ताज़ा खबर
 

क्या Diabetes के मरीज खा सकते हैं मशरूम, जानिये कैसे करता है ब्लड शुगर को प्रभावित

Home Remedies to control Diabetes: हेल्थ एक्सपर्ट्स डायबिटीज रोगियों को उन खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करने के लिए कहते हैं जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स बेहद कम हो

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार इन मरीजों के लिए मशरूम का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें स्टार्च की मात्रा न के बराबर ही होती है

Home Remedies to control Diabetes: WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2030 तक दुनिया में डायबिटीज 7वीं सबसे घातक बीमारी बन जाएगी। दवाइयों के साथ-साथ हेल्दी लाइफस्टाइल भी मधुमेह रोगियों के लिए बहुत जरूरी है ताकि उनके शरीर में ग्लूकोज का स्तर ठीक बना रहे।  डायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान की ओर विशेष ध्यान रखना पड़ता है, कुछ चीजों से तो बिल्कुल ही दूरी बनाने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि कई फूड आइटम्स ब्लड शुगर लेवल को प्रभावित करते हैं। ऐसे में मरीजों के बीच हमेशा ये उलझन रहती है कि क्या खाना उनके लिए फायदेमंद होगा और किन खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए। ऐसे में आइए जानते हैं कि क्या मशरूम को मधुमेह के मरीज अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं।

मशरूम में न के बराबर होता है स्टार्च: डायबिटीज के मरीजों को नॉन स्टार्च फूड खाने की सलाह दी जाती है, ऐसे में मशरूम उनके लिए हेल्दी व टेस्टी विकल्प हो सकता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार इन मरीजों के लिए मशरूम का सेवन फायदेमंद साबित हो सकता है क्योंकि इसमें स्टार्च की मात्रा न के बराबर ही होती है। वहीं, जर्नल ऑफ फंक्शनल फूड्स में प्रकाशित एक शोध के अनुसार सफेद मशरूम खाने से गट यानि कि आंत के माइक्रोबियल में सुधार करके प्रीबायोटिक के रूप में भी काम करता है।

ग्लाइसेमिक इंडेक्स होता है कम: हेल्थ एक्सपर्ट्स डायबिटीज रोगियों को उन खाद्य पदार्थों को अपनी डाइट में शामिल करने के लिए कहते हैं जिनका ग्लाइसेमिक इंडेक्स यानि कि GI बेहद कम हो। मशरूम का जीआई बहुत ही कम होता है। इसका मतलब है कि इसमें कार्बोहाइड्रट की मात्रा भी बहुत कम रहती है। ऐसे में मशरूम के सेवन से शरीर में ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। वहीं, इसमें मौजूद अन्य पोषक तत्व जैसे विटामिन ए आंखों की रोशनी को जल्दी प्रभावित नहीं होने देता।

वेट लॉस में मददगार: न्यूट्रिशन एक्सपर्ट्स के मुताबिक वेट लॉस की प्रक्रिया में मशरूम बेहद कारगर साबित हो सकता है। मधुमेह रोगियों को आमतौर पर वजन संतुलित रखने की सलाह दी जाती है। विशेषज्ञों के अनुसार ताजे मशरूम वजन को नियंत्रित करने में काफी मददगार हैं। बता दें कि मशरूम में वाटर कंटेंट अधिक होता है, साथ ही इसमें फैट भी लो होता है। ऐसे में ये खाद्य पदार्थ बॉडी वेट को मेंटेन करने में मददगार है।

Next Stories
1 Uric Acid: खाने से पहले डाइट में शामिल करें टमाटर और खीरा, यूरिक एसिड के मरीजों को मिलेगी राहत
2 Teethcare: दांतों को रखना है कीटाणुओं से दूर तो इन फूड आइटम्स को करें डाइट में शामिल
3 High Uric Acid के मरीज हैं तो डाइट में शामिल करें नींबू, हाथ-पैर के सूजन को कर सकता है कम
ये पढ़ा क्या?
X