ताज़ा खबर
 

Diabetes Control: डायबिटीज कैसे कंट्रोल करें? जानिए ब्रेकफास्ट और एक्सरसाइज़ से क्या है कनेक्शन

Diabetes Control: डायबिटीज का आपके ब्रेकफास्ट और उससे पहले किए जाने वाले एक्सरसाइज से सीधा संबंध है। आइए जानते हैं कि ब्रिटेन में हुए शोध का क्या परिणाम निकला..

Diabetes, Diabetes control, Blood sugar, how to control Diabetes, exercises for Diabetes, type 2 Diabetes, डायबिटीज, टाइप 2 डायबिटीज, ब्लड शुगर, टायबिटीज के लिए एक्सरसाइज,tests for Diabetes, lab test for Diabetes,Diabetes: डायबिटीज कंट्रोल करने का नया तरीका

Diabetes Control: एक अध्ययन के अनुसार भोजन और व्यायाम के समय में परिवर्तन कर लोग मधुमेह के स्तर पर नियंत्रण रख सकते हैं और ऐसी दिनचर्या बना सकते हैं जिससे मधुमेह और मोटापे से लड़ने में मदद मिल सके। ब्रिटेन के एक विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं (Diabetes New Research) के अनुसार सुबह के नाश्ते (Breakfast) से पहले व्यायाम (Exercise) करने वाले लोग वसा की अधिक मात्रा घटाने में कामयाब होते हैं। इसके विपरीत जो सुबह के भोजन के बाद व्यायाम करते हैं उनके शरीर से वसा की मात्रा का क्षरण कम होता है।

जर्नल ऑफ क्लिनिकल एंडोक्रायनोलोजी एंड मेटाबोलिज्म में प्रकाशित शोध के अनुसार सुबह व्यायाम करना स्वास्थ्य के लिए बेहतर है। शोधकर्ताओं ने छह हफ्ते तक मोटापे के शिकार या अतिरिक्त वजन वाले 30 पुरुषों पर शोध करने के लिए उन्हें दो समूहों में बांटा। एक समूह में उन्हें रखा गया जिन्होंने सुबह के नाश्ते के बाद व्यायाम किया और दूसरे में उन्हें जिन्होंने नाश्ते के बाद व्यायाम किया। शोधकर्ताओं ने कहा कि अध्ययन में उन्होंने भी भाग लिया जिन्होंने अपनी दिनचर्या में कोई बदलाव नहीं किया।

हालांकि छह हफ्ते चले शोध में भाग लेने वालों का वजन कम नहीं हुआ लेकिन इससे उनके स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव अवश्य पड़ा। शोध में प्रतिभागियों के शरीर ने इन्सुलिन के प्रति बेहतर प्रतिक्रिया दी, उनके रक्त में शर्करा की मात्रा नियंत्रण में रही और मधुमेह और दिल की बीमारी की संभावना कम देखी गयी।

ब्लड शूगर टेस्ट के लिए इन लैब टेस्ट को कराते हैं डॉक्टर

  1. फ़ास्टिंग प्लाज़्मा ग्लूकोज़ टेस्ट
  2. पोस्टप्रेंडियल ब्लड शुगर टेस्ट (खाने के बाद)
  3. ओरल ग्लूकोज़ टॉलरेंस टेस्ट (ओजीटीटी)
  4. रैन्डम प्लाज़्मा ग्लूकोज़ टेस्ट
  5. एचबीए1सी टेस्ट
  6. फ्रुक्टोज़ामाइन टेस्ट (ग्लाइकेटेड सीरम प्रोटीन या ग्लाइकेटेड एल्ब्यूमिन टेस्ट)

शुगर की मात्रा कितनी होनी चाहिए और टेस्ट रिजल्ट से कैसे समझें..

  1. अगर लैब टेस्ट रिपोर्ट में शुगर की मात्रा एमजी/डीएल 100 के करीब है तो ये सामान्य है।
  2. वहीं अगर लैब टेस्ट रिपोर्ट में शुगर की मात्रा एमजी/डीएल 100-125 के बीच है तो ये प्री-डायबिटीज़ की स्थिति है यानी आपको अलर्ट होना चाहिए।
  3. इसके अलावा अगर लैब टेस्ट रिपोर्ट में शुगर की मात्रा एमजी/डीएल 126 से ज़्यादा है तो ये डायबिटीज का परिणाम है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Diabetes control: आर्टिफिशियल पैनक्रियाज सिस्टम आपके ब्लड शुगर को हमेशा रखेगा कंट्रोल, जानिए क्या है रिसर्च
2 Karva Chauth 2019: करवा चौथ का व्रत तोड़ने में भी जरूरी है सेहत का ख्याल
3 Karva Chauth 2019: करवाचौथ व्रत के लिए एक दिन पहले सेहत के लिए ऐसे करें तैयारी
ये पढ़ा क्या...
X