ताज़ा खबर
 

डायबिटीज में खा सकते हैं अंगूर? जानें क्या हो सकते हैं फायदे-नुकसान

कई शोधों में कहा गया है कि नियमित तौर पर अंगूर का सेवन मेटाबॉलिक सिंड्रम को कम करने तथा मोटापा और टाइप 2 डायबिटीज के विकास को रोकने में मददगार हो सकता है।

डायबिटीज में अंगूर खाने को लेकर किए गए एक शोध में कहा गया है कि अंगूर को किसी भी रूप में खाने से डायबिटीज रोगी को किसी तरह का नुकसान नहीं होता।

डायबिटीज के रोगी फलों के सेवन को लेकर थोड़ा चिंतित रहते हैं। बहुत से रोगी ऐसा मानते हैं कि फलों में मौजूद शुगर कंटेंट की वजह से उनका ब्लड शुगर लेवल बढ़ जाता है। ऐसे में वह हर मीठे फल से दूरी बना लेते हैं। लेकिन ऐसा हर फल के साथ नहीं होता। ऐसे लोगों को फलों के सेवन को लेकर थोड़ी सावधानी बरतनी चाहिए। ऐसे फूड्स जिनका ग्लाइकेमिक इंडेक्स ज्यादा न हो, उनका सेवन किया जा सकता है। अंगूर एक ऐसा ही फल है। यह पॉलीफेनाल्स से भरपूर होता है। कई शोधों में कहा गया है कि नियमित तौर पर अंगूर का सेवन मेटाबॉलिक सिंड्रम को कम करने तथा मोटापा और टाइप 2 डायबिटीज के विकास को रोकने में मददगार हो सकता है।

डायबिटीज में अंगूर खाने को लेकर किए गए एक अन्य शोध में कहा गया है कि अंगूर को किसी भी रूप में खाने से डायबिटीज रोगी को किसी तरह का नुकसान नहीं होता। बल्कि ऐसे में यह बहुत फायदेमंद होता है। अंगूर में फाइटोन्यूट्रिएंट्स काफी मात्रा में पाए जाते हैं। यह ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में, इंसुलिन के रेगुलेशन में तथा इंसुलिन प्रतिरोध बढ़ाने में मददगार होते हैं। अंगूर की हर प्रजाति डायबिटीज में ऐसा ही असर करती है। अंगूर के बीज भी कम फायदेमंद नहीं होते। इनके सेवन से मेटाबॉलिक सिंड्रम, टाइप 2 डायबिटीज और मोटापा रोकने में मदद मिलती है।

इसके अलावा भी बहुत से ऐसे कारण होते हैं जिनकी वजह से अंगूर खाने पर विचार किया जा सकता है। चूंकि, अंगूर एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है ऐसे में यह ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस से को नियंत्रित करने में मददगार होता है। अंगूर में मौजूद फ्लेवोनॉइड्स में सबसे ज्यादा एंटी-ऑक्सीडेंट पाया जाता है। इसके अलावा विटामिन सी और मैंगनीज भी अंगूर में पाए जाने वाले महत्वपूर्ण पोषक तत्वों में शामिल हैं। अंगूर की स्किन और उसके बीजों में एंटी-ऑक्सीडेंट्स की मात्रा सबसे ज्यादा होती है। ऐसे में डायबिटीज के रोगी अगर संतुलित मात्रा में अंगूर का सेवन करते हैं तो इससे उन्हें काफी लाभ मिलने की संभावना रहती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App