ताज़ा खबर
 

सर्दियों में इन ड्रिंक्स को पीने से प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मिलेगी मदद, जानिये इम्युनिटी बूस्ट करने में कैसे है मददगार

रस्तोगी बताते हैं, "प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली एक कप तेज कड़क चाय सुबह-सुबह लेना आपको दिनभर ऊर्जा देती है। साथ ही काम के बाद यही थोड़ी हल्की चाय लेने से आपको थकान से मुक्त करती है।"

Life Styleएक कप कहवा चाय देगी जबर्दस्त ऊर्जा। (फोटो- गेटी इमेजेस)

जब कड़कड़ाती सर्दी पड़ रही हो और आप ठंड से कांप रहे हो तो ऐसे में आप गर्मागरम चाय से कैसे मना कर सकते हैं? यह हमें सिर्फ ठंड से नहीं बचाती है, बल्कि हमें ऊर्जा के साथ-साथ थोड़ी राहत भी देती है। फिर भी शायद दैनिक जीवन की हड़बड़ी के चलते हम चाय को चुनने के लिए ज्यादा सोच-विचार नहीं करते हैं।

लक्ष्मी टी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष अतुल रस्तोगी ने सर्दियों में प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली चाय की सिफारिश की है। इनमें कई ऐसे हैं जो बॉडी की प्रतिरक्षा शक्ति बढ़ाने के साथ-साथ गर्म भी रखती हैं।

मसाला चाय: ‘मसाला’ शरीर को तुरंत ऊष्मा देता है। दालचीनी, इलायची, लौंग और अदरक जैसे मसालों का मिश्रण आपको गर्म रखता है। इन मसालों में जीवाणुरोधी, एंटीफंगल और विरोधी गुण होते हैं जो खांसी, सर्दी और मौसमी एलर्जी को दूर रखने के लिए तेजी से काम करते हैं।

अदरक की चाय: अदरक शरीर के विभिन्न प्रकार के दर्द से राहत दिलाने में मदद करता है। इसे काली चाय के साथ या दूध के साथ लिया जा सकता है। इस चाय के स्वास्थ्य लाभों को बढ़ाने के लिए चीनी की जगह गुड़ का प्रयोग किया जा सकता है, जो रक्त परिसंचरण और प्रतिरक्षा को बढ़ाता है।

तुलसी हरी चाय: तुलसी और हरी चाय में शक्तिशाली जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, एंटिफंगल और प्रतिरक्षा-बढ़ाने वाले गुण होते हैं। औषधीय तत्व के साथ इसमें विटामिन ए, विटामिन सी और जस्ता भी प्रचुर मात्रा में होता है। स्वाद में हल्का लेकिन बायोएक्टिव यौगिकों से भरी हुई, हरी चाय शरीर में चयापचय की दर को बढ़ाती है। साथ ही ऑक्सीडेटिव तनाव और रक्त शर्करा के स्तर को कम करती है।

कश्मीरी कहवा: हरी चाय के स्वाद वाले केसर, दालचीनी, इलायची, लौंग, चेरी, सेब और किशमिश जैसे सूखे मेवे और पाइन नट्स, पिस्ता, अखरोट, बादाम, काजू, सूखे खुबानी और खजूर के संयोजन के साथ, ‘कश्मीरी कहवा’ अच्छी चाय होती है। यह एक पेय है, जो त्वचा को कोमल बनाती है। आपके वजन घटाने में मदद करती है। पाचन में सहायता करती है, तनाव को कम करती है।

दार्जिलिंग चाय: दार्जिलिंग चाय खट्टे फल, फूलों जैसी एक अलग प्राकृतिक स्वाद देती है। चाय में मौजूद फ्लेवोनोइड्स या फाइटोन्यूट्रिएंट से भरपूर प्लांट पिगमेंट कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए जाना जाता है। कोलेस्ट्राल ही उच्च रक्तचाप की एक बड़ी वजह होती है। चाय की पत्तियों में मौजूद पॉलीफेनोल्स सूजन और लो ब्लड शुगर से लड़ने में मदद करते हैं।

रस्तोगी बताते हैं, “प्रतिरक्षा बढ़ाने वाली एक कप तेज कड़क चाय सुबह-सुबह लेना आपको दिनभर ऊर्जा देती है। साथ ही काम के बाद यही थोड़ी हल्की चाय लेने से आपको थकान से मुक्त करती है। साथ ही आपकी स्नायुओं को राहत पहुंचाती है। सर्दियों में चाय का कोई समय नहीं है। कभी भी लिया जा सकता है। यह अद्भुत स्वास्थ्य लाभों के साथ आराम, ताज़गी और कायाकल्प करती है।”

Next Stories
1 डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण माना जाता है मशरूम, जानें क्या-क्या हैं फायदे
2 बदलते मौसम में सता रहा है बीमार पड़ने का डर तो गांठ बांध लें ये 4 बातें
3 डायबिटीज में प्याज का रस माना गया है फायदेमंद, ब्लड शुगर काबू करने में मददगार
ये पढ़ा क्या?
X