ताज़ा खबर
 

Coronavirus In India: कोरोना वायरस को लेकर भारत भी अलर्ट पर, जानिए कितना खतरनाक है ये वायरस?

Coronavirus in India: पिछले एक महीने में हजारों को अपना शिकार बनाने वाला कोरोनावायरस के लक्षण भारत के भी अलग-अलग शहरों के कुछ लोगों में देखे गए हैं। जानिए किस तरह आप खुद को और अपने परिवार को इस जानलेवा वायरस से बचा सकते हैं।

Coronavirus in India, coronavirus, coronavirus Treatment, coronavirus cause, coronavirus news, coronavirus china, kerala coronavirus, coronavirus disease, coronavirus symptoms, coronavirus treatment, coronavirus infection, coronavirus outbreak, coronavirus in india, coronavirus news, coronavirus causes, coronavirus in india, coronavirus outbreak in india, coronavirus outbreak in kerala, kerala newsकोरोना से पहले बर्ड, स्वाइन फ्लू और इबोला जैसे वायरसों से जुड़ी यह समस्या सामने आ चुकी है कि इन बीमारियों के वायरस म्यूटेशन (यानी उत्परिवर्तन) का रुख अपनाने लगे हैं। इसका मतलब यह है कि मौका पड़ने पर वायरस अपना स्वरूप बदल लेते हैं, जिससे उनके प्रतिरोध के लिए बनी दवाइयां और टीके कारगर नहीं रह पाते हैं।

Coronavirus in India, symptoms, Cause, Treatment: विश्व भर में 3 हजार से भी अधिक लोगों को अपनी चपेट में लेने वाले कोरोनावायरस भारत में भी दस्तक दे चुका है। देश के अलग शहरों में इस वायरस से पीड़ित होने की आशंका पर लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भर्ती किये गए सभी लोग कुछ समय पहले ही चीन या हॉन्गकॉन्ग से लौटे हैं। वहीं, कोलकाता में एक थाई नागरिक मौत के बाद से सरकार और ज्यादा अलर्ट हो गई है। हालांकि, किसी भी व्यक्ति में कोरोनावायरस से संक्रमण अब तक प्रमाणित नहीं हुआ है। अब भारत भी कोरोनावायरस से पीड़ित लोगों को लेकर अलर्ट हो चुका है। सूत्रों के मुताबिक 400 सीट वाले एक बोइंग 747 विमान को मुंबई में किसी अपात उड़ान के लिए तैयार रखा गया है। चीन में कोरोना वायरस से 81 लोगों की मौत हो चुकी है।

इन शहरों में मिले हैं मामले- हिंदुस्तान टाइम्स में छपी एक खबर के अनुसार पटना के अलावा कोलकाता, चंडीगढ़ और जयपुर में भी लोगों में इस वायरस के लक्षण पाए जाने के बाद इन्हें अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। वहीं, दिल्ली में भी तीन लोगों को राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इनमें से दो लोग पिछले हफ्ते ही चीन से लौटे हैं जबकि तीसरे व्यक्ति को लौटे हुए एक महीना हो गया। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के महाराजगंज के एक युवक को भी जिला अस्पताल में जांच के लिए भर्ती किया गया। यह युवक चीन में रहकर मेडिकल की पढ़ाई करता है और कुछ दिन पहले ही लौटा है। हैदराबाद, मुंबई और बेगलुरु में भी सर्दी और बुखार के लक्षण के बाद कुछ लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बेहद खतरनाक है ये वायरस- खबर के मुताबिक चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के शोधकर्ताओं ने इस नए वायरस को 2002-03 में आए सार्स वायरस से अधिक खतरनाक बताया। इस वायरस के संक्रमण होने के 4 से 5 दिन बाद ही बीमारी के लक्षण दिखाई देते हैं। कोरोनावायरस के लक्षण आम फ्लू के तरह ही होते हैं, जिससे इसकी पहचान कर पाना मुश्किल है। चीन के ही एक और हेल्थ समूह ने इस वायरस के संक्रमण को और शक्तिशाली होने का दावा किया है। उनके अनुसार एक संक्रमित व्यक्ति अन्य तीन लोगों को इस वायरस की चपेट में लाता है।

