गर्मियों में सीमित मात्रा में ही खाएं ये 6 मौसमी फल और सब्जियां, इंफेक्शन और बीमारियों से रहेंगे दूर

Health Tips: अंगूर में पानी की मात्रा अधिक होती है, ऐसे में गर्मियों में इसे खाना फायदेमंद हो सकता है। लेकिन सीमित मात्रा में ही खाएं नहीं तो एलर्जी, मोटापा या पाचन संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं

healthy diet, healthy diet chart, healthy diet plan, seasonal foodखानपान में कोताही छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों की प्रमुख वजह हो सकती है

Good Health: स्वास्थ्य विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि लोगों को मौसम के अनुरूप अपनी डाइट में बदलाव करना चाहिए। अपने आहार में सीजनल फूड्स को शामिल करने से न केवल लोगों की इम्युनिटी बेहतर होती है बल्कि बीमारियों और इंफेक्शन से बचाने में भी ये मददगार है। खानपान में कोताही छोटी से लेकर बड़ी बीमारियों की प्रमुख वजह हो सकती है। सेहतमंद रहने के लिए हेल्दी डाइट और लाइफस्टाइल फॉलो करने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं कि गर्मियों में कौन से मौसमी फल और सब्जियों को खाना फायदेमंद होगा –

आम: गर्मियों को फलों के राजा आम का महीना भी कहा जाता है। दुनिया भर में अधिकतर लोग इस फल को खाना पसंद करते हैं। सीमित मात्रा में इसे खाने से कई स्वास्थ्य परेशानियां दूर हो सकती हैं। लू व अन्य मौसमी बीमारियों को दूर करने में कच्चा आम बेहद लाभकारी है।

बैंगन: फैट, कैलोरीज और सोडियम को एब्जॉर्ब करने में बैंगन का सेवन सहायक है। लेकिन इसमें सोलनाइन नामक केमिकल मौजूद होता है जो शरीर में सूजन बढ़ाने का काम करता है। ऐसे में जरूरत से ज्यादा खाने से बचें।

मूली: सर्दी-खांसी से छुटकारा पाने में मूली का सेवन भी फायदेमंद है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन-सी मौजूद होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाते हैं और संक्रमण से बचाव करने में मददगार हैं। सीमित मात्रा में इसे खाने से कई बीमारियों पर काबू पाया जा सकता है। ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में सहायक है मूली, जानें दूसरे फायदे

केला: आम की तरह ही केला में भी नैचुरल शुगर पाया जाता है। रोज सीमित मात्रा में इसके सेवन से ब्लड प्रेशर काबू में रहता है, भूख कंट्रोल करने में मदद मिलती है। साथ ही, फूड क्रेविंग को दूर करने में भी ये सहायक है। हालांकि, ज्यादा खाने के बाद अगर दांतों की सफाई नहीं करते हैं तो इससे दांतों में सड़न की शिकायत हो सकती है।

चेरीज: यूरिक एसिड से लेकर ब्लड शुगर कंट्रोल करने में चेरीज मददगार साबित हो सकती हैं। ऐसे में गर्मियों में इसका सेवन करना चाहिए। लेकिन जरूरत से ज्यादा खा लेने से पेट संबंधी दिक्कतें हो सकती हैं क्योंकि इसमें डाइटरी फाइबर की अधिकता होती है। साथ ही, इसमें जरूरी मिनरल्स और विटामिन्स की कमी होती है। खाने के बाद रखें इन बातों का ध्यान, बेहतर रहेगा स्वास्थ्य

हरे मटर: हरे मटर में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर के लिए जरूरी हैं। लेकिन इसमें विटामिन-डी और कैल्शियम की कमी हो सकती है। साथ ही, ज्यादा मटर खाने से मोटापे का खतरा भी बढ़ता है।

Next Stories
1 शरीर में दिखें अगर ये 5 लक्षण तो हो सकती है विटामिन-डी की कमी, जानें कैसे करें दूर
2 Diabetes से ग्रस्त हैं माता-पिता तो जानिये आपको कितना है इस बीमारी से पीड़ित होने का खतरा?
3 थकान मिटाने के साथ ही गठिया-बाय की बीमारी में भी कारगर हैं मूली के पत्ते, इस तरह करें इस्तेमाल
यह पढ़ा क्या?
X