स्ट्रांग इम्युनिटी के लिए अपने डाइट प्लान में शामिल करें ये 5 सब्जियां, डायबिटीज के खतरे को कर सकती हैं कम

Blood Sugar: डायबिटीज से ग्रसित लोगों को अपने भोजन और कुछ चीजों में बदलाव करने की आवश्यकता होती है। जब व्यक्ति को डायबिटीज होता है तो सबसे पहले उसे एक स्वस्थ डाइट प्लान बनाना चाहिए।

immunity boost fruits and vegetables, health, health news
इन फल, सब्जी और दालों के जरिए बढ़ाएं अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता (फोटो क्रेडिट- Thinkstock Images )

डायबिटीज के लोगों को अपने भोजन और स्वस्थ जीवनशैली पर ध्यान देना चाहिए। इससे सम्बंधित रोगियों को बिना सोचे समझे कुछ नहीं खाना चाहिए। डायबिटीज से ग्रसित लोगों को अपने भोजन और कुछ चीजों में बदलाव करने की आवश्यकता होती है। जब व्यक्ति को डायबिटीज होता है तो सबसे पहले एक स्वस्थ डाइट प्लान बनाना चाहिए। ब्लड शुगर (Blood Sugar) वाले लोगों को अपने डाइट प्लान में फल, हरी सब्जियां, पूरे अनाज, स्वस्थ वसा और प्रोटीन को शामिल करना चाहिए। यह उनके ब्लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ ही उनके स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा माना जाता है। आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि डायबिटीज के मरीजों को किन चीजों को दोपहर के भोजन और रात के खाने में शामिल करना चाहिए।

हरी पत्तेदार सब्जियों को करें शामिल: डायबिटीज के मरीजों को अपने दोपहर के खाने में हरी पत्तेदार सब्जियां को जरूर खाना चाहिए। जैसे – लौकी, तोरई, करेला, पालक, मेथी, बथुआ, ब्रोकली जैसी सब्जियों को लंच के समय अवश्य खाना चाहिए। इन सब्जियों में लो कैलोरी के साथ ज्यादा पोषक तत्व होते हैं जो स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभदायक माने जाते हैं। हरी सब्जियों में एंटीऑक्सिडेंट गुण पाए जाते हैं, जिससे ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल रहता है।

साबुत दालों को करें शामिल: दोपहर के वक्त खाना खाते समय अपनी डाइट का विशेष ख्याल रखें। ब्लड शुगर (Blood Sugar) को कंट्रोल करने के लिए डाइट प्लान में बदलाव की सख्त आवश्यकता है। दोपहर के भोजन में अधिक मात्रा में दाल को शामिल करें। दाल में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, पोटैशियम, फाइबर और दूसरे जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। गेहूं की जगह साबुत अनाज की रोटी, चोकर या मल्टीग्रेन वाली रोटी को खाना चाहिए। इसके आलावा ब्राउन राइस, जौ और क्विनोआ जैसे अनाज को खाने से शरीर को हेल्दी कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन, विटामिन और खनिज मिलते हैं।

दही है जरुरी: दही के गुण हर किसी को पता है। इसके साथ ही खाने के बाद दही खाने से मजा दोगुना हो जाता है। बिना चीनी के शुगर के मरीज भी दही खा सकते हैं। दही में अच्छी मात्रा में कैल्शियम, प्रोटीन और पोषक तत्व पाए जाते हैं। दही में पाया जाने वाला सीएलए शरीर में हेल्दी ब्लड शुगर को बढ़ाता है। बता दें कि सीएलए शरीर में मेटाबोलिज्म को बनाए रखता है और शरीर में वसा को कम करने में मदद करता है। इसके साथ ही अच्छी पाचन क्रिया के साथ वजन घटाने और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है।

फिश का करें सेवन: अगर आप नॉनवेज के शौकीन हैं तो लंच में आप फैटी फिश खा सकते हैं। डायबिटीज में फिश खाना सेहत के लिए काफी फायदेमंद होता है। फिश खाने से शरीर में सूजन कम होती है और हार्ट भी हेल्दी रहता है। इसलिए खाने में फिश जरूर शामिल करें।

अंडा खाएं: हेल्दी बने रहने के लिए रोज एक अंडा खाना चाहिए। अंडे में भरपूर प्रोटीन और सभी अमीनो एसिड पाए जाते हैं, जिसकी वजह से व्यक्ति हेल्दी रहता है। अंडा खाने से शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, जिसकी वजह से भी ब्लड शुगर कंट्रोल रहता है। माना जाता है कि रोज एक अंडा खाने से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम हो सकता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
रावण ने अपने आखिरी पलों में लक्ष्मण को दिया था यह ज्ञान, आपकी सक्सेस के लिए भी जरूरी हैं ये बातेंravan, ram, laxman, ramayan, valuable things, srilanka, धर्म ग्रंथ रामायण, राम, रावण, लंकापति रावण, वध श्रीराम, शिवजी की पूजा, लक्ष्मण
अपडेट