scorecardresearch

लैपटॉप के सामने घंटों बैठकर करते हैं काम? हो सकता है कंप्यूटर विजन सिंड्रोम; जानिए लक्षण और बचाव के तरीके

कंप्यूटर पर लगातार काम करने से क्या आप बड़ी बीमारी कंप्यूटर विजन सिंड्रोम के शिकार हो रहे हैं। जानिए लक्षण और बचाव के तरीके-

लैपटॉप के सामने घंटों बैठकर करते हैं काम? हो सकता है कंप्यूटर विजन सिंड्रोम; जानिए लक्षण और बचाव के तरीके
जब भी कंप्यूटर या लेपटॉप पर काम करें, इसे पर्याप्त दूरी पर रखें। आंखों पर असर कम पड़ेगा। photo-freepik

Computer Vision Syndrome Symptoms: निजी क्षेत्र में काम करने वाले लोगों पर काम का बहुत दबाव होता है। उन्हें दिन भर कंप्यूटर और लैपटॉप पर काम करना पड़ता है। हर दिन कई घंटे कंप्यूटर लैपटॉप पर काम करने से व्यक्ति धीरे-धीरे कंप्यूटर विजन सिंड्रोम नामक खतरनाक बीमारी का शिकार हो जाता है। कंप्यूटर, मोबाइल फोन का अधिक इस्तेमाल करने से आंखों में कई तरह की समस्याएं होने लगती हैं, लेकिन ध्यान न देने के कारण समस्या इतनी गंभीर हो जाती है कि व्यक्ति को इसका एहसास भी नहीं होता है।

यह रोग उन लोगों को होता है जो लंबे समय तक कंप्यूटर, टेलीविजन, मोबाइल देखते हैं। इससे आंखों पर काफी दबाव पड़ता है। इससे आंखें थक जाती हैं। सिर्फ काम करने वाले लोगों में ही नहीं, बल्कि आजकल यह समस्या युवाओं में भी ज्यादा देखने को मिल रही है। आइए जानते हैं क्या हैं इस बीमारी के लक्षण और कैसे इंसान इस बीमारी का शिकार हो जाता है।

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम के लक्षण

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम की शुरुआत सूखी आंखों से होती है। एक व्यक्ति को अक्सर लगता है कि उसकी आंखों में धूल, गंदगी है। साथ ही कुछ लोग स्क्रीन या टीवी देखते समय अपनी पलकें लगातार खुली रखते हैं और झपकाना भूल जाते हैं। इससे आंखों में पानी आ जाता है। आंखों में सूजन के कारण आंखें लाल हो जाती हैं। धुंधला दिखता है। इस रोग में पीठ और गर्दन में दर्द होता है।

इस प्रकार कंप्यूटर विजन सिंड्रोम से बचें

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम से बचने के लिए टीवी, लैपटॉप स्क्रीन देखते समय चश्मा पहनना जरूरी है। साथ ही कंप्यूटर पर काम करते समय कुछ ब्रेक लें। किसी भी स्क्रीन को बहुत करीब से न देखें। कंप्यूटर स्क्रीन और आंखों के बीच की दूरी कम से कम 25 से 30 इंच होनी चाहिए। साथ ही कंप्यूटर पर काम करते समय एक ही पोजीशन में न बैठें। बीच-बीच में बैठने के तरीकों में बदलाव करते रहें। काम करते समय पलकें झपकाना न भूलें। बीच-बीच में आंखों की एक्सरसाइज करते रहें। जिससे आपकी आंखों को आराम मिलेगा और आपकी आंखों की सेहत भी ठीक रहेगी।

आंखों का करें व्यायाम

कंप्यूटर विजन सिंड्रोम से बचने के लिए हर 4 सेकेंड में कम से कम 2 मिनट के लिए लगातार अपनी पलकें झपकाएं और फिर तेजी से आंखें बंद कर लें। इसे कुछ सेकेंड के लिए बंद रखें और फिर आंखें खोलें। इस प्रक्रिया को दिन में 4 से 5 बार दोहराएं। इससे तनाव कम होगा, और आंखों की थकान दूर होगी और आंखों में फिर से चिकनाई आएगी।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट