क्या Uric Acid के मरीजों के लिए फायदेमंद है ड्राई फ्रूट्स का सेवन? जानिये

काजू में पोटेशियम, विटामिन सी और फाइबर जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जिससे यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है।

Dry Fruits, Health News, Uric Acid
हाई यूरिक एसिड को कम करने में ड्राई फ्रूट्स हो सकते हैं मददगार साबित

बॉडी में यूरिक एसिड की मात्रा जब बढ़ जाती है तो इसके कारण कई तरह की गंभीर बीमारियां जैसे अर्थराइटिस, गाउट और गठिया-बाय का खतरा भी अधिक हो जाता है। यूरिक एसिड एक तरह का केमिकल है, जो शरीर में प्यूरिन नामक प्रोटीन के टूटने से बनता है। बॉडी के सेल्स और खाद्य पदार्थों के जरिए प्यूरिन प्रोटीन का निर्माण होता है। हाई यूरिक एसिड के गंभीर मामलों में तो हार्ट अटैक, किडनी फेलियर और मल्टीपल ऑर्गन फेलियर जैसी जानलेवा स्थितियों का सामना भी करना पड़ सकता है। ऐसे में यूरिक एसिड को कंट्रोल में रखना बेहद ही जरूरी है।

यूरिक एसिड के मरीजों में जोड़ों में दर्द, सजन, लालिमा, गांठों में दर्द, उठने-बैठने में तकलीफ, हाथों और पैरों की उंगलियों में चुभन वाला दर्द और तनाव जैसे लक्षण नजर आ सकते हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो शरीर में यूरिक एसिड के स्तर को कम करने के लिए जीवन-शैली और खानपान में बदलाव करना बेहद ही जरूरी है।

क्या यूरिक एसिड के मरीज कर सकते हैं ड्राई फ्रूट्स का सेवन: स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार ड्राई फ्रूट्स जैसे बादाम, अखरोट और काजू सुपरफूड्स के सेवन करने से लोग कई तरह की बीमारियों से बच सकते हैं। यह बॉडी में रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करने के साथ ही ब्लड प्रेशर, कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और शुगर लेवल को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है। इसके साथ ही ड्राई फ्रूट्स यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित रखने में भी फायदेमंद है।

काजू: काजू में कई तरह के जरूरी पोषक तत्व जैसे पोटेशियम, विटामिन सी और फाइबर मौजूद होते हैं, जिससे यूरिक एसिड के स्तर को कम करने में मदद मिल सकती है। इसमें मौजूद गुण शरीर में इंफ्लेमेशन को दूर करने में मदद करते हैं। आप चाहें तो अपनी डाइट में रोस्टेड काजू को शामिल कर सकते हैं। इससे जोड़ों में दर्द और सूजन की परेशानी भी दूर होती है।

बादाम: बादाम में कैल्शियम, फाइबर, मैग्नीशियम, कॉपर, विटामिन के, प्रोटीन और जिंक जैसे पोषक तत्वों की अच्छी-खासी मात्रा पाई जाती है। बादाम का नियमित तौर पर सेवन करने से जोड़ों में दर्द और सूजन की समस्या से राहत मिल सकती है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।