scorecardresearch

Fatty Liver: लिवर में फैट जमा होने से बढ़ जाती हैं कई स्वास्थ्य समस्याएं, आचार्य बालकृष्ण से जानिए घरेलू उपचार

फैटी लीवर का इलाज करने के लिए घरेलू नुस्ख़े बहुत काम आते हैं। आइए आचार्य बालकृष्ण से जानते हैं-

fatty liver symptoms
इस बीमारी से ग्रस्त लोग या तो लिवर के सिकुड़ने से परेशान होते हैं (File Photo)

लिवर मानव शरीर का एक महत्वपूर्ण अंग है। लिवर का कार्य खाना पचाने से लेकर पित्त बनाने तक का है। इसके अलावा लिवर शरीर को संक्रमण से लड़ने का कार्य भी करता है। लिवर हमारे शरीर में ब्लड शुगर को नियंत्रित करने से लेकर शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालने के साथ वसा कम करने और प्रोटीन बनाने में मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

अधिक खाने, शराब पीने और अनुचित मात्रा में वसा युक्त भोजन करने से फैटी लीवर जैसे रोग होने की संभावना रहती है। आचार्य बालकृष्ण के मुताबिक लिवर का इलाज घर बैठे किया जा सकता है। आइए जानते हैं-

फैटी लीवर होने के कारण (Causes of Fatty liver in Hindi)

आचार्य बालकृष्ण के मुताबिक फैटी लिवर के इलाज से पहले इसके होने का कारण पता होना बेहद जरूरी है। इसलिए फैटी लिवर की समस्या को खत्म करने से पहले सामान्य कारणों को पता होना आवश्यक है। चूंकि इसके जरिए बड़े लोगों के साथ ही बच्चों में भी फैटी लिवर होने की संभावना को रोका जा सकता है। फैटी लिवर के सामान्य कारण निम्नलिखित हैं-

  • मोटापा
  • आनुवांशिकता
  • वायरल हेपाटाइटिस
  • अत्यधिक शराब पीना
  • मधुमेह या डायबिटीज</li>
  • ब्लड में वसा का लेवल ज्यादा होना
  • फैटी फूड और मसालेदार खाने का सेवन
  • पीने के पानी में क्लोरीन की अत्यधिक मात्रा
  • स्टेरॉयड, एस्पिरीन या ट्रेटासिलीन जैसी दवाइयों का लंबे समय तक सेवन

सूखे आंवला का चूर्ण (Dry Amla Powder)

सूखे आंवले का चूर्ण 4 ग्राम की मात्रा में दिन में तीन बार पानी के साथ लेने से 20-25 दिनों में लिवर के रोग ठीक हो जाते हैं। आंवला एंटी-ऑक्सीडेंट्स और विटामिन सी से भरपूर होता है, जो लिवर की कार्यप्रणाली को बेहतर बनाता है। आंवला का सेवन करने से लिवर से हानिकारक टॉक्सिन्स निकल जाते हैं। इसके लिए रोजाना 3-4 कच्चे आंवले का सेवन करें। फैटी लिवर के इलाज के लिए सूखे आंवले का इस तरह इस्तेमाल करने से जल्दी आराम मिलता है।

करेले का जूस (Bitter Gourd Juice)

करेले में पाए जाने वाले खास तरह के तत्व फैटी लीवर की समस्या को रोकने में मदद करते हैं। इसलिए आचार्य बालकृष्ण का कहना है कि करेले का सेवन फैटी लिवर के मरीजों के लिए फायदेमंद हो सकता है। डाइट में करेले की सब्जियों और जूस का सेवन बढ़ा देने से कुछ दिनों के भीतर लक्षण कम होने लगते हैं। हालांकि इसकी मात्रा चिकित्सक से पूछकर ही लें।

हल्दी (Benefits of Turmeric)

भारत के हर घर में हल्दी का प्रयोग मसाले के रूप में किया जाता है। आपको बता दें कि हल्दी फैटी लिवर के इलाज में भी उपयोगी है। लिवर संबंधी समस्याओं में हल्दी का उपयोग करने से इसका हेपेटो-प्रोटेक्टिव गुण लीवर की कार्यप्रणाली को बनाए रखने में मदद करता है।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X