ताज़ा खबर
 

प्रदूषण के खतरे से बचा सकती है ये चाय, ऐसे करें तैयार

स्वास्थ्य विशेषज्ञ ल्यूक कौटिन्हो ने इस चाय के बारे में बताया है। अपने इंस्टाग्राम पर इस चाय को बनाने की विधि शेयर की है।

Author नई दिल्ली | November 12, 2018 3:02 PM
प्रतीकात्मक चित्र।

देश में वायु प्रदूषण का स्तर आए दिन बढ़ रहा है खासतौर पर राजधानी दिल्ली में हालत अधिक भी खस्ता है। साथ ही सर्दियां शुरु होने के कारण वातावरण में स्मॉग बढ़ता जा रहा है। वायु प्रदूषण विश्वभर के लिए मुख्य चिंताओं में से एक है। इसके कारण अस्थमा, म्यूकस उत्पादन, साइनसिटिस, सांस लेने में दिक्कत खांसी, सीओपीडी और अन्य श्वसन बीमारियों के मामले बढ़ रहे हैं। वायु प्रदूषण आपके स्वास्थ्य, त्वचा और जीवनशैली को बुरी तरह प्रभावित करता है जिसके कारण आप बीमार हो सकते हैं। हम आपको एक सरल और प्रभावी चाय के बारे में बता रहे हैं जिसे आप अपनी रसोई में मौजूद मसालों और जड़ी बूटियों का उपयोग करके घर पर ही बना सकते हैं। यह चाय फेफड़ों में जमे बलगम को साफ करने और इन्हें डिटॉक्स करने में मदद करती है।

स्वास्थ्य विशेषज्ञ ल्यूक कौटिन्हो ने इस चाय के बारे में बताया है। अपने इंस्टाग्राम पर इस चाय को बनाने की विधि शेयर करने के साथ उन्होंने लिखा है कि यह चाय पीने से शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिल सकती है। उन्होंने इस चाय को ‘मैजिक लंग टी’ नाम दिया है। आइए जानते हैं कैसे बनाते हैं इस चाय को।

चाय बनाने के लिए आवश्यक सामग्री

अदरक का एक इंच का टुकड़ा
एक सिनेमन(दालचीनी) स्टिक
आधा चम्मच तुलसी के सूखे पत्ते या 3-4 ताजा पत्तियां
एक चम्मच सूखा हुआ ओरिगैनो
दो पिसी इलायची
एक चुटकी अजवायन
एक चौथाई चम्मच जीरा
1-3 लौंग
सौंफ़

चाय बनाने की विधि
सभी सामग्रियों को एक बर्तन में लेकर दो कप पानी के साथ उबाल लें। 10 मिनट तक उबालें और फिर छान लें। मीठा करने के लिए इसमें शहद या गुड़ मिला सकते हैं। गर्म चाय का सेवन करें।

वायु प्रदूषण से होने वाले नुकसान:

सांस से जुड़े रोग जैसे एम्फिसीमा, ब्रोंकाइटिस और अस्थमा।
खांसी या गले का बार-बार खराब होना।
फेफड़ों और दिल पर दबाव बढ़ना।
छाती में दर्द, सूखा गला, सिरदर्द या मतली।
संक्रमण का बढ़ना।
थकान।
रेस्पाइरेटरी सिस्टम में सेल्स का डैमेज होना।
जीवनकाल घटना।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App