ताज़ा खबर
 

डायबिटीज के मरीज अपनी डाइट में जरूर शामिल करें ये 4 चीजें, ब्लड शुगर लेवल हमेशा रहेगा कंट्रोल

अलसी के बीजों में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें मौजूद फाइबर और अल्फा लिनोलेनिक एसिड खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में कारगर हैं। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कंट्रोल में रखते हैं।

वर्तमान समय में तमाम व्यस्तताओं के बीच शुगर लेवल का अनियमित होना आम है

डायबिटीज यानी मधुमेह एक तरह की मेटाबॉलिक बीमारी है, जिसमें ब्लड शुगर लेवल अनियंत्रित रूप से घटता और बढ़ता है। खराब खानपान और अनियमित जीवन-शैली के कारण आज के समय में लोग गंभीर बीमारियों से ग्रस्त हैं। एक ऐसी ही बीमारी है डायबिटीज की। डायबिटीज के मरीजों को अपना ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित रखने की बेहद ही आवश्यकता होती है।

क्योंकि, खून में शुगर के बढ़ने से कई तरह की गंभीर और जानलेवा समस्याओं जैसे किडनी खराब हो जाना, मल्टीपल ऑर्गन फेलियर, हार्ट अटैक और ब्रेन स्ट्रोक का खतरा भी बढ़ जाता है। ऐसे में ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखने के लिए दवाइयों के अलावा खानपान का ध्यान रखना बेहद ही जरूरी है। क्या डायबिटीज रोगी खा सकते हैं लीची और केला जैसे मीठे फल?

मधुमेह के मरीज अपनी डाइट में ये 4 चीजें कर सकते हैं शामिल-

अलसी के बीज: अलसी के बीजों में कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें मौजूद फाइबर और अल्फा लिनोलेनिक एसिड खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने में कारगर हैं। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कंट्रोल में रखते हैं। नियमित तौर पर अलसी के बीजों का सेवन करने से दिल के दौरे का खतरा कम हो जाता है।

दूध: दूध में कैल्शियम और विटामिन-डी की अच्छी-खासी मात्रा मौजूद होती है। दूध डायबिटीज के रोगियों को पोषण देता है। ऐसे में आपको अपनी डाइट में दूध को शामिल करना नहीं भूलना चाहिए। इसके अलावा आप दूध से बनीं चीजें जैसे पनीर और दही का भी सेवन कर सकते हैं।

खजूर: खजूर में फाइबर की उच्च मात्रा होती है। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स, एंटी- डायबिटीक की तरह काम करते हैं। ऐसे में मधुमेह के मरीजों को अपने खाने में खजूर जरूर शामिल करना चाहिए। आप किसी भी समय खजूर का सेवन कर सकते हैं।

बीन्स: डायबिटीज यानी मधुमेह की बीमारी से ग्रस्त लोगों को अपने खाने में बीन्स को जरूर शामिल करना चाहिए। क्योंकि, इसमें कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें कैल्शियम और फाइबर की अच्छी-खासी मात्रा मौजूद होती है। बीन्स का नियमित तौर पर सेवन करने से जल्दी भूख नहीं लगती और हमेशा पेट भरा-भरा महसूस होता है। साथ ही बीन्स के सेवन से शुगर लेवल भी नियंत्रित रहता है।

Next Stories
1 कोरोना के बाद फंगल इंफेक्शन ने कर दिया है परेशान? बाबा रामदेव से जानिये छुटकारा पाने के लिए योगासन
2 इम्युनिटी बढ़ाने के साथ ही डायबिटीज को भी कंट्रोल करता है भिंडी का पानी लेकिन ये लोग भूलकर भी ना करें इसका सेवन
3 हल के जरूरी रचनात्मक पहल
ये पढ़ा क्या?
X