Blood Sugar से हैं परेशान तो काम के हैं ये टिप्स, बाबा रामदेव ने बताए डायबिटीज कंट्रोल करने के 5 उपाय

Blood Sugar: एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर शुगर को वक्त रहते कंट्रोल न किया जाए तो कई जानलेवा बीमारियों की वजह बन सकती है।

Blood Sugar Control Diet And Exercises
डायबिटीज के मरीजों के लिए जरूरी है एक्सरसाइज (Photo: Getty Images/Thinkstock)

डायबिटीज यानी शुगर (Blood Sugar) आम बीमारी हो गई है। हर उम्र के लोग इसकी चपेट में आ रहे हैं। अक्सर लोग डायबिटीज को जेनेटिक बीमारी से जोड़ देते हैं, यानी अगर आपके परिवार में किसी को डायबिटीज रहा है तो पीढ़ी दर पीढ़ी इसके होने की आशंका बढ़ जाती है। आजकल का खानपान, भागम-भाग भरी जीवन शैली को देखते हुए यह कहना गलत नहीं होगा कि ये बीमारी किसी को भी हो सकती है। पहले वयस्क ही डायबिटीज का शिकार हुआ करते थे, लेकिन आज हर पांच में से एक युवा डायबिटीज से ग्रस्त है।

दो प्रकार की होती है डायबिटीज: डायबिटीज दो प्रकार की होती है। टाइप-1 डायबिटीज जेनेटिक रूप से होती है। यानी अगर आपके घर में किसी भी एक व्यक्ति- मम्मी, पापा, दादा-दादी में से किसी को शुगर की समस्या रही है तो आपको भी डायबिटीज होने का अधिक खतरा रहता है। वहीं, टाइप-2 डायबिटीज लाइफस्टाइल पर निर्भर करती है। अगर किसी व्यक्ति की जीवन शैली ठीक नहीं है,खाने-पीने से लेकर सोने तक का कोई रूटीन नहीं है तो उसे टाइप-2 डायबिटीज का खतरा रहता है।

शुगर के चलते हो सकती हैं ये बीमारियां: एक्सपर्ट्स के मुताबिक अगर शुगर को वक्त रहते कंट्रोल न किया जाए तो ये बीमारी हार्ट, आंख, किडनी पर असर डाल सकती है और कई जानलेवा बीमारियों की वजह बन सकती है। वक्त रहते अपनी जीवन-शैली में बदलाव लाकर डायबिटीज से छुटकारा पाया जा सकता है। योग इसके लिए अच्छा उपचार है। चर्चित योग गुरु बाबा रामदेव के अनुसार योग और आयुर्वेद के जरिये आप डायबिटीज को प्रभावी तरीके से कंट्रोल कर सकते हैं। आइये आपको बताते हैं ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए कौन-कौन से योगासन फायदेमंद हैं…

मंडूकासन- बाबा रामदेव के अनुसार ये आसन पाचन तंत्र को ठीक करने में लाभदायक है। वजन और पेट की चर्बी को कम करने में भी असरदार है। लिवर, किडनी को स्वस्थ रखने में भी रामबाण से कम नहीं है।

शशकासन- इस योगासन से शुगर की समस्या पर काबू पाया जा सकता है। इस आसन से तनाव और डिप्रेशन पर भी कंट्रोल किया जा सकता है। मंडूकासन और शशकासन को कपालभाति के साथ करें तो अधिक लाभ होगा।

वक्रासन- शुगर को दूर करने में वक्रासन काफी प्रभावी है। यह कब्ज को दूर करने का रामबाण उपाय है। इस आसन को करते वक्त पेट में दबाव बढ़ता है, इसलिए इसे खाली पेट करना चाहिए।

गोमुखासन- गोमुखासन से फेफड़ों की कार्यक्षमता बढ़ती है। इससे डायबिटीज की समस्या भी दूर होती है। इसके अलावा इस आसन से रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है और शरीर लचीला बनाता है।

सेतुबंधासन- इस योगासन से जो नींद से संबंधित बीमारियां दूर होती हैं। रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में मदद करता है।

कैसे और कब करें– योग गुरु बाबा रामदेव के अनुसार इन सभी योगासनों को हर रोज सुबह 5-5 मिनट करना चाहिए। इससे शुगर पर प्रभावी तरीके से काबू पाया जा सकता है।

पढें हेल्थ समाचार (Healthhindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट