ताज़ा खबर
 

Weight Loss की इस दवा से कैंसर का खतरा, बाज़ार से ली गई वापस, अमेरिकी एजेंसी ने कहा- तुरंत सेवन बंद कर दें

FDA America, Belviq Medicine for Weight Loss, Side Effects of Belviq Medicine, Prevention and Cure: कई जगहों पर ये दवा लोरसेरिन नाम से भी बिकती है। खबर के अनुसार, Eisai कंपनी ने इस दवा पर रोक लगा दी है

health, health news, health update, fda, fda america, weight loss, weight loss medicine, belviq medicine for weight loss, side effects of belviq medicine, cancer, cancer patients in india, symptoms of cancer, treatment of cancer, early diagnosis of cancer, precautions for cancerवजन घटाने वाली इस दवा को खाने से हो सकता है कैंसर, जानें क्या है मामला

FDA America, Belviq Medicine for Weight Loss, Side Effects of Belviq Medicine, Prevention and Cure: अमेरिका की फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने दवा कंपनी Eisai को अपने वजन कम करने वाली दवा बेल्विक पर रोक लगाने को कहा है। उनके अनुसार, इस दवा को खाने से कैंसर का खतरा बढ़ता है। एफडीए ने सख्त होकर Eisai को बेल्विक और बेल्विक एक्सआर (Belviq XR) की मार्केट में बिक्री पर पाबंदी लगाने को कहा है। ‘सीएनएन हेल्थ’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार, इस दवा के फायदे से अधिक नुकसान हैं। हालांकि, इस दवा का सेवन कर रहे लोगों को एफडीए ने किसी प्रकार की कैंसर स्क्रीनिंग करवाने की सलाह नहीं दी है।

बेल्विक से बढ़ता है कैंसर होने का खतरा: ‘टाइम’ की वेबसाइट पर छपी एक खबर के अनुसार, हाल में हुए शोध से ये साबित होता है कि बेल्विक खाने वाले लोगों में कैंसर होने का खतरा अधिक होता है। शोध के मुताबिक ये दवा का सेवन करने वाले प्रतिभागियों में 7.7 प्रतिशत लोग कैंसर का शिकार हुए। इसके अलावा, रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख भी किया गया है कि बेल्विक दवा के इस्तेमाल से लोगों में पैनक्रियेटिक कैंसर, कोलोरेक्टल और फेफड़ों का कैंसर अधिक देखने को मिलता है। हालांकि, इसके अत्याधिक इस्तेमाल से ही लोगों को इन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। वहीं, एफडीए ने मरीजों को सारी बेल्विक दवा फेंकने की सलाह तो दी ही है साथ ही, डॉकटर्स को भी मरीजों को इस दवा का विकल्प बताने को कहा गया है।

क्यों इस्तेमाल करते थे लोग ये दवा: मोटापा और दिल से जुड़ी बीमारियों के रोगी इस दवा का इस्तेमाल अपना वजन घटाने के लिए करते थे। 2012 में बेल्विक को एफडीए द्वारा ही मंजूरी दी गई थी। बेल्विक ऐसी पहली दवाई है जिससे लोगों को बिना किसी हृदय रोग के खतरे के वजन घटाने में मदद मिली। हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल और डायबिटीज टाइप 2 के मरीज भी अपना वजन नियंत्रित करने के लिए इस दवा का सेवन करते थे। मंजूरी मिलने से पहले इस दवा को लेकर हुए टेस्ट में ये बात साबित हुई थी कि दूसरों की तुलना में इस दवा का इस्तेमाल करने वाले लगभग आधे लोगों ने साल भर में 5 प्रतिशत वजन घटाया जबकि एक-चौथाई लोगों ने 10 प्रतिशत तक वजन घटाया।

और कौन-से हैं वजन घटाने वाले दवाई: बेल्विक की तरह ही Qsymia भी वजन घटाने में मदद करता है। रिपोर्ट की मानें तो इसके सेवन से लोग बेल्विक से ज्यादा वजन घटाते हैं। साथ ही ये दवा बेल्विक की तुलना में सस्ता होता है। वहीं, 2014 में कॉन्ट्रेव नाम की दवा को भी मंजूरी दी गई थी जो बेल्विक के तरह ही वजन घटाने में सक्षम है। हालांकि, कई लोगों में ये दवा खाने से आत्महत्या जैसे विचार आने लगते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 17.58 करोड़ लोगों के PAN नहीं हुए हैं आधार से लिंक, 31 मार्च तक का है वक़्त
2 Samsung Galaxy A20s: 1,000 रुपये सस्ता हुआ तीन रियर कैमरे वाला यह फोन, Amazon पर नई कीमत के साथ उपलब्ध
ये पढ़ा क्या?
X