ताज़ा खबर
 

ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में रामबाण से कम नहीं ये फूड्स, जानें- इस्तेमाल का तरीका

इंटरनेशनल जर्नल फॉर विटामिन एंड न्यूट्रीशन रिसर्च में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, हर रोज़ 10 ग्राम मेथी का पानी पीने से ब्लड शुगर लेवल को कम किया जा सकता है।

Blood Sugar, Diabetes, Sugarब्लड शुगर को कंट्रोल करने में खानपान की अहम भूमिका है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखना सबसे ज़्यादा जरूरी होता है। इसमें दवाओं के साथ – साथ एक संतुलित डाइट की अहम भूमिका होती है। डायबिटीज़ मरीज़ों को नियमित अंतराल पर अपने ब्लड शुगर की जांच करवानी चाहिए और अपने खानपान का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए। अगर ब्लड शुगर लेवल ज़्यादा बढ़ जाता है तो हृदय रोग और हार्ट अटैक का ख़तरा भी बढ़ जाता है।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक ब्लड शुगर लेवल नियंत्रित करने में खानपान की बहुत महत्वपूर्ण भूमिका है। कई ऐसे फूड्स हैं जो डायबिटीज से पीड़ित व्यक्ति के साथ-साथ स्वस्थ इंसान के ब्लड शुगर को भी नियंत्रित रखने में मददगार है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही फूड्स के बारे में…

करेला : डायबिटीज़ के मरीजों के लिए करेले का सेवन रामबाण से कम नहीं है। डायबिटीज पीड़ित व्यक्ति यदि सुबह खाली पेट करेले का जूस पिए तो यह सबसे ज्यादा असरदार होता है। करेले में इंसुलिन – पॉलीपेप्टाइड – पी नामक बायो केमिकल पाया जाता है। यह हमारे शरीर में इंसुलिन का स्तर नियंत्रित रखता है और ब्लड शुगर को कंट्रोल रखता है। स्वस्थ इंसान को भी करेले का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। आप इसे सब्जी के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

लहसुन : लहसुन बढ़े हुए ब्लड शुगर को कम करने में बेहद फायदेमंद माना जाता है। इसमें कई एंटी ऑक्सीडेंट और इन्फ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। लहसुन इन्फ्लेमेशन को कम करता है।

मेथी:  इंटरनेशनल जर्नल फॉर विटामिन एंड न्यूट्रीशन रिसर्च में प्रकाशित एक शोध के अनुसार, हर रोज़ 10 ग्राम मेथी का पानी पीने से ब्लड शुगर लेवल को कम किया जा सकता है। मेथी में मौजूद पर्याप्त फाइबर पाचन प्रक्रिया को गति देता है। हर रात 10 ग्राम यानी एक से डेढ़ चम्मच मेथी के दानों को एक ग्लास पानी में भिगो दें। सुबह उस पानी को अच्छे से छानकर खाली पेट उसका सेवन करें।

जामुन: रिसर्च के मुताबिक, जामुन के बीज में कई ऐसे तत्व मौजूद होते हैं जो कि स्टार्च को चीनी में परिवर्तित होने की दर को धीमा कर देते हैं। इससे ब्लड शुगर लेवल बढ़ता नहीं है। जामुन के बीज इंसुलिन के नियमित स्राव में मदद करते हैं। इसके लिए  जामुन के बीज का पाउडर बनाकर प्रतिदिन 10 ग्राम के करीब उसका सेवन करें। जामुन के बीज का पाउडर आप चाहें तो बाज़ार से भी खरीद सकते हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बालों का झड़ना भी है थायराइड का लक्षण, इन संकेतों को भी न करें इग्नोर; जानिये बचाव का तरीका
2 लगातार सर्दी-जुकाम हो तो न करें नजरअंदाज, हो सकता है साइनस; जानें- इसकी वजह और लक्षण
3 पीला रंग देखने में होती है दिक्कत तो हो सकता है मोतियाबिंद, जानें क्या हैं दूसरे लक्षण
ये पढ़ा क्या?
X