ताज़ा खबर
 

सिर दर्द से लेकर नाक से खून आना, बुजुर्गों में ये 5 हो सकते हैं उच्च रक्तचाप के लक्षण

High BP ke lakshan: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या हो जाती है, उनमें सांस की कमी देखने को मिल सकती है

high blood pressure, high bp, high bp foods, high blood pressure symptomsजब ब्लड प्रेशर का स्तर अचानक से बढ़ जाता है, तो सिर दर्द की शिकायत हो जाती है

Blood Pressure Symptoms: हाइपरटेंशन जिसे आम भाषा में उच्च रक्तचाप कहा जाता है, ये बीमारी आज के समय में बेहद आम हो चुकी है। लेकिन अगर इस पर समय रहते ध्यान न दिया जाए तो ये कई जानलेवा बीमारियों का रूप ले सकता है। हाई बीपी उम्रदराज लोगों को ज्यादा परेशान करती है। इसके कारण उनमें कार्डियोवास्कुलर बीमारियों का खतरा भी बढ़ता है। वहीं, एक रिपोर्ट के मुताबिक लगभग एक-तिहाई लोग इस बात से अनजान होते हैं कि वो हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं। ऐसे में घर के बड़े-बुजुर्गों को लेकर अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे लक्षण जिनसे हाई बीपी को पहचानना आसान हो सकता है –

अत्यधिक सिरदर्द: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि जब ब्लड प्रेशर का स्तर अचानक से बढ़ जाता है, तो सिर दर्द की शिकायत हो जाती है। कई बार अत्यधिक सिरदर्द से माइग्रेन भी हो सकता है। इसमें सिर के एक तरफ जोर से दर्द हो सकता है। इसके अलावा, जिन लोगों को हाई बीपी की शिकायत होती है उन्हें गर्दन, छाती और कानों में सनसनाहट हो सकती है। इससे डिजिनेस की समस्या भी हो जाती है।

पेशाब में खून आना: उम्र बढ़ने के साथ यूरिन संबंधी दिक्कतें होने लगती हैं, इसे भी बीपी का एक लक्षण माना जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि हाइपरटेंशन के मरीजों को पेशाब में खून आने की समस्या देखने को मिलती है।

सांस की कमी: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या हो जाती है, उनमें सांस की कमी देखने को मिल सकती है। सांसों का अनियमित होना और छाती में हल्का दर्द महसूस होना भी हाई बीपी का लक्षण हो सकता है। ये गंभीर और असुविधाजनक भी हो सकता है। सांस की परेशानी को हाई बीपी के शुरुआती लक्षणों में शामिल किया जाता है।

नाक से खून आना: नाक में मौजूद ब्लड वेसेल्स बेहद नाजुक होते हैं, रक्तचाप के स्तर में जरा भी वृद्धि होने से नाक से खून निकलने लगता है।

धुंधलापन: उच्च रक्तचाप के कारण कई बार मरीजों में हाइपरटेंसिव रेटिनोपैथी की समस्या भी देखने को मिलती है। इस कारण धुंधलापन, नजरों का कमजोर होना या फिर रोशनी का जाना शामिल हो सकता हैै।

Next Stories
1 गर्मी में लू से बचने के लिए डाइट में शामिल करें ये फूड्स, हाइड्रेटेड रहने में मिलेगी मदद
2 Diabetes के खतरे को कम करने के लिए अपनाएं ये 5 आसान स्टेप्स, काबू में रहेगा ब्लड शुगर
3 घी से लेकर दही तक, एग्जाम टाइम में बच्चों को जरूर दें ये चीजें, बेहतर होगी याद्दाश्त
आज का राशिफल
X