैं। इससे अक्सर उन्हें अपच व पेट संबंधी अन्य दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर आम दिन में पिये जाने वाली चाय में कुछ बदलाव करें तो ये उनके स्वास्थ्य के लिए लाभकारी सिद्ध हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो मुलेठी से बनी चाय भी सेहत पर जादुई प्रभाव डालती है। ये प्राकृतिक रूप से इम्युनिटी को बढ़ाने में मददगार है। आइए जानते हैं इससे होने वाले फायदों के बारे में –

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए: ठंड के मौसम में बुखार व सर्दी-जुकाम की समस्या आम दिनों की तुलना में अधिक हो जाती है। साथ ही, इस कोरोना काल में जरा सी खांसी भी लोगों की नींद उड़ाने के लिए काफी है। इन परेशानियों से बचाव के लिए इम्युनिटी का मजबूत होना बेहद आवश्यक है। ऐसे में मुलेठी की चाय मददगार हो सकती है। इसमें मौजूद एंजाइम्स शरीर को संक्रमण से लड़ने की ताकत प्रदान करते हैं।

इनडाइजेशन से मिलेगी निजात: मुलेठी में मौजूद तत्व ग्लिसिरिजिन से इसका स्वाद मीठा हो जाता है। ये तत्व पाचन को दुरुस्त रखने में मददगार है। कई बार जो लोग एसिडिटी की समस्या से पीड़ित हैं, वो मुलेठी का इस्तेमाल बतौर एंटा एसिड भी करते हैं। इससे पेट में जो असुविधा या फिर इरिटेशन होती है, उससे निजात मिलता है। ऐसे में पेट संबंधी परेशानियों को दूर करने में मुलेठी की चाय कारगर है।

पीरियड पेन से मिलेगा छुटकारा: पीरियड क्रैम्प्स से निजात दिलाने में भी मुलेठी सहायक है। ये एंटी-स्पासमॉडिक गुण होते हैं जो पेट दर्द दूर करने में कारगर है। साथ ही इससे मांसपेशियां भी रिलैक्स करती हैं। ऐसे में पीरियड्स में जिन युवतियों को दर्द होता है वो मुलेठी की चाय का सेवन कर सकती हैं।

याददाश्त होगी मजबूत: मुलेठी में मौजूद तत्व याददाश्त बढ़ाने और ध्यान केंद्रित करने में मददगार है। ऐसे में बुढ़ापे में भी मुलेठी का सेवन करना चाहिए।

रेसिपी: एक बर्तन में 2 कप पानी डालें, फिर उसमें मुलेठी का चूर्ण गिराएं। साथ ही, अदरक और काली मिर्च पाउडर मिलाएं। इसमें अगर आपका मन हो तो जरा सी चायपत्ती डाल लें और 5 मिनट तक उबालें। अब इसे छानकर कप में डालें और शहद मिलाकर गर्मागर्म इसका सेवन करें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 त्वचा में आए ये 4 बदलाव करते हैं डायबिटीज की ओर इशारा, जानिये
2 गन्ने के जूस से लेकर ग्रीन टी तक, लिवर को हेल्दी रखने में कारगर माने जाते हैं ये ड्रिंक्स
3 घंटों बैठे रहना या ज्यादा खाना, ये 5 अनजानी आदतें बना सकती हैं डायबिटीज का शिकार
ये पढ़ा क्या?
X