ताज़ा खबर
 

सुबह उठने से लेकर रात को सोने तक, क्या-क्या खा सकते हैं डायबिटीज के मरीज? जानिये

High Blood Sugar Diet: दोपहर में हरी सब्जियों के साथ दाल खाएं, इनका GI बेहद कम होता है

स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को सुबह उठते ही सीधे चाय या कॉफी नहीं पीना चाहिए

Diabetes Daily Routine Diet: टाइप 2 डायबिटीज एक गंभीर जीवन शैली से जुड़ा रोग है जिसने दुनिया भर में करोड़ों लोगों को अपना शिकार बनाते हैं। भारत में भी इस बीमारी के मरीजों की संख्या बहुत अधिक है। जरूरी बात ये है कि देश में मधुमेह की पहचान कई बार समय पर नहीं हो पाती है। इस कारण भारत को डायबिटीज की राजधानी कहा जाता है। इस बीमारी के मरीजों के शरीर में कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी देखने को मिलती है। मरीजों में मोटापा, रक्तचाप, सूजन, आंखों से जुड़ी समस्या और स्ट्रोक का खतरा होता है। हालांकि, दवाइयों के साथ ही अच्छी और हेल्दी डाइट लेने से भी मरीजों को लाभ होगा। आइए जानते हैं –

मरीज इनसे करें सुबह की शुरुआत: स्वास्थ्य विशेषज्ञ मानते हैं कि डायबिटीज के मरीजों को सुबह उठते ही सीधे चाय या कॉफी नहीं पीना चाहिए। इससे शरीर में कॉर्टिसोल की मात्रा बढ़ जाती है जो परिणामस्वरूप शुगर लेवल को भी बढ़ाता है। इसकी जगह मरीज हेल्दी ड्रिंक्स का सहारा ले सकते हैं। आप चाहें तो गर्म पानी में मेथी, जीरा या फिर आंवला डालकर पी सकते हैं। साथ ही, भिगोए हुए सूखे मेवे भी खाएं।

नाश्ता: दिन भर का सबसे जरूरी भोजन नाश्ता होता है, ऐसे में इसका ध्यान रखना जरूरी है। ऐसे में समय पर और पौष्टिक नाश्ता करना आवश्यक है। डायबिटीज के मरीजों को कभी भी नाश्ता स्किप नहीं करना चाहिए। मधुमेह रोगी नाश्ते में दलिया, ओटमील, स्मूदी, सब्जी भरी हुई रोटी (स्टफ्ड रोटी) या फिर एक बड़े कटोरे में ताजे फल भी खा सकते हैं। इसके अलावा, उबले अंडे, चिकेन ब्रेस्ट या फिर सालमन का सेवन भी हेल्दी ऑप्शन है। पोहा, चिवड़ा या उपमा भी खाया जा सकता है। गर्मियों में कैसी होनी चाहिए डायबिटीज रोगियों की डाइट, जानें

खाने से कुछ देर पहले: मधुमेह रोगियों को हर कुछ देर पर भूख लग जाती है, ऐसे में इस क्रेविंग को दूर करने के लिए लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स युक्त फूड्स, नट्स या फिर सीड्स का सेवन कर सकते हैं।

लंच: दोपहर में हरी सब्जियों के साथ दाल खाएं, इनका GI बेहद कम होता है। दाल और पल्सेस को लोग नियमित रूप से खा सकते हैं। मांसाहारी लोग स्टीम्ड या ग्रिल्ड चिकेन और सीफूड्स खा सकते हैं। साथ ही, रोजाना दही, रायता या छाछ का सेवन करें। इसमें चीनी न डालें। सामान्य आटे की जगह रागी, ज्वार, बाजरे के आटे की 1-2 रोटी खाएं। साथ ही, कभी-कभी मरीज आधा कटोरा चावल भी खा सकते हैं। जबकि ब्राउन राइस या क्विनोआ का सेवन डेली बेसिस पर भी किया जा सकता है। भिंडी का पानी ब्लड शुगर करता है कंट्रोल, जानें घर में कैसे बनाएं

स्नैक्स: शाम में भुना चना, बाजरे का चिवड़ा, यॉगर्ट, एक कटोरा फल खा सकते हैं। लो फैट मिल्क से बनी बगैर चीनी की चाय पी सकते हैं।

डिनर: सोने से करीब 2-3 घंटे पहले डिनर करें, लो कार्ब्स और लो फैट युक्त भोजन करें। आप चाहें तो ग्रिल्ड पनीर, तोफु, चिकेन, फिश या फिर सोया डिश खा सकते हैं। इसके अलावा, रात के खाने में सूप या सलाद ले सकते हैं।

Next Stories
1 हाई बीपी के मरीज डाइट में शामिल करें ये फूड्स और जूस, रक्तचाप काबू करने में मिलेगी मदद
2 बेहतर Immunity के लिए रोज पीयें नींबू-पानी, दूर होंगी मोटापे से लेकर अपच जैसी दिक्कतें
3 दस दिन में स्पूतनिक टीके का हो सकेगा आपात इस्तेमाल
यह पढ़ा क्या?
X