ताज़ा खबर
 

अल्जाइमर का शुरुआती लक्षण हो सकता है तनाव, इन 6 फूड्स के सेवन से दूर हो सकती है समस्या

अल्जाइमर एक न्यूरोडिजनरेटिव डिसीज होता है जिसमें हमारी संज्ञानात्मक क्षमता और दैनिक जीवन की तमाम प्रक्रियाएं प्रभावित होती हैं।

प्रतीकात्मक चित्र

अमेरिकन जर्नल ऑफ साइकाइअट्री के एक शोध के मुताबिक तनाव या अवसाद अल्जाइमर का प्राथमिक लक्षण हो सकते हैं। अल्जाइमर एक न्यूरोडिजनरेटिव डिसीज होता है जिसमें हमारी संज्ञानात्मक क्षमता और दैनिक जीवन की तमाम प्रक्रियाएं प्रभावित होती हैं। शोधकर्ताओं ने 62 साल से 90 साल की उम्र के तकरीबन 270 ऐसे लोगों पर यह अध्ययन किया जिन्हें कोई मनोवैज्ञानिक समस्या नहीं थी। शोध में पाया गया कि चिंता, तनाव या अवसाद अल्जाइमर के शुरुआती लक्षणों में से एक होते हैं। अल्जाइमर रोग में मस्तिष्क में कोशिकाएं खुद ही बनती हैं और खत्म होने लगती हैं। इससे याद्दाश्त और मानसिक कार्यों में गिरावट आती है।

अवसाद के लक्षणों से निपटने के लिए अपने खान-पान पर ध्यान देना चाहिए। सही डाइट से इससे छुटकारा पाया जा सकता है। आइए जानते हैं कि वे कौन से फूड्स हैं जो इसमें आपकी मदद कर सकते हैं।

काजू – ऐसा कहा जाता है कि शरीर में जिंक की कम मात्रा अवसाद और चिंता की वजह होती है। ऐसे में आपको काजू खाना चाहिए। इसमें पर्याप्त मात्रा में जिंक पाया जाता है जो चिंता दूर करने में आपकी मदद करता है।

ग्रीन टी – ग्रीन टी में एमीनो एसिड होता है। एमीनो एसिड दिमाग को बूस्ट करने का काम करता है। हर रोज कम से कम दो या तीन कप ग्रीन टी पीना मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहद फायदेमंद होता है।

ब्लूबेरी – ब्लूबेरी में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके तमाम फायदे होते हैं। इसके अलावा यह विटामिन सी के भी बेहतरीन स्रोत होते हैं। दोनों चिंता और अवसाद दूर करने में बेहद कारगर हैं।

डार्क चॉकलेट – डार्क चॉकलेट भी एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है। इसमें पॉलीफेनाल्स और फ्लेवोनॉइड्स के बराबर एंटी-ऑक्सीडेंट होता है। यह ब्लड प्रेशर को नॉर्मल करता है जिससे आपका मानसिक स्वास्थ्य बेहतर रहता है।

टमाटर – टमाटर में लाइकोपीन होता है। यह न सिर्फ शरीर की कोशिकाओं को नुकसान पहुंचाने से बचाता है, बल्कि अल्जाइमर के खतरे को भी कम करता है।

अंडे – अंडे में विटामिन बी12 और कोलाइन प्रचूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं का निर्माण करता है, जिससे याददास्त बढ़ती है।


Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App