ताज़ा खबर
 

बहुत कम या बहुत ज्यादा मात्रा में लेते हैं कार्बोहाइड्रेट तो बढ़ सकता है जान जाने का जोखिम

अगर आप लंबी आयु चाहते हैं तो अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित कर दीजिए क्योंकि भोजन में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है।

जब आप कार्बोहाइड्रेट की अधिकता वाली डाइट खाते हैं तो आपको याददाश्त संबंधी रोग हो सकते हैं।

अगर आप लंबी आयु चाहते हैं तो अपने आहार में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा सीमित कर दीजिए, क्योंकि भोजन में जरूरत से कम या ज्यादा कार्बोहाइड्रेट की मात्रा लेने वालों को मौत का खतरा बना रहता है। यह बात हालिया एक शोध में सामने आई है। शोध में पाया गया है कि कार्बोहाइड्रेट में 40 फीसदी से कम या 70 फीसदी से ज्यादा ऊर्जा के सेवन से मौत का खतरा बढ़ जाता है। लेकिन कार्बोहाइड्रेट के रूप में 50-55 फीसदी ऊर्जा ग्रहण करने वालों को मौत का खतरा कम रहता है। शोध के सह-लेखक व बोस्टन स्थित हार्वर्ड टी. एच. चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में प्रोफेसर वाल्टर विलेट ने कहा, “इन नतीजों में एक साथ कई पहलू हैं, जो विवादास्पद रहे हैं। बहुत ज्यादा और बहुत कम कार्बोहाइड्रेट नुकसानदेह हो सकता है, लेकिन सबसे जो गौर करने वाली बात है वह वसा, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट का प्रकार है।”

लांसेट पब्लिक हेल्थ जर्नल में प्रकाशित शोध के तहत 45 से 64 साल की आयु वर्ग के 15,428 वयस्कों को शामिल किया गया। प्रतिभागियों में पुरुष 600-420 किलो कैलोरी ऊर्जा रोज ग्रहण करते थे, जबकि महिलाएं 500-3600 किलो कैलोरी। शोधकर्ताओं के आकलन के अनुसार, सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की आयु आवश्यकता से कम कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में चार साल अधिक पाई गई, जबकि अधिक कार्बोहाइड्रेट खाने वालों की तुलना में एक साल अधिक थी।

ज्यादा कार्बोहाइड्रेट खाने के नुकसान –

1. जब आप कार्बोहाइड्रेट की अधिकता वाली डाइट खाते हैं तो आपको याददाश्त संबंधी रोग हो सकते हैं।

2. कार्बोहाइड्रेट अधिक कैलोरी वाली डाइट नहीं होती, बल्कि इसका प्रभाव हमारे दिमाग की सक्रियता पर भी पड़ता है।

3. कार्बोहाइड्रेट रक्त में ग्लूकोज की मात्रा बढ़ा देता है। जिससे दिमाग में होने वाला रक्त संचार रुक जाता है और इससे मानसिक स्वास्थ्य पर भी गहरा असर पड़ता है।

4. कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा लेने से ह्रदय संबंधी रोगों का खतरा बढ़ जाता है। क्योंकि मोटापा होने के बाद शरीर को अन्य बीमारियाँ घेर लेती है।

कम कार्बोहाइड्रेट खाने के नुकसान –

1. जब हम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन कम मात्रा में लेते हैं तो इससे शरीर में फाइबर का स्तर भी कम हो जाता है। इससे हमारी पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है।

2. जब आप कार्बोहाइड्रेट की मात्रा कम लेते हैं तो इसका सीधा असर आपके दिमाग पर पड़ता है। इससे आपकी याददाश्त कमजोर होने लगती है।

3. कार्बोहाइड्रेट की कम मात्रा लेने से कोलेस्ट्रोल लेवल बढ़ने लगता है। जिससे आपको ह्रदय संबंधी रोगों का सामना करना पड़ सकता है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App