follow these tips for a healthier and balanced lifestyle - फिटनेस टिप्सः जीवनशैली में थोड़ा सा बदलाव दिखाएगा बड़ा असर, जानिए शानदार फिटनेस के लिए 5 आसान से टिप्स - Jansatta
ताज़ा खबर
 

फिटनेस टिप्सः जीवनशैली में थोड़ा सा बदलाव दिखाएगा बड़ा असर, जानिए शानदार फिटनेस के लिए 5 आसान से टिप्स

निरोगी काया गर किसी के जीवन का मुख्य लक्ष्य होता है। बीमारियों, दवाओं और डॉक्टर्स के फेर से बचना है तो जरूरी है कि आप एक संतुलित जीवनशैली अपनाएं।

प्रतीकात्मक चित्र

निरोगी काया गर किसी के जीवन का मुख्य लक्ष्य होता है। बीमारियों, दवाओं और डॉक्टर्स के फेर से बचना है तो जरूरी है कि आप एक संतुलित जीवनशैली अपनाएं। सही समय पर खाना, सही समय पर सोना, सही चीज खाना आदि कई ऐसे महत्वपूर्ण टिप्स हैं जिससे आप अपनी सेहत दुरुस्त रख सकते हैं। स्वस्थ जीवनशैली के बाबत हेल्दीज की सीनियर वेलनेस कंसल्टेंट सौम्या सताक्षी कुछ टिप्स के बारे में बताती हैं। तो चलिए जानते हैं कि वे टिप्स क्या हैं।

सप्ताह में एक बार शाकाहार – हफ्ते में एक दिन शाकाहारी होना आपकी सेहत के लिए बेहतर होता है। कई लोग हफ्ते में एक दिन उपवास भी रखते हैं। हालांकि यह पूरी तरह से धार्मिक काम है लेकिन इससे आपकी सेहत दुरुस्त रहती है। नॉन वेज भोजन न खाने की वजह से आपके शरीर में फाइबर की अतिरिक्त आपूर्ति होती है। इससे आपकी आंतें स्वस्थ रहती हैं।

सीमित मात्रा में इस्तेमाल करें एल्कोहल और सिगरेट – शराब और सिगरेट केवल आपके फेफड़ों और लीवर को प्रभावित नहीं करते बल्कि इनकी वजह से आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल भी बढ़ जाता है। इसके अलावा यह आपकी याद्दाश्त पर भी बुरा प्रभाव डालते हैं। लाइफलाइन लेबोरेटरी की को-फाउंडर आस्था भटनागर बताती हैं कि लोगों को अपनी जीवनशैली को संतुलित रखने की जरूरत होती है जिसमें न तो बहुत ज्यादा आराम हो और न ही बहुत ज्यादा तनाव ही हो।

शारीरिक स्वास्थ्य और वजन प्रबंधन – समय-समय पर हेल्थ चेकअप्स कराते रहना बीमारियों को रोकने का सबसे सुरक्षित उपाय है। आपका वजन आपकी सेहत का आईना होता है। सामान्य वजन होने से न सिर्फ दिल की बीमारियों को होने से रोका जा सकता है बल्कि इससे ब्रीस्ट कैंसर और एंडोमेट्रियल कैंसर तक को रोकने में मदद मिलती है।

देर रात पार्टी से करें परहेज – सामाजिक होना मनुष्य की स्वाभाविक प्रवृत्ति है। लोगों से मिलना जुलना मानवीय व्यवहार का अहम हिस्सा है। यह आपकी सेहत के लिए भी जरूरी है, लेकिन देर रात तक पार्टी, घूमने आदि से बचना आपके सेहत के लिहाज से जरूरी होता है। विशेषज्ञों का कहना है कि इससे आपका मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों प्रभावित होते हैं।

संतुलन जरूरी – संतुलित जीवन सुखी जीवन का आधार है। संतुलन ही आपको सेहतमंद बनाने में सबसे ज्यादा मददगार हो सकता है। ऐसे में आपको अपने डेली रूटीन में, खान-पान में, लोगों से मिलने-जुलने में, अपनी सक्रियता में, सोने और खाने में संतुलन बरतना जरूरी है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App