नींद ना आना और रूखे बाल हो सकते हैं विटामिन A की कमी के लक्षण, बाबा रामदेव से जानें उपाय

शरीर में ‘विटामिन ए’ की कमी के कारण त्वचा रूखी-सूखी, चेहरे पर दाग-धब्बे, शरीर में कमजोरी, थकान, रूखे बाल, नींद ना आना, वजन घटना और निमोनिया जैसी समस्याएं हो सकती हैं।

Vitamin A Deficiency, Vitamin A Rich Foods, Symptoms Of Vitamin A Deficiency
विटामिन ए की कमी के कराण थकान और बार-बार जर्दी-जुकाम की समस्या हो सकती है (फोटो क्रेडिट- Thinkstock Images/Indian Express)

व्यक्ति को स्वस्थ रहने के लिए सभी तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है। इन्हीं में से एक है विटामिन A,यह एक तरह का घुलनशील विटामिन है, जो शरीर की इम्युनिटी को बूस्ट करने के साथ ही हड्डियों और आंखों की रोशनी को भी मजबूत करता है। इसके अलावा एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर ‘विटामिन ए’ शरीर की कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से बचाता है और फ्री रेडिकल्स को टूटने से रोकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो ‘विटामिन ए’ की कमी का शरीर पर बुरा असर पड़ता है। इससे ना सिर्फ बच्चों की ग्रोथ प्रभावित होती है बल्कि स्किन प्रॉब्लम्स भी हो सकती हैं।

‘विटामिन ए’ की कमी के लक्षण: योग गुरु बाबा रामदेव के मुताबिक शरीर में ‘विटामिन ए’ की कमी के कारण त्वचा रूखी-सूखी, चेहरे पर दाग-धब्बे, शरीर में कमजोरी, थकान, रूखे बाल, नींद ना आना, वजन घटना और निमोनिया जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इसलिए व्यक्ति को विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए, जिससे बॉडी में इसकी मात्रा कम ना हो।

बाबा रामदेव ने कुछ फ्रूड्स का जिक्र किया है, जिनके जरिए शरीर में विटामिन ए की कमी को पूरा किया जा सकता है।

गाजर: विटामिन ए से भरपूर गाजर का नियमित तौर पर सेवन करने से ना सिर्फ ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में मदद मिलती है बल्कि यह बॉडी में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी कम कर सकता है। आप चाहें तो रोजाना सुबह सलाद के तौर पर या फिर जूस के रूप में गाजर का सेवन कर सकते हैं।

शिमला मिर्च: शिमला मिर्च की सब्जी लोगों को बहुत पसंद आती है। पोषक तत्वों से भरपूर शिमला मिर्च में विटामिन सी, ए, विटामिन के, फाइबर और बीटा-कैरोटीन की अच्छी-खासी मात्रा होती है। इसमें बिल्कुल भी कैलोरी नहीं होती। यह ना सिर्फ बॉडी में विटामिन ए की कमी को पूरी करती है, बल्कि आयरन की कमी से भी निजात दिलाती है।

शकरकंद: शकरकंद को भी आप अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। पोटेशियम से भरपूर शकरकंद हाई ब्लड प्रेशर के खतरे को कम करती है। इसमें फाइबर की भी अच्छी-खासी मात्रा होती है, जिससे वजन को कंट्रोल किया जा सकता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट