ताज़ा खबर
 

हाथ जलने पर भूलकर भी न करें ये 5 काम, हो सकता है भारी नुकसान

Burn Home Remedies: एक्सपर्ट्स की मानें तो मामूली जलने पर एंटी-बायोटिक दवाओं को यूज करने की जरूरत नहीं होती है

burn remedies, burn home remedies, how to treat burns, tips to treat burns, what to do after burning skin, what to do after burning while cooking, jalne par gharelu nuskha, jalne par kya lagaaye, jalne par medicine, jalne par kya upchaar karna chahiye, jalne par kya kare, jalne par kya lagaye, jalne par na kare ye kaam, burn medicine, burn treatmentहाथ जलने पर कम से कम 20 मिनट तक पानी से हाथ धोएं, पानी बिल्कुल रूम टेम्प्रेचर पर होना चाहिए

Burn Home Remedies: इन दिनों कोरोना वायरस के चलते ज्यादातर लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। ऐसे में लोग ऑफिस के साथ-साथ घर के काम की जिम्मेदारी भी खुद ही निभा रहे हैं। किचन में काम करते समय कई बार लापरवाही या फिर अनजाने में लोग अपना हाथ जला लेते हैं। ऐसे में कोई पानी में हाथ डालता है तो कोई बर्फ रगड़ने की सलाह देता है। लेकिन जलने की स्थिति में सबसे पहले क्या करना चाहिए इसे लेकर लोगों में उलझन रहती ही है। हर कोई जलन को कम करने के लिए कई तरीके अपनाते हैं लेकिन कई बार ये उपाय नुकसानदायक भी साबित हो जाते हैं। ऐसे में आइए जानते हैं कि जलने से आराम पाने के दौरान कैसी गलतियां करने से बचना चाहिए…

ठंडे पानी से रहें दूर: एक्सपर्ट्स के अनुसार कहीं भी जलने पर सबसे पहले प्रभावित हिस्से को पानी के नीचे रखें। कम से कम 20 मिनट तक उसी स्थिति में रहें। हालांकि, इस बात पर ध्यान देना जरूरी है कि पानी बिल्कुल रूम टेम्प्रेचर पर होना चाहिए। जले हुए स्थान पर बर्फ रगड़ने या ठंडा पानी डालने से बचें। ऐसा करने से अफेक्टेड एरिया के टिश्यूज के डैमेज होने का खतरा बढ़ जाता है।

फफोलों को छूने से बचें: कई बार जलने के बाद उस जगह पर फफोले निकल आते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार अगर जलने के कारण आपको फफोले हो जाते हैं तो उन्हें छूने से बचें। ऐसा करने से हाथों में मौजूद कीटाणु फफोले के अंदर जा सकते हैं। वहीं, इन्हें फोड़ने की कोशिश भी न करें। एक्सपर्ट्स का मानना है कि ऐसा करने से आप खुद की मुश्किलें ही बढ़ाएंगे। इन्हें फोड़ने के कारण संक्रमण का खतरा होता है, इसलिए फफोलों को अपने हिसाब से ही ठीक होने दें। अगर आपको इसके कारण अधिक दर्द या परेशानी हो रही है तो डॉक्टर से बात करें।

एंटी-बायोटिक का न करें इस्तेमाल: एक्सपर्ट्स की मानें तो मामूली जलने पर एंटी-बायोटिक दवाओं को यूज करने की जरूरत नहीं होती है। बता दें कि इन दवाओं के इस्तेमाल से पूरा एरिया स्टरिलाइज हो जाता है, जिसकी आवश्यकता नहीं है। हमारी त्वचा में स्वस्थ बैक्टीरिया होते हैं जो त्वचा को अपने आप ठीक कर सकते हैं। हालांकि, एंटी-माइक्रोबियल दवाओं का इस्तेमाल किया जा सकता है।

टूथपेस्ट नहीं है सेफ: आमतौर पर रसोई में जल जाने पर ज्यादातर लोग प्रभावित हिस्से पर टूथपेस्ट लगा लेते हैं। हालांकि, एक्सपर्ट्स ऐसा नहीं करने की सलाह देते हैं। उनके अनुसार टूथपेस्ट, मक्खन या मायोनीज का इस्तेमाल आपके घाव की हालत और खराब कर सकते हैं। इसके बदले, आप ओवर द काउंटर (OTC) एंटी-माइक्रोबियल ऑइंटमेंट का उपयोग कर सकते हैं।

धूप में निकलने से बचें: अपने घाव को शुरुआती तीन दिनों तक सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से बचाएं। घर से बाहर निकलते समय जलने के कारण हुए घाव को ढ़क कर रखें। विशेषज्ञों के अनुसार सूरज की किरणों से प्रभावित हिस्से में छाले पड़ सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 थायरॉयड की समस्या से निजात पाने में मददगार हैं ये आयुर्वेदिक तरीके, जानिये
2 बाबा रामदेव बोले- उत्‍तराखंड सीएम, पूरी कैबिनेट को कोरोना की थी आशंका, सबको भिजवाया गिलोई, तुलसी आदि..
3 सिर्फ कोरोना वायरस ही नहीं, इन कारणों से भी होती है खांसी- जानिये