कैसे करें बचाव- हालांकि, कोरोनावायरस से लड़ने के लिए अभी तक किसी भी प्रकार का वैक्सीन नहीं बना है। लेकिन भारत सरकार से लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) तक, सभी ने इस वायरस से बचने के लिए हेल्थ एडवायजरी जारी की है। इसके अनुसार सर्दी-जुखाम और निमोनिया से पीड़ित लोगों के संपर्क में आने से बचें, साथ ही अपने आसपास साफ-सफाई का ध्यान रखें। हाथों को बार-बार साबुन से अच्छी तरह से धोएं और कोशिश करें कि मास्क पहनकर ही बाहर निकलें। इसके अलावा जंगली और खेतों में रहने वाले जानवरों से दूर रहें। ऐहतियात बरतने पर आप इस वायरस से बच सकते हैं।

Live Blog

Highlights

    19:55 (IST)28 Jan 2020
    उज्जैन में भी मिला एक संदिग्ध मरीज

    इसके अलावा मध्य प्रदेश के उज्जैन में भी कोरोना वायरस का एक संदिग्ध मरीज मिला है, उसे अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है, जहां उसका इलाज जारी है. वायरस की पुष्टि के लिए नमूना जांच के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (एनआईवी) पुणे भेजा गया है.

    19:20 (IST)28 Jan 2020
    चंडीगढ़ में Corona virus का संदिग्‍ध मरीज

    चीन से फैल रहे Corona वायरस को लेकर पंजाब और चंडीगढ़ में दहशत है। मोहाली में कोरोना वायरस से संक्रमित संदिग्‍ध मरीज मिला है। 28 साल का यह युवक हाल में ही चीन की यात्रा कर लौटा है। इससे चंडीगढ़ और आसपास क्षेत्र में हड़कंप है। पंजाब सरकार कोरोना वायरस को लेकर सतर्क हो गई है। राज्‍य सरकार ने इसके मद्देनजर अलर्ट जारी किया है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने गाइडलाइंस जारी कर लोगों से एहतियात बरतने को कहा है।

    18:46 (IST)28 Jan 2020
    कोरोना वायरस के लक्षण और सावधानियां

    आरएमएल की मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. मीनाक्षी भारद्वाज ने कहा कि जहां तक सावधानी बरतने की बात है, कोरोना वायरस से पीड़ित मरीज़ को सांस की तकलीफ़, खांसी, ज़ुकाम और बुख़ार हो सकते हैं या इनमें से कुछ लक्षण हो सकते हैं. लेकिन पैनिक होने की ज़रूरत नहीं है. अगर कोई संभावित मरीज़ जो इन लक्षणों का हो और चीन से आए व्यक्तियों के सम्पर्क में भी रहा हो तो उसकी तुरंत जांच करानी चाहिए. ऐसे संभावित कोरोना वायरस के मरीज़ों से मेडिकल दूरी बना के रखें और इनकी तुरंत जांच कराएं या सरकारी अस्पताल या प्रशासन को सूचना दें.

