scorecardresearch

Dengue Prevention: दिल्ली समेत अन्य राज्यों में बढ़ रहा है डेंगू का प्रकोप, इन फूड्स के जरिए बढ़ा सकते हैं इम्‍यूनिटी

अपने आसपास की जगहों को साफ करके रखने से आप मच्छरों को सरलता से दूर रख सकते हैं। गमलों के पानी को हर हफ्ते बदलते रहें।

Dengue, dengue symptoms, symptoms of dengue, dengue, dengue fever, mosquito net, malaria, mosquito, malaria symptoms, dengue mosquito,
Dengue की बात करें तो ये छोटी-मोटी बीमारी नहीं है। (फोटो-Freepik)

Dengue fever: Symptoms, Treatment & Prevention: डेंगू बुखार हर साल लाखों लोगों की जान लेता है। हर साल मानसून में डेंगू एक बड़ी आबादी को प्रभावित करता है! डेंगू बुखार सबसे पहले कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों में होता है। मजबूत प्रतिरक्षा डेंगू को प्रभावी ढंग से रोकने में मदद कर सकती है। एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली विभिन्न बीमारियों के जोखिम को कम करती है। यह डेंगू के लक्षणों से लड़ने में भी मदद करेगा।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली का निर्माण डेंगू से लड़ने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो डेंगू को रोकने में मदद कर सकते हैं। यहां उन खाद्य पदार्थों की सूची दी गई है जो आपकी प्रतिरक्षा को मजबूत कर सकते हैं और डेंगू बुखार के खतरे को खत्म कर सकते हैं।

डेंगू में करें खट्टे फलों का सेवन

खट्टे खाद्य पदार्थ प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में मदद करते हैं। आपको बता दें कि विटामिन सी सफेद रक्त कोशिकाओं के उत्पादन में मदद करता है जो शरीर की रोग से लड़ने वाली कोशिकाएं मानी जाती हैं। ये खाद्य पदार्थ एंटीऑक्सिडेंट से भी भरे होते हैं जो शरीर को मुक्त कणों से होने वाले नुकसान से बचाते हैं। इसलिए डेंगू होने पर या उससे पहले ही आप अपनी डाइट में सीट्रस फ्रूइट्स को जोड़ लें, जिनमें नींबू, संतरा, अंगूर, कीवी आदि। मलेरिया के मच्छर शाम को काटते हैं, इसके लक्षण तेज बुखार और सिरदर्द हैं।

डेंगू में अदरक का इस्तेमाल

अदरक एक ऐसी जड़ी बूटी है जिसे आमतौर पर चाय में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अदरक चाय में स्वाद बढ़ाने के साथ ही स्वास्थ्य वर्धक भी है। जी हाँ ! अदरक भी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला भोजन है। अदरक गले में खराश, सूजन, जी मिचलाना और डेंगू बुखार के अन्य लक्षणों के इलाज में बहुत मददगार है।

एक गिलास दूध में चुटकी भर हल्दी बनाएं आपको हेल्दी

भारतीय किचन में हल्दी का उपयोग लगभग हर भोज्य पदार्थ में इस्तेमाल किया जाता है। इसे गोल्डन मसाला भी कहा जाता है। हल्दी औषधीय गुणों से भरपूर है। हल्दी प्रतिरक्षा प्रणाली के कामकाज में सुधार करने में भी मदद कर सकती है। यह मसाला एंटी-इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर होता है। आप दूध में थोड़ी हल्दी मिला सकते हैं या हल्दी की चाय पी सकते हैं। इसे विभिन्न खाद्य पदार्थों में भी जोड़ा जा सकता है।

संक्रमण से लड़ने में मदद करता है लहसुन

खाने में लहसुन एक बेहतरीन औषधि है। लहसुन भारत में लगभग हर रसोई का हिस्सा है। ज्यादातर मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाने वाला लहसुन बेहतर प्रतिरक्षा तंत्र बनाने में भी योगदान दे सकता है। लहसुन संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। चूंकि लहसुन में एंटीबैक्टीरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। इसके अलावा लहसुन में सल्फर की उपस्थिति बेहतर प्रतिरक्षा में योगदान करती है।

पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है दही

दही प्रोबायोटिक के लिए एक मजबूत विकल्प है जो प्रतिरक्षा प्रणाली के कामकाज को उत्तेजित करने में भी मदद करता है। आप दिन में किसी भी समय ताजा दही का आनंद ले सकते हैं, बस ध्यान रखें की सूरज ढलने की बाद दही का सेवन न करें तो आपके लिए बेहतर होगा। यह आपके लिए स्वास्थ्य लाभ से भरा हुआ है। दही आपके पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में भी आपकी मदद करता है।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए पालक का करें सेवन

पालक स्वास्थ्यप्रद पत्तेदार सागों में से एक है। पत्तेदार सब्जियां आपके आहार का एक अनिवार्य हिस्सा होनी चाहिए और पालक आपकी पहली पसंद हो सकती है। पालक विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट और बीटा-कैरोटीन से भरपूर होता है जो प्रतिरक्षा को बढ़ाने में मदद करता है। पालक फाइबर से भी भरपूर होता है जो वजन घटाने में भी मदद करता है।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए बादाम का करें सेवन

नट्स का सेवन एक हेल्दी विकल्प है। इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आप बादाम का सेवन कर सकते हैं क्योंकि यह विटामिन ई से भरपूर होता है। बादाम कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। दिन में कुछ बादाम दिल के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद कर सकते हैं।

पढें हेल्थ (Healthhindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट