ताज़ा खबर
 

भोजन के बाद ज्यादा हो जाता है ब्लड शुगर लेवल तो मददगार साबित हो सकता है ये एक उपाय, जानें

Diabetes Control: आमतौर पर खाना खाने के बाद लोग आलस्य से भर जाते हैं और सुस्ती में कहीं पर भी बैठ या लेट जाते हैं, हालांकि ये गलत आदत लोगों की सेहत बिगाड़ सकती है

शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने से कार्डियोवास्कुलर डिजीज, किडनी रोग, आंखों से संबंधी दिक्कतें भी हो सकती हैं

Blood Sugar Range: डायबिटीज एक क्रॉनिक बीमारी है जिससे दुनिया भर में अरबों लोग पीड़ित हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार ब्लडस्ट्रीम में ग्लूकोज की मात्रा अधिक होने से ब्लड शुगर लेवल में वृद्धि देखने को मिलती है। विशेषज्ञों का मानना है कि उच्च रक्त शर्करा डायबिटीज का कारण बनता है। शरीर में ब्लड शुगर का स्तर बढ़ने से कार्डियोवास्कुलर डिजीज, किडनी रोग, आंखों से संबंधी दिक्कतें भी हो सकती हैं। वहीं, ऐसा माना जाता है कि भोजन के बाद लोगों के रक्त शर्करा का स्तर ज्यादा हो जाता है।

आमतौर पर खाना खाने के बाद लोग आलस्य से भर जाते हैं और सुस्ती में कहीं पर भी बैठ या लेट जाते हैं, हालांकि ये गलत आदत लोगों की सेहत बिगाड़ सकती है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक डायबिटीज रोगियों के लिए जितना जरूरी खानपान में सावधानी बरतना है, उतना ही आवश्यक है अपनी गलत आदतों को सुधारना।

भोजन के बाद करें ये उपाय: हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि भोजन करने के बाद करीब 15 से 20 मिनट तक टहलने से शुगर लेवल कंट्रोल करने में मदद करता है। रक्त शर्करा का स्तर नियंत्रित करने के लिए रोजाना वॉक करना चाहिए। विशेषज्ञों का मानना है कि लंच के बाद टहलने से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा कम होता है।

शुगर कंट्रोल करता है ब्रिस्क वॉकिंग: स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि डायबिटीज के मरीजों के लिए ब्रिस्क वॉकिंग जैसे एरोबिक एक्सरसाइज फायदेमंद होंगे। इससे शुगर लेवल भी नियंत्रित रहता है। ये वेट लॉस में भी मदद करता है।

खाने के बाद कितना होना चाहिए शुगर लेवल: खाने के 2 घंटे बाद स्वस्थ लोगों का ब्लड शुगर तकरीबन 130 से 140 mg/dl के बीच में रहना चाहिए। इससे ज्यादा शुगर लेवल को डायबिटीज का लक्षण माना जा सकता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि अगर व्यक्ति के शरीर में ब्लड शुगर लेवल की मात्रा 200 से 400 mg/dl के बीच होती है, तो यह स्तर खतरनाक माना जाता है। बता दें कि खाने के बाद रक्त शर्करा की जांच को पोस्ट प्रैन्डियल ब्लड शुगर टेस्ट कहते हैं।

क्या हैं खाने के बाद टहलने के फायदे: खाने के बाद करीब आधे घंटे टहलने से पाचन संबंधी दिक्कतें होने लगती हैं। इस वजह से कब्ज, गैस और पेट फूलने जैसी दिक्कतें कम होती हैं। साथ ही, वॉक करने से मेटाबॉलिज्म मजबूत होती है जिससे शरीर को एनर्जी मिलती है।

Next Stories
1 दूषित भोजन से बढ़ता है टाइफाइड का खतरा, जानें क्या खाएं और क्या नहीं
2 ब्लड प्रेशर और हार्ट अटैक के खतरे को कम करने में मददगार हो सकता है 5 मिनट का ब्रीदिंग एक्सरसाइज, जानें
3 शरीर से Uric Acid कम करने में मददगार हैं ये पांच प्राकृतिक तरीके, आप भी जानें
ये पढ़ा क्या?
X