    18:25 (IST)28 Jan 2020
    चीन के वुहान से भारतीय नागरिकों की निकासी योजना पर काम शुरू

    सूत्रों के मुताबिक 400 सीट वाले एक बोइंग 747 विमान को मुंबई में किसी अपात उड़ान के लिए तैयार रखा गया है. चीन में कोरोना वायरस से 81 लोगों की मौत हो चुकी है। चीन के हुबेई प्रान्त में कोरोना वायरस संक्रमण संकट के बीच भारत अपने नागरिकों को बाहर निकलने योजना भी बना रहा है. इस कड़ी में सोमवार को कैबिनेट सचिव राजीव गाबा के अध्यक्षता में बहु मंत्रालयी बैठक में सर्वाधिक प्रभावित वुहान शहर से भारतीयों की निकासी योजना पर काम शुरू करने का फैसला लिया गया. बीजिंग स्थित भारत का दूतावास चीनी प्रशासन के साथ मिलकर भारतीयों तक मदद पहुंचाने में भी लगा है।

    18:24 (IST)28 Jan 2020
    चीन से लौटी एकता PMCH में भर्ती

    बिहार के छपरा शहर की रहने वाली 29 साल की एकता कुमारी को पटना मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (पीएमसीएच)में सोमवार सुबह भर्ती कराया गया। एकता चीन में न्यूरो रिसर्च सेंटर में साइंटिस्ट हैं और वहां से पीएचडी कर रही हैं। वह 22 जनवरी को विमान से कोलकाता और वहां से ट्रेन से छपरा पहुंचीं। वहां उन्हें तेज बुखार हो गया। 

    18:04 (IST)28 Jan 2020
    दिल्ली में तीन संदिग्ध लोगों की पहचान

    दिल्ली में भी कोरोना वायरस के तीन संदिग्ध लोगों की पहचान की गई है। वायरस के संदिग्ध लोगों को आरएमएल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया हैं। जानकारी के मुताबिक ये लोग भी हाल ही में चीन से वापस लौटे हैं। इसलिए उनका सैंपल जांच के लिए पुणो स्थित राष्ट्रीय वायरोलॉजी संस्थान में भेज दिया गया है।

    17:25 (IST)28 Jan 2020
    ICMR-NIV पुणे भेजे जा रहे हैं सभी सैम्पल्स

    जिन लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं उनके टेस्ट सैम्पल्स पुणे के इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ विरोलॉजी भेजे जा रहे हैं। वहां के ऑफिशियल्स के अनुसार अब तक कुल 20 सैम्पल्स भेजे गए हैं जिनमें से 19 को जांच लिया गया है। ICMR-NIV की नई डाइरेक्टर अनुसार सैम्पल्स को चेक करने में जितना समय लग रहा है, उसे घटाने की पूरी कोशिश की जा रही है।

    17:04 (IST)28 Jan 2020
    इन बातों का रखेंगे ख्याल तो यात्रा के दौरान नहीं होगी परेशानी

    यात्रा के दौरान किसी भी तरह के जानवरों के संपर्क में आने से बचें।

    इसके अलावा सिंगल यूज मास्क को इस्तेमाल करने के तुरंत बाद फेक दें।

    पूरी तरह से पका हुआ खाना ही खाएं

    बीमार पड़ने पर अगर आप किसी डॉक्टर को दिखाते हैं तो उसे अपने पुराने अथवा आने वाला यात्रा की जानकारी अवश्य दें।

    16:31 (IST)28 Jan 2020
    यात्रा के दौरान इन बातों का रखें ख्याल

    कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से खुद को बचाने के लिए कुछ ऐहतियात बरतना बेहद जरूरी है। अगर आप कहीं यात्रा पर जा रहे हैं, तो इन बातों का रखें खास ख्यालसर्दी- जुखाम होने की स्थिति में अगर यात्रा जरूरी न हो तो उसे टालना बेहतर है। इसके अलावा यात्रा करते वक्त मास्क का इस्तेमाल करें, और जहां तक हो सके मास्क को बार-बार छूने से बचें।जब संभव हो, हाथों को अच्छी तरह धोते रहें।

