ताज़ा खबर
 

Diabetes: खाने के बाद 10 मिनट वॉक, डायबिटीज के मरीजों के लिए हो सकता है फायदेमंद…

Diabetes Types, Type 1 Diabetes, Type 2 Diabetes, Diet, Exercise: डायबिटीज के मरीजों को बहुत सी बातों का ध्यान रखने की जरूरत होती है। रोजाना खाने के बाद 10 मिनट टहलना उनके लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

diabetes, diabetes patients in inida, diabetes causes, diabetes precautions, how to control diabetes, type1 diabetes, type2 diabetes, healthy diet for diabetes patients, exercise for diabetes patients, diabetes patients eating tips, blood sugar level, genetic reason for diabetes, overweight leads to diabetesDiabetes: डायबिटिक मरीज इन चीजों को करें अपनी डाइट में शामिल

Diabetes Cause, Type 1 Diabetes, Type 2 Diabetes, Symptoms, Treatment, Diagnosis, Diet: सीनियर्स को डायबिटीज होने का खतरा अधिक होता है, लेकिन थोड़ी सी एक्सरसाइज से बड़ा बदलाव आ सकता है। डायबिटीज केयर में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया है कि खाने के बाद प्रत्येक दिन छोटा-छोटा वॉक(टहलना) ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है। यदि आप रात के खाने के बाद 10 मिनट टहलते हैं जो अधिक फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि यह पूरे दिन का सबसे लंबा खाना होता है।

टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने और डायबिटीज वाले लोगों के लिए स्वास्थ्य में सुधार के लिए एक्सरसाइज और टहलना एक बेहतरीन विकल्प है। अगर आपको टाइप 2 डायबिटीज है तो ब्रिस्क वॉकिंग वर्कआउट आपके ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल रखने में मदद कर सकता है और शरीर के वजन को भी बनाए रखने में मदद कर सकता है। अमेरिकन कॉलेज ऑफ स्पोर्ट्स मेडिसिन और अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन ने सप्ताह में कम से कम पांच दिन टहलने की सलाह दी है।

डायबिटीज के मरीजों को कब टहलना चाहिए: टहलने का सबसे अच्छा समय खाने के एक से दो घंटे बाद होता है जब आपका इंसुलिन और ब्लड शुगर का लेवल कम हो जाता है। सुबह के दौरान एक्सरसाइज करने की सलाह दी जाती है, क्योंकि यह दिन के दौरान इंसुलिन को अधिक होने से बचाता है, खासकर टाइप 1 डायबिटीज वाले लोगों में।

टहलना डायबिटीज के मरीजों के लिए क्यों फायदेमंद होता है:
– ब्लड ग्लुकोज के स्तर को कम करता है।
– इंसुलिन का उपयोग करने के लिए शरीर की क्षमता में सुधार करता है।
– हृदय रोग या स्ट्रोक का खतरा कम करता है।
– बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हुए अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है।
– तनाव के स्तर को कम करता है।
– मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाता है।

टाइप 2 डायबिटीज इन दो तरीको से वॉक कर सकते हैं:
पहला: अपने पूरे दिन में टहलने का तरीका खोजें। प्रत्येक दिन आपके द्वारा उठाए जाने वाले कदमों की संख्या की गणना करने के लिए एक पेडोमीटर का उपयोग करें, और एक दिन में 2,000 एक्सट्रा स्टेप्स लेने की कोशिश करें। कुछ हफ़्ते के बाद, देखें कि क्या आप अपने लक्ष्य में अतिरिक्त 500 अधिक स्टेप्स लिए हैं।

दूसरा: टाइप 2 डायबिटीज वाले मरीज रोजाना वॉक करने के साथ-साथ एरोबिक्स एक्सरसाइज भी करें। इसमें अधिक प्रयास शामिल हैं, लेकिन डायबिटीज वाले मरीजों को इससे अधिक स्वास्थ्य लाभ हो सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 आखिर कहां से आया कोरोना वायरस और क्यों दुनिया भर में इसको लेकर मचा है हड़कंप?
2 Coronavirus In India: कोरोना वायरस को लेकर भारत भी अलर्ट पर, जानिए कितना खतरनाक है ये वायरस?
3 Remedies for Kidney Stones: किडनी स्टोन निकालने में असरदार है नींबू रस, जानिए तुलसी, जैतून जैसे अन्य घरेलु उपाय भी…
यह पढ़ा क्या?
X