Flavored hookahs may be more dangerous than cigarettes, such dangerous diseases - सिगरेट से ज्यादा खतरनाक है फ्लेवर्ड हुक्का, हो सकती हैं ऐसी खतरनाक बीमारियां - Jansatta
ताज़ा खबर
 

सिगरेट से ज्यादा खतरनाक है फ्लेवर्ड हुक्का, हो सकती हैं ऐसी खतरनाक बीमारियां

हुक्के का धुआं ठंडा होने के बाद भी नुकसान पहुंचाता है। यह हार्ट अटैक, स्ट्रोक और कार्डियोवैस्कुलर जैसी जानलेवा बीमारियों का कारण बनता है।

एक खतरनाक स्मोकिंग होने के बावजूद हुक्के का चलन भारत में तेजी से बढ़ रहा है

भारत में आज कल हर छोट बडे़ शहरों और मॉल्‍स में हुक्‍का बार या शीशा लाउंज पॉपुलर हो रहे हैं। खासकर युवा वर्ग अकसर बार में हुक्के के कश लेते हुए देखे जाते हैं। हालांकि कुछ लोगों का मानना है कि हुक्का पीना सिगरेट पीने से ज्यादा नुकसानदेह नहीं होता। ऐसे लोगों का कहना होता है कि हुक्के से खींचा जाने वाला तंबाकू पानी से होते हुए आता है इसलिए वह ज्यादा नुकसानदेह नहीं होता। लेकिन हाल ही सामने आई एक रिसर्च से पता चला है कि हुक्का भी सिगरेट के बराबर हार्ट को नुकसान पहुंचाता है। इससे दिल की बीमारी होने खतरा बढ़ जाता है।

यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया की रिसर्च के मुताबिक हुक्के में इस्तेमाल किए जाने वाले हशिश (एक प्रकार का ड्रग) सेहत के लिए हानिकारक होता है। रिपोर्ट में बताया गया है कि जो लोग हुक्का पीते हैं उनकी धमनियां सख्त होने लगती हैं और हार्ट प्रॉब्लम होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा कुछ लोग मानते हैं कि हुक्का सिगरेट से कम नुकसान करती है, लेकिन ऐसा नहीं है। हुक्का पीने वाले लोगों को दिल की बीमारी होने का उतना ही खतरा है, जितना कि धूम्रपान करने वाले लोगों को होता है।

वहीं ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक हुक्का में जिस तंबाकू का इस्तेमाल होता है, उसमें कई तरह के अलग-अलग फ्लेवर का भी इस्तेमाल होता है। यही वजह है कि आज कल युवा इसे ज्यादा पसंद कर रहे हैं। हुक्के का स्वाद बदलने के लिए उसमें फ्रूट सिरप मिलाया जाता है, जिससे किसी भी तरह का विटामिन नहीं मिलता। लोगों को लगता है कि हुक्के में मिलाया जाने वाला यह फ्लेवर स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। इसके अलावा हुक्के में सिगरेट की ही तरह कार्सिनोजन लगा होता है जिससे कैंसर होने की संभावना प्रबल होती है। हुक्के का धुआं ठंडा होने के बाद भी नुकसान पहुंचाता है। यह हार्ट अटैक, स्ट्रोक और कार्डियोवैस्कुलर जैसी जानलेवा बीमारियों का कारण बनता है।

शोधकर्ताओं के मुताबिक हुक्के में भी सिगरेट की तरह हानिकारक तत्व व निकोटीन पाए जाते हैं, जो सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। इसलिए लोगों को यह मानना बंद कर देना चाहिए कि इसकी लत नहीं लग सकती। हुक्के में मौजूद तंबाकू में 4000 तरह के खतरनाक रसायन होते हैं। हुक्के के बारे में सच यही है कि इसका धुआं सिगरेट के धुएं से भी ज्यादा खतरनाक होता है लेकिन बहुत से लोग इसके मिथकीय धारणाओं में विश्वास कर हुक्के को लाभदायक मानने की भूल करते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App