    15:57 (IST)28 Jan 2020
    चीन में बन रहा एक नया अस्पताल

    बीबीसी में छपी रिपोर्ट के अनुसार, जहां से इस वायरस की शुरुआत हुई थी यानि कि चीन के वुहान शहर में छह दिनों के भीतर एक अस्पताल बनाने का काम जारी है, ताकि समय रहते मरीज़ों की इलाज किया जा सके। इस अस्पताल में 1000 बिस्तर लगाने की क्षमता होगी। चीनी सरकारी मीडिया द्वारा जारी किए गए वीडियो में देखकर ये पता लगाया जा सकता है कि अस्पताल के लिए 25 हज़ार वर्ग मीटर वाले एक इलाके में खुदाई का काम चालू हो चुका है।

    15:33 (IST)28 Jan 2020
    वैश्विक हेल्थ इमरजेंसी नहीं हुई है घोषित

    विश्व भर में कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप के बावजूद के बाद भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब तक इसे वैश्विक हेल्थ इमरजेंसी नहीं घोषित किया है। संयुक्त राष्ट्र के ट्विटर अकाउंट पर आए बयान के अनुसार डब्लूएचओ की आपात समिति ने निर्णय लिया कि है कि कोरोना वायरस से होने वाला खतरा फिलहाल एक वैश्विक स्वास्थ्य एमरजेंसी नहीं है, पर प्रकोप की जांच-पड़ताल करने, निगरानी बढ़ाने और रोकथाम के उपायों को सुदृढ़ करने के लिए टीम तैयार की गई है।

    15:02 (IST)28 Jan 2020
    जांच के लिए कराने होंगे ये टेस्ट

    साधारण फ्लू के जैसे ही कोरोना वायरस के भी लक्षण हैं, जिस वजह से आम बुखार और कोरोना वायरस में अंतर पता कर पाना बेहद मुश्किल है। आप इसे खुद से नहीं पता कर सकते, इसलिए  आपको लैब में टेस्ट कराना जरूरी है।  निमोनिया, फेफड़ों में सूजन, छींक आना, अस्थमा का बिगड़ना भी इसके लक्षण हैं।  इन समस्याओं की शिकायत होने पर नाक और गले का टेस्ट और ब्लड टेस्ट कराने बाद ही कोरोना वायरस की पुष्टि हो सकती है। वहीं, अगर इस वायरस का संक्रमण आपके सांस की नली और फेफड़ों तक पहुंच गया है तो यह निमोनिया का कारण बन सकता है।

    14:49 (IST)28 Jan 2020
    विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी जारी की है एडवाइजरी

    नए कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए डब्लूएचओ ने भी एडवायजरी जारी की है। ट्विटर पर जारी किये गए इस एडवाइजरी को संयुक्त राष्ट्र ने भी साझा किया है। इसमें उन्होंने कई तरह की चीजों से परहेज करने की सलाह दी है। एडवाइजरी के अनुसार सर्दी-जुखाम से पीड़ित लोगों के संपर्क में आने से बचें। इसके अलावा, साफ-सफाई को लेकर भी ऐहतियात बरतने की भी बात की गई है। अल्कोहल युक्त हैंडवाश से बार-बार हाथ धोते रहें, साथ ही जानवरों के संपर्क में आने से भी बचें।

    14:31 (IST)28 Jan 2020
    डायबिटीज और निमोनिया के रोगी बरतें अधिक सावधानियां

    कोरोना वायरस बड़ी ही तेजी से दुनिया के कई देशों में अपने पैर पसार रहा है। यह वायरस सार्स से भी अधिक शक्तिशाली बताया जा रहा है, साथ ही यह आसानी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है। कम इम्युनिटी होने की वजह से लोग इस वायरस की चपेट में आ रहे हैं, ऐसे में डायबिटीज और निमोनिया के मरीजों को अलर्ट हो जाने की जरूरत है। इन दोनों ही बीमारियों में लोगों का इम्युन सिस्टम कमजोर पड़ जाता है। इसके अलावा छोटे बच्चों और बूढ़ो को भी सतर्क रहने की सलाह दी जा रही है क्योंकि बाकियों की तुलना में बच्चे और बूढ़े ज्यादा जल्दी किसी भी बीमारी के घेरे में आते हैं।

    14:17 (IST)28 Jan 2020
    क्या एक इंसान से दूसरे इंसान में जा सकता है वायरस?

