ताज़ा खबर
 

डेंगू में क्या खाएं और किनसे बनाएं दूरी? सब कुछ जानिए यहां

मच्छर के काटने के करीब 3 से 14 दिनों में इसके लक्षण दिखने लगते हैं। ऐसा होने पर तुरंत इलाज शुरू करवा दें। हालांकि इस दौरान पीड़ित को कुछ खास खिलाना होगा और कुछ फूड्स से दूरी बनवानी होगी। जो हम आपको बताएंगे...

दवाओं के साथ परहेज भी बरतना होगा। (फोटो सोर्स: Getty Images/Thinkstock)

मौसम में बदलाव जारी है। बारिश के साथ साथ गर्मी का भी प्रकोप लोगों को झेलना पड़ रहा है। यही मौसम लोगों को बिस्तर लगा देता है। माना जा रहा है कि जुलाई से लेकर अक्टूबर तक ऐसा ही मौसम रहने वाला है। सीजनल बीमारियों के साथ जानलेवा डेंगू लोगों को अपनी चपेट में ले रहा है। अस्पतालों में तो लाइनें लगने लगी हैं। लेकिन इस मौसम में डेंगू के वार को बेअसर करने का एक ही तरीका है। लक्षण दिखते ही तुरंत पीड़ित को को बेहतर इलाज मुहैया कराएं। लेकिन यहां हमें एक खास बात का ख्याल रखना होगा। वह यह कि दवाओं के साथ परहेज भी बरतना होगा।

जुलाई से अक्टूबर के समय में यह जानलेवा मच्छर डेंगू सबसे ज्यादा लोगों अपना शिकार बनाता है। डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। मादा एडीज इजिप्टी मच्छर की पहचान आसानी से की जा सकती है। इसके शरीर पर भूरी धारियां होती हैं। मादा एडीज इजिप्टी मच्छर ज्यादा ऊंचाई तक नहीं उड़ पाते। यह मच्छर दिन में ही लोगों को काटते हैं। मच्छर के काटने के करीब 3 से 14 दिनों में इसके लक्षण दिखने लगते हैं। ऐसा होने पर तुरंत इलाज शुरू करवा दें। हालांकि इस दौरान पीड़ित को कुछ खास खिलाना होगा और कुछ फूड्स से दूरी बनवानी होगी। जो हम आपको बताएंगे…

क्या खाएं

पपीते की पत्ती
डेंगू के इलाज में पपीते की पत्ती तो रामबाण इलाज के तौर पर इस्तेमाल की जाती है। पपीते की पत्ती तो आसानी से मिल ही जाएगी। इसकी पत्ती को पीस कर इसका करीब 30 एमएल जूस मरीज को पिलाएं। दवाओं के साथ पपीते के पत्ते का जूस भी मरीज को देना जारी रखें। इससे कोई नुकसान नहीं होता। कुछ ही दिन में मरीज की प्लेटलेट्स बढ़ने लगेंगी। यह हमारे डाइजेशन सिस्टम को भी सुधारता है।

अनार
अनार में भरपूर मात्रा में न्यूट्रिएंट्स और मिनरल पाए जाते हैं। इनकी ही बॉडी को इस दौरान सबसे ज्यादा जरूरत होती है। मरीज को अनार अच्छी मात्रा में खिलाए इससे थकावट नहीं लगती। पपीते की पत्ती की तरह ही अनार भी प्लेटलेट्स का काउंट बढ़ाने में मदद करता है।

नारियल पानी
डेंगू का एक बड़ा कारण डिहायड्रेशन भी होता है। इसलिए पीड़ित के शरीर में पानी में की कमी न होने दें। इस दौरान मरीज को नारियल पानी पिलाएं। इसमें प्रचुर मात्रा में इलेक्ट्रोलायट्स और न्यूट्रिएंट्स होते हैं।

ब्रोकली
विटामिन के बढ़ाने का सबसे बढ़िया सोर्स ब्रोकली है। यह ब्लड प्लेटलेट्स को तेजी से रिजनरेट करता है। इसलिए ब्रोकली को डेंगू पेशेंट की डाइट में जरूर शामिल करें।

ये फूड्स बिल्कुल न खिलाएं

फ्राइड फूड्स
डेंगू पीड़ित शख्स को जितना हो सके हल्का खाना ही खिलाएं। मरीज के लिए फ्राइड फूड्स जहर समान है। ऐसा खाना खाने से फैट जनरेट होगा जो हाई ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल का कारण बनता है।

स्पाइसी फूड्स
फ्राइड फूड्स की तरह स्पाइसी फूड्स को मरीज के आस पास भी न आने दें। डेंगू से पीड़ित इंसान अगर स्पाइसी फूड्स खाएगा तो उसके पेट में एसिड बनना शुरू हो जाएगा। यह पेट की दीवारों को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देगा।

Next Stories
1 चिकनगुनिया वाले जगहों पर जानें से पहले रखें इन बातों का खास ध्यान
2 मांसपेशियों में होने वाले दर्द को करने के आसान उपाय
3 चाय में मिलाएं ये चीजें तो रहेंगे फिट और हेल्दी
ये पढ़ा क्या?
X