Blood Pressure के मरीज डाइट में शामिल करें पोटैशियम से भरपूर ये 5 फूड्स, जानिये

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार पोटैशियम एक जरूरी पोषक तत्व है जो शरीर को ब्लड प्रेशर की समस्या से दूर रखता है

high blood pressure, high bp, potassium
पोटैशियम की कमी से शरीर में सोडियम लेवल बढ़ने लगता है जिससे ब्लड प्रेशर का स्तर उच्च हो जाता है

High Blood Pressure Remedies: हाई ब्लड प्रेशर की समस्या आज के समय में बहुत आम हो चुकी है। इसके साथ ही दिल की बीमारियों की शुरुआत होती है। ऐसे में मरीजों को अपने स्वास्थ्य का खास ख्याल रखना चाहिए। बता दें कि सामान्य ब्लड प्रेशर (Normal BP Reading) 120/80 mm Hg को माना जाता है। स्लैश के ऊपर वाले अंकों को सिस्टॉलिक ब्लड प्रेशर और निचले हिस्से को डायस्टॉलिक ब्लड प्रेशर कहते हैं। रक्तचाप का स्तर 140/90 होने पर माना जाता है कि व्यक्ति का ब्लड प्रेशर हाई है।

हाई बीपी में जरूरी है पोटैशियम: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार पोटैशियम एक जरूरी पोषक तत्व है जो शरीर को ब्लड प्रेशर की समस्या से दूर रखता है। हाइपरटेंशन, हार्ट डिजीज, स्ट्रोक और हार्ट अटैक के खतरे को कम करने के लिए पोटैशियम युक्त फूड्स को डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है। जिन फूड्स में पोटैशियम अधिक होता है, उच्च रक्तचाप में उन्हें खाना फायदेमंद हो सकता है। आइए जानते हैं ऐसे फूड्स जो इस पोषक तत्व से भरपूर होते हैं।

अलसी के बीज: अलसी के बीज जिसे आम भाषा में फ्लैक्स सीड्स कहते हैं, पोटैशियम से भरपूर होती है। इसे लोग कच्चा खा सकते हैं या फिर ब्लेंड करके स्मूदी बनाकर सेवन कर सकते हैं। इससे ब्लड प्रेशर तो कंट्रोल में रहेगा ही, साथ ही वजन घटाने में भी अलसी के बीज मददगार होते हैं। बता दें कि मोटापा भी दिल की बीमारी के प्रमुख कारणों में से एक हैं।

केला: साल भर मिलने वाला एक आम फल है केला जो पोटैशियम से भरपूर होता है। साथ ही, ये आयरन का भी बेहतरीन स्रोत होता है जो ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मदद करता है। इसे लोग कच्चा भी खा सकते हैं और सीरियल के साथ भी सेवन कर लें। यही नहीं, केला में वजन घटाने में मदद करता है।

एवोकाडो: क्रीमी और मेलो फ्लेवर का एवोकाडो पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें प्रचुर मात्रा में पोटैशियम होता है जो ब्लड प्रेशर के स्तर को नियंत्रित रखता है। पोटैशियम की कमी से शरीर में सोडियम लेवल बढ़ने लगता है जिससे ब्लड प्रेशर का स्तर उच्च हो जाता है।

मछली: हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर शरीर में पर्याप्त मात्रा में पोटैशियम नहीं रहेगा तो इससे दिल की धड़कनें प्रभावित होती हैं। साथ ही, ब्लड में पोटैशियम की मात्रा कम होने से हार्ट बीट अचानक तेज हो जाती है जिससे कई हृदय रोग की चपेट में आने का खतरा होता है। मछली में पोटैशियम के साथ ही प्रचुर मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड्स होते हैं जो दिल के लिए फायदेमंद होता है।


चना: शाकाहारियों और वीगन लोगों के लिए चना को प्रोटीन का बेहतर स्रोत माना जाता है। रात भर के लिए इन्हें पानी में फुला दें, फिर सुबह दूसरी सामग्रियों के साथ ब्लेंड करके हमस बना लें। चना में पोटैशियम तो होता ही है, साथ ही वजन घटाने में भी इसका सेवन फायदेमंद होते हैं।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
मध्‍य प्रदेश: धर्मांतरण के आरोप में नेत्रहीन दंपति समेत 13 लोग गिरफ्तारMP Satna Christian, MP Satna priest, MP Hindu conversion, Christian priest Arrest, Christian priest conversion, Christian conversion Hindu