    भारत सरकार के राष्ट्रीय वेक्टरजनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के सलाहकार डॉ. ए सी धारीवाल के अनुसार इंसान से इंसान में संक्रमण फैलने का अब तक कोई पुख्ता प्रमाण नहीं मिला है। वहीं, ये वायरस इंसानों में पशुओं के माध्यम से आया है, इस बात को सभी वैज्ञानिक मान रहे हैं। इंसानों के माध्यम से भी फैलने की संभावना होने की वजह से लोग इस वायरस के प्रति अधिक सचेत हो गए हैं।

    14:00 (IST)28 Jan 2020
    आशंकितों को रखा जा रहा है आइसोलेशन वार्ड में

    भारत के कई शहरों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए जाने के बाद लोगों को अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड में रखा जा रहा है। बिहार के सारण जिले की एक युवती को फ्लू के बाद पीएमसीएच में भर्ती करवाया गया। वहीं, दिल्ली के राम मनोहर लोहिया में भी लोगों को आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। इसके अलावा, जयपुर, केरल के कई शहरों, चंडीगढ़, हैदराबाद, बेंगलुरु और मुंबई जैसे बड़े शहरों में भी कई लोगों में कोरोना वायरस के लक्षण पाए गए हैं।

    13:40 (IST)28 Jan 2020
    भारत में भी अलर्ट

    कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए भारत सरकार ने भी स्वास्थ्य विभाग को सतर्क रहने को कहा है। इस वायरस को लेकर भारत में भी सावधानी बरती जा रही है। देश के लगभग सभी बड़े हवाईअड्डों पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था की गई है। चीन और हॉन्गकॉन्ग से लौटे यात्रियों की थर्मल जांच की जा रही है, साथ ही पिछले कुछ समय में चीन से लौटे यात्रियों पर भी निगरानी रखी जा रही है। इसके अलावा सरकार, दूरदराज इलाकों के साथ ही जनजातीय इलाकों में भी लोगों को जागरुक करने में जुटी हुई है।

    13:29 (IST)28 Jan 2020
    हॉन्गकॉन्ग है दूसरा सबसे बड़ा पीड़ित देश

    चीन के अलावा भी दुनिया के विभिन्न हिस्सों में इस वायरस का कहर जारी है। अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, जापान, साउथ कोरिया जैसे कई देशों में कोरोनावायरस के मरीज पाए गए हैं। हालांकि, ये सभी मरीज कुछ समय पहले ही चीन से लौटे थे। वहीं, हॉन्गकॉन्ग चीन के बाद कोरोना वायरस से प्रभावित होने वाला दूसरा सबसे बड़ा देश है। हॉन्गकॉन्ग फ्री प्रेस की एक रिपोर्ट के अनुसार वहां अब तक इस वायरस के 456 मामले दर्ज हो चुके हैं।

    13:15 (IST)28 Jan 2020
    (nCoV) 2019 दिया गया है नाम

    इस नए वायरस को वैज्ञानिकों ने (nCoV)2019 नाम दिया है। उनके अनुसार यह नए तरह का वायरस 2002-03 के सार्स वायरस से भी अधिक खतरनाक है। इसमें मौजूद पैथोजेंस बेहद शक्तिशाली हैं और पल भर में लोगों को संक्रमित कर देते हैं। चीन में हजारों लोग इससे पीड़ित हैं और कई मरीजों की इस वायरस ने जान ले ली है।

