ताज़ा खबर
 

फैटी लिवर से बढ़ता है Diabetes का खतरा, जानिए क्या हैं इस बीमारी के लक्षण और घरेलू उपाय

Fatty Liver, Fatty Liver Symptoms, Fatty Liver Precautions, Fatty Liver and Diabetes, Fatty Liver Home Remedies: अदरक, हल्दी, एलोवेरा और अलसी जैसे घरेलू सामग्रियां भी फैटी लिवर की परेशानी को कम करता है।

फैटी लिवर से डायबिटीज का खतरा अधिक, जानिए क्यां है इसके घरेलू उपचार

Fatty Liver, Fatty Liver Symptoms, Fatty Liver Precautions, Fatty Liver and Diabetes, Fatty Liver Home Remedies: हालिया आंकड़ों के अनुसार, दुनिया भर में 25 प्रतिशत लोग फैटी लिवर की परेशानी से जूझ रहे हैं। इस बीमारी में लिवर की कोशिकाओं में अधिक मात्रा में फैट जमा हो जाता है। यह बीमारी लोगों को तब घेरती है जब उनके लिवर में फैट (वसा) की मात्रा लिवर के भार से 10 प्रतिशत अधिक हो जाती है। कई शोध से ये साबित होता है कि फैटी लिवर के मरीजों को भविष्य में कई जानलेवा बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है जिनमें से डायबिटीज प्रमुख है। ‘मेडिकल न्यूज टुडे’ की एक रिपोर्ट के अनुसार, फैटी लिवर से मोटापा होने का खतरा भी बढ़ जाता है।

फैटी लिवर और डायबिटीज: ‘द हेल्थसाइट’ पर छपी खबर के अनुसार, फैटी लिवर से पीड़ित लोगों के हार्मोन में कई बदलाव देखने को मिलते हैं। वहीं, फैटी लिवर के कारण लिवर के टिश्यूज में सूजन आ जाती है या लिवर के आस-पास चर्बी जमा हो जाती है, जिससे लिवर को काम करने में परेशानी आती है।। इसके अलावा, फैटी लिवर होने की वजह से माइटोकॉन्ड्रिया का कार्य प्रभावित होता है। शरीर में ऊर्जा संरक्षण और वितरण का काम माइटोकॉन्ड्रिया द्वारा ही किया जाता है। हार्मोनल बदलाव और शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित नहीं रख पाने से लोग मधुमेह के शिकार हो जाते हैं।

फैटी लिवर के लक्षण: ‘ऑनली माय हेल्थ’ की एक खबर की मानें तो फैटी लिवर के सामान्य तौर पर कोई बाहरी लक्षण नहीं दिखाई देते। लेकिन, थकान की स्थिति में या फिर दायें एब्डोमन के ऊपरी हिस्से में दर्द होने पर अथवा वजन में गिरावट होने पर सावधान हो जाना चाहिए। जरूरी नहीं कि अगर आप शरीर से पतले हैं तो आप इस बीमारी की चपेट में नहीं आएंगे, इसलिए सतर्क रहना बहुत जरूरी है। इसके अलावा, भूख नहीं लगने पर या भ्रम की स्थिति में भी लोगों को डॉक्टर को दिखाना चाहिए।

इन घरेलू नुस्खों का करें इस्तेमाल:  फैटी लिवर के मरीजों को अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना चाहिए ताकि वो किसी दूसरे भयंकर बीमारी का शिकार न हो जाएं। ऐसे में कुछ घरेलू उपायों का इस्तेमाल करके लोग खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। ‘माय उपचार’ की एक खबर के अनुसार, ग्रीन टी इस बीमारी से लड़ने में बेहद फायदेमंद होता है। ग्रीन टी में मौजूद तत्व अत्याधिक फैट और वसा वाले टिश्यूज को नष्ट करने में प्रभावी होते हैं। इसके अलावा, करेला भी इसे काबू में रखने में कारगर है। वहीं, एंटी ऑक्सीडेंट गुणों से भरा नींबू भी फैटी लिवर की समस्या में आराम पहुंचाता है। संतरा, पपीता, अनानास और जामुन जैसे फल भी फैटी लिवर को कम करने में सक्षम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bigg Boss 13: रश्मि देसाई को थी सोरायसिस की समस्या, जानिए क्या हैं इसके कारण और लक्षण
2 प्यार के हेल्थ इफेक्ट, जानिए लव लाइफ का आपकी सेहत से क्या है संबंध
3 अरविंद केजरीवाल को चाइनीज फूड है बेहद पसंद, कनॉट प्लेस के इस फूड कॉर्नर में मनाते हैं बर्थ डे और मैरिज एनिवर्सरी पार्टी
ये पढ़ा क्या?
X