    13:03 (IST)28 Jan 2020
    कोरोना वायरस के लक्षण

    कोरोना वायरस के लक्षण किसी आम फ्लू के तरह ही होते हैं जिससे इससे पहचानना बेहद मुश्किल है। सिरदर्द, नाक बहना, गले में लगातार खराश रहने पर लोगों को डॉक्टर के पास जाना चाहिए। इसके अलावा खांसी, सर्दी-जुखाम और बुखार भी इसके लक्षण हो सकते हैं। इससे पीड़ित लोग थकान और तबीयत ठीक नहीं महसूस होने की भी शिकायत करते हैं। इसके अलावा बार-बार छींक आना और अस्थमा का बिगड़ना भी इस वायरस की ओर संकेत करता है। वहीं, हालत ज्यादा गंभीर होने पर निमोनिया, फेफड़ों में सूजन और सांस लेने में तकलीफ भी हो सकती है।

     

      

    12:48 (IST)28 Jan 2020
    पशु से इंसान में आया है ये वायरस

    वैज्ञानिकों के अनुसार ये नया कोरोना वायरस पशुओं के माध्यम से इंसानों में आया है। कई विशेषज्ञों का मानना है कि ये वायरस सांप के जरिये लोगों में आया है क्योंकि चीन के कई प्रांतों में लोग सांप का मांस खाते हैं. डब्लूएचओ द्वारा जारी किए गए एडवायजरी में ये साफ तौर से लिखा हुआ है कि अभी कुछ समय के लिए जंगली और खेत में रहने वाले जानवरों से दूरी बना लें। वहीं, मानव से मानव के बीच संक्रमण को लेकर अभी तक वैज्ञानिक उलझन में ही हैं।

    12:37 (IST)28 Jan 2020
    क्या है कोरोना वायरस

    चीन से शुरू हुआ यह वायरस, कोरोना वायरस का एक प्रकार है। कोरोना वायरस कई किस्म के होते हैं लेकिन इनमें से छह को ही लोगों को संक्रमित करने के लिए जाना जाता था। लेकिन इस नए वायरस से इसकी संख्या 7 हो गई है। इस वायरस के जेनेटिक कोड के जांचने के बाद यह पता चला है कि अन्य कोरोना वायरस की तुलना में 'सार्स' मिलता-जुलता है। साथ ही इंसानों को संक्रमित करने की शक्ति रखता है।

    12:27 (IST)28 Jan 2020
    चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ ये कोरोनावायरस

    चीन के भीड़-भाड़ वाले इलाकों में से एक वुहान प्रांत से इस वायरस का फैलना शुरू हुआ। लगभग एक महीने में इस वायरस ने पूरे चीन में हजारों लोगों को अपना शिकार बनाया। वहां पूरी तरह पैर पसारने के बाद इस वायरस ने दूसरे देश के लोगों को भी अपने चपेट में ले लिया। एशिया महाद्वीप में चीन के अलावा जापान, थाइलैंड, हॉन्ग-कॉन्ग और साउथ कोरिया में भी इस वायरस का प्रकोप बहुत भयंकर है। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी एडवाइजरी जारी की है।

    12:15 (IST)28 Jan 2020
    राजधानी दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में किए जाएंगे भर्ती

    कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर लोग दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में जांच के लिए आ सकते हैं। इस अस्पताल को दिल्ली में कोरोनावायरस के लिए मेन फेसिलिटी के लिए चुना गया है। यहां से सभी सैंपल जांच के लिए नैशनल इंस्टिट्यूट ऑफ विरोलॉजी भेजा जा रहा है।

    Next Stories
    1 Remedies for Kidney Stones: किडनी स्टोन निकालने में असरदार है नींबू रस, जानिए तुलसी, जैतून जैसे अन्य घरेलु उपाय भी…
    2 Hot Water Benefits: पेट की समस्या और वजन कम करने के लिए कारगर है गर्म पानी, जानिए इसके अन्य फायदे
    3 अब बिहार में सामने आया Sars Virus का संदिग्ध मामला, जानिए- कितना खतरनाक है ये वायरस…
    यह पढ़ा क्